Bihar Chunav:जीतन राम मांझी ने मांगा 'कप-प्लेट' मिली 'कड़ाही', कहा कहाड़ी से बनाएंगे जनाधार

पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेकुलर) को अब 'कड़ाही' चुनाव चिन्ह दिया गया है पहले उनकी पार्टी का चुनाव चिन्ह  टेलिफोन था।

JEETAN RAM MAJHI PARTY SYMBOL KARAHI
मांझी ने कहा कि कड़ाही चुनाव चिन्ह मेरे पुराने चुनाव चिन्ह टेलीफोन से बेहतर है 

बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election 2020) को लेकर सरगर्मियां बढ़ती ही जा रही हैं चुनाव आयोग इस बारे में आवश्यक कार्रवाई में जुटा है, वहीं राजनीतिक दल भी अपनी कमर कसकर चुनावी दंगल में उतरने को तैयार बैठे हैं। इसी क्रम में चुनाव चिहनों का आवंटन राज्य में हो चुका है। बिहार राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेकुलर) (HAM)को चुनाव चिह्न कड़ाही (Pan) मिला है, हालांकि बताते हैं कि मांझी चुनाव चिह्न कप प्लेट चाहते थे लेकिन वो इस नए सिंबल के साथ भी खुश हैं और कह रहे हैं कि उनकी पार्टी पुरजोर तरीके से बिहार के चुनावी समर में उतरेगी और सफलता हासिल करेगी।

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने 12 निबंधित गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को नया चुनाव चिन्ह आवंटित किया था पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेकुलर) को अब कड़ाही जबकि पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी  कैंची चिन्ह दिया गया है, मांझी की पार्टी का पहले चुनाव चिन्ह 'टेलिफोन' था। 

मांझी ने चुनाव आयोग से "कप-प्लेट" सिंबल की दरख्वास्त की थी

बताते हैं कि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने चुनाव आयोग से कप-प्लेट सिंबल की दरख्वास्त की थी लेकिन उन्हें कड़ाही सिंबल मिला, जीतनराम मांझी  का कहना है कि पार्टी अपने इस नये सिंबल को लेकर कार्यकर्ताओं को घर-घर भेज रही है और खासी तादाद में पंफलेट छपवाये गये हैं और इन्हें जनता के बीच बांटा जा रहा है। मांझी ने कहा कि कड़ाही चुनाव चिन्ह मेरे पुराने चुनाव चिन्ह टेलीफोन से बेहतर है क्योंकि कड़ाही हर घर में है और घर का खाना इसी में बनता है इसलिए इस चिह्न के सहारे में अपने मततादाओं (Voters) से बेहतर तरीके से संवाद कर पाउंगा।

नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया एक अक्टूबर से शुरू होगी

वहीं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बिहार में राजग एकजुट है और गठबंधन के सभी घटक दल साथ मिलकर आसन्न विधानसभा चुनाव लडे़ंगे। रविशंकर ने विश्वास व्यक्त किया कि केंद्र और राज्य दोनों सरकारों द्वारा किए गए विकास कार्यों के कारण, राज्य के लोग विधानसभा चुनावों में निर्णायक जनादेश के साथ राजग को आशीर्वाद देंगे।

चुनाव आयोग ने शुक्रवार को बिहार चुनाव के लिए एक कार्यक्रम की घोषणा की जो तीन चरणों में किया जाएगा। नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया एक अक्टूबर से शुरू होगी, जबकि मतदान 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को होगा। मतों की गिनती 10 नवंबर को होगी।

Patna News in Hindi (पटना समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) से अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर