'देश में अभी दो ही राज्यपाल हैं, एक महाराष्ट्र में और दूसरे बंगाल में', संजय राउत का तंज

महाराष्ट्र में मंदिरों को दोबारा खोले जाने के लिए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा लिखे गए पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए राउत ने कहा, 'राज्यपाल अभ केंद्र सरकार एवं राष्ट्रपति का राजनीतिक एजेंट हो गया है।

There are only 2 Governors in India Maharashtra and West Bengal: Sanjay Raut
महाराष्ट्र और प. बंगाल के राज्यपालों पर संजय राउत का तंज।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • महाराष्ट्र और बंगाल के राज्यपालों पर शिवसेना नेता संजय राउत का तंज
  • संजय राउत ने कहा कि देश में इस समय केवल दो राज्यों में राज्यपाल हैं
  • महाराष्ट्र में मंदिरों को खोले जाने को लेकर कोश्यारी ने उद्धव को पत्र लिखा है

मुंबई : शिवसेना नेता संजय राउत ने महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल के राज्यपालों पर तंज कसा है। राउत ने शुक्रवार को कहा कि देश में अभी दो ही प्रदेशों में राज्यपाल हैं, एक महाराष्ट्र में हैं और दूसरे पश्चिम बंगाल में। महाराष्ट्र में मंदिरों को दोबारा खोले जाने के लिए राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा लिखे गए पत्र पर प्रतिक्रिया देते हुए राउत ने कहा, 'राज्यपाल का पद अब केंद्र सरकार एवं राष्ट्रपति का राजनीतिक एजेंट हो गया है। राजनीतिक एजेंट इसलिए क्योंकि वे राजनीतिक काम करने लगे हैं। पूरे देश में इस समय केवल दो ही राज्यपाल हैं। एक महाराष्ट्र में हैं और दूसरे पश्चिम बंगाल में। मैं बाकियों के बारे में नहीं जानता क्योंकि इन दोनों राज्यों में सरकारें इनके लिए विपक्षी दल हैं।'   

सोशल मीडिया में मुखर हैं राज्यपाल धनखड़
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल धनखड़ राज्य के मुद्दों को लेकर सोशल मीडिया पर काफी मुखर रहे हैं। उन्होंने कई मौकों पर ममता सरकार की आलोचना की है। हाल ही में भाजपा की रैली में एक सिख युवक के साथ बदसलूकी मामले में धनखड़ ने ममता सरकार पर हमला बोला। महाराष्ट्र में राज्यपाल कोश्यारी के साथ विवाद बढ़ने पर शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में लिखा, 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह यदि राजभवन की प्रतिष्ठा बचाने की इच्छा रखते हैं तो उन्हें कोश्यारी को वापस बुला लेना चाहिए।' 

राज्यपाल कोश्यारी ने उद्धव को लिखा है पत्र
शिवसेना नेता ने कहा, 'केंद्र को यदि लगता है कि महाराष्ट्र में कुछ गलत हुआ है तो यह उनकी समस्या है। महाराष्ट्र में यदि भाजपा की सरकार होती एवं केंद्र में कोई और होता, फिर राज्यपाल यदि इस तरह का काम करते तो भाजपा ही राज्यपाल को वापस बुलाने की मांग कर रही होती।' दरअसल, महाराष्ट्र में मंदिरों को नहीं खोले जाने पर राज्यपाल कोश्यारी ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को पत्र लिखा है, और उनसे पूछा है कि क्या वे 'अचानक से धर्मनिरपेक्ष हो गए।' इस पर उद्धव ने कहा कि उन्हें राज्यपाल से अपने बारे में कोई सर्टिफिकेट नहीं लेना है।

Mumbai News in Hindi (मुंबई समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर