Bihar Chunav 2020: बिहार में योगी आदित्‍यनाथ आज भरेंगे हुंकार, 6 दिन में करेंगे ताबड़तोड़ 18 रैलियां

Yogi Adityanath rallies in Bihar: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ बिहार में 6 दिन में 18 चुनावी रैलियां करनेवाले हैं।

Yogi Adityanath's rally in Bihar
योगी आदित्यनाथ बिहार में करेंगे 18 रैली। 

मुख्य बातें

  • बिहार चुनाव में 6 दिन में योगी आदित्यनाथ की 18 रैलियां
  • 21 अक्टूबर को सीएम योगी आदित्यनाथ चुनावी कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे
  • 20 अक्टूबर को योगी आदित्यनाथ बिहार के कैमूर जनसभा की शुरुआत करेंगे

नई दिल्ली: बिहार चुनाव का रोमांच अपने चरम पर है। सभी पार्टियां वोटर्स को लुभाने और उन तक पहुंचने के ल‍िए रैलियां कर रही हैं। भाजपा के भी नेता लगातार रैलियां कर वोटर्स को अपने पक्ष में करने की पुरजोर कोशिश में जुटे हैं। अब यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी बिहार चुनाव में उतर रहे हैं। वे पहले चरण में मतदान के लिए छह दिन में 18 रैलियां करेंगे। योगी आदित्‍यनाथ कैमूर से रैलियों की शुरुआत करेंगे।

20 अक्टूबर को योगी आदित्यनाथ बिहार के कैमूर जनसभा की शुरुआत करेंगे। 11 बजे से पहली जनसभा रामगढ़ विधानसभा में करेंगे। इसके बाद 12 बजे कैमूर के अरवल के लिए रवाना होंगे। 1 बजे अरवल विधानसभा में जनसभा करेंगे। इसके बाद दोपहर 2 बजे सीएम योगी की जनसभा रोहता में होगी। इसके बाद शाम 4 बजे पटना एयरपोर्ट से लखनऊ रवाना होंगे।

21 अक्टूबर को 3 जनसभाएं 

21 अक्टूबर को सीएम योगी आदित्यनाथ चुनावी कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। 21 अक्टूबर को योगी 3 जनसभाएं करेंगे। पहली जनसभा सुबह 11 बजे जमुई विधनसभा में होगी। जमुई से इंटरनेशनल शूटर गोल्ड मेडलिस्ट श्रेयसी सिंह बीजेपी उम्मीदवार हैं।

जमुई से मुख्यमंत्री भोजपुर रवाना होंगे। दोपहर 1 बजे भोजपुर के तरारी विधानसभा में जनसभा होगी। तीसरी जनसभा राजधानी पटना के पालीगंज विधानसभा में दोपहर 2.30 बजे होगी। इसके बाद शाम साढ़े 4 बजे मुख्यमंत्री पटना से लखनऊ रवाना होंगे। योगी आदित्यनाथ  बिहार चुनाव में बीजेपी के स्‍टार प्रचारकों में शामिल पार्टी के एकमात्र मुख्‍यमंत्री हैं।

वोटर्स में जान फूंकने को योगी पर टिकी निगाहें

कोरोना काल में लाखों प्रवासी मजदूरों को सकुशल उनके घर पहुंचाने वाले मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ बिहार के मजदूरों और गरीबों में खास लोकप्रिय हैं। सीएम योगी ने जिन प्रवासियों को घर पहुंचाया उनमें यूपी की सीमा से सटे बिहार के जिलों के मजदूर भी काफी संख्‍या में थे। बिहार के सिवान, छपरा, गोपालगंज, पश्चिमी चंपारण जैसे जिले गोरखपुर की सीमा से सटे हैं। इन जिलों के छात्र गोरखपुर में शिक्षा ग्रहण करते हैं और उन पर योगी का काफी प्रभाव है। अपनी प्रखर हिंदुत्ववादी छवि की वजह से पसंद किया जाता है और बीजेपी बिहार में वोट बैंक को भुनाना चाहती है।
 

Bihar Vidhan Sabha Chunav के सभी अपडेट Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर