87 सालों में लालबागचा में पहली बार नहीं पधारेंगे गणपति, पर कोरोना वारियर्स के लिए लाए ये सौगात

87 सालों के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि लालबागचा के राजा गणपति नहीं पधार रहे हैं। लालबागचा गणेशोत्सव मंडल ने शहर के 9 पुलिसकर्मियों के परिजनों को 1-1 लाख की राशि मदद स्वरुप दी है।

lalbaughcha
लालबागचा  |  तस्वीर साभार: Twitter

मुंबई : गणेश चतुर्थी आज है और इसी के साथ ही गणेश पूजा की धूमधाम पूरे देश में शुरू हो गई है। हर साल की तरह मुंबई के लालबागचा राजा भले ही इस बार कोरोना महामारी के चलते लोगों के बीच नहीं पधार रहे हैं लेकिन वे कोरोना वारियर्स के लिए खुशियां लेकर आए हैं। 

लालबागचा राजा गणेशोत्सव मंडल ने शनिवार को कोरोना महामारी में अपनी जान गंवा चुके शहर के 9 पुलिसकर्मियों के परिवारों को 1-1 लाख रुपए भेंट किए। इसी के साथ ही मंडप साइट पर 10 दिनों का ब्लड डोनेशन कैंप शुरू किया गया है।

मंडल अध्यक्ष बालासाहेब कांबले ने कहा कि इसी प्रकार हमने 13 अगस्त को सात पुलिसकर्मियों के विधवाओं और बच्चों को भी ऐसी मदद की थी। इस महीने हमने 31 अगस्त तक हमने ऐसा ही कुछ करने की योजना बनाई है।
 

मुंबई व महाराष्ट्र के अन्य पुलिसकर्मियों जिन्होंने कोरोना से अपनी जान गंवाई है उनके परिवारों को 1-1 लाख रुपए की मदद देने की योजना है।
87 सालों के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है कि लालबागचा में गणेश जी की मूर्ति नहीं स्थापित नहीं हो रही है।

इसके बदले मंडल ने आरोग्य उत्सव हेल्थ कैंप का आयोजन किया है जिसके तहत कोरोना के पीड़ितों की मदद की जा रही है। उन्होंने कहा कि ब्लड डोनेशन कैंप में अब तक 100 लोगों ने ब्लड डोनेट किया है और 250 लोगों ने अब चतक रजिस्ट्रेशन किया है। इस बार हमने गणेश भगवान की एक भी मूर्ति स्थापित करने की योजना नहीं बनाई है। 

Mumbai News in Hindi (मुंबई समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर