Cheating in Patna: पटना में बड़ी ठगी, पैसा डबल करने के नाम पर 48 लाख रुपए की ठगी, पीड़ित ऐसे आया झांसे में

Patna Police: पटना में शातिर लोगों से ठगी करने के लिए अलग-अलग तरीके अपना रहे हैं। अब शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड में पैसे लगाकर दोगुना करने के लिए बड़ी ठगी की गई है। पीड़ित ने एसके पुरी थाने में शिकायत भी दर्ज करवाई है। पुलिस तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

Big fraud in the name of doubling the money in Patna
पटना में पैसा दोगुना कराने के नाम पर बड़ी ठगी  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • प्रिंटिंग प्रेस संचालक सरोज कुमार सिंह से की गई है ठगी
  • पीड़ित ने तीन लोगों के खिलाफ दर्ज कराया है केस
  • सरोज ने कई किस्तों में दिए हैं 48 लाख रुपए

Patna News: शहर के एक प्रिंटिंग प्रेस संचालक से शातिरों ने 48 लाख रुपए की ठगी की है। शातिरों ने शेयर बाजार और म्यूचुअल फंड में निवेश कराकर दोगुना लाभ देने का झांसा देकर ठगी की है। पीड़ित ने अलग-अलग किस्तों में उपरोक्त रकम आरोपियों को दी है। ठगी के शिकार पश्चिमी बोरिंग कैनाल रोड निवासी सरोज कुमार सिंह ने एसकेपुरी थाने में तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज कराया है। इनमें रामानुज, उसकी पत्नी और बेटा शामिल हैं। 

जालसाजी का केस दर्ज करने के बाद पुलिस तीनों आरोपियों की तलाश कर रही है। सरोज का कहना है कि, रामानुज का बेटे और पत्नी ने उनके परिवार से पहले दोस्ती की। फिर शेयर मार्केट की अच्छी जानकारी होने की बात कहरकर रुपए दोगुने करने का झांसा दिया। ऐसे में उन्होंने आरोपियों को 48 लाख रुपए दे दिए। वापस मांगने पर आरोपियों ने इनकार कर दिया और हत्या करवाने की धमकी दे डाली। अब आरोपियों को मोबाइल भी स्वीच ऑफ बता रहा है। 

लोन एप के माध्यम से ट्रांसफर करवाए पैसे

जालसाजी के शिकार सरोज का कहना है कि रामानुज के परिवार वालों ने उनसे लोन एप के जरिए लाखों रुपए अपने खाते में ट्रांसफर करवाए हैं। उनका यह खेल 2020 से ही चल रहा था। कई बार भरोसा बनाए रखने के लिए उन लोगों ने कुछ रुपए भी सरोज को दिए थे। इतना ही नहीं बैंक और म्यूचुअल फंड में निवेश से संबंधित कुछ फर्जी पेपर भी सरोज को दिखा दिए थे। उन्होंने बैंक फिक्स्ड डिपॉजिट के कागजात भी दिए, जो फर्जी पाए गए। उनका दिया चेक भी बाउंस हो गया। फिर उन लोगों ने दो महीने में पूरी रकम लौटने का भरोसा दिलाया था। इसी बीच पूरा परिवार फरार हो गया। 

आरोपी का बेटा पढ़ता था पीड़ित की बेटी के साथ

सरोज ने पुलिस को बताया कि, आरोपी रामानुज का बेटा उनकी बेटी के साथ स्कूल में पढ़ता था। इस वजह से दोनों परिवारों में जान-पहचान हुई थी। साजिश के तहत उस परिवार ने उनके परिवार से नजदीकी बढ़ाई और फिर रकम लेकर फरार हो गए। सरोज ने यह भी बताया कि उन्होंने अपनी जमीन बेचकर रामानुज को कुछ पैसे दिए थे। अपनी दो बेटियों की शादी करने के लिए उन्होंने पैसा जमा कर रखे थे।

पढ़िए Patna के सभी अपडेट Times Now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर