Mumbai: पनवेल रेलवे स्टेशन के बाहर महिला की हत्या के आरोप में पति सहित 3 गिरफ्तार, गर्लफ्रेंड के साथ बनाई की प्लानिंग

Mumbai Crime News: पिछले हफ्ते पनवेल रेलवे स्टेशन के बाहर एक महिला डिजिटल मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव का गला रेतकर हत्या कर दी थी। अब इस मामले में पुलिस ने खुलासा किया है कि महिला की हत्या में उसका पति, उसकी गर्लफ्रेंड और गर्लफ्रेंड का एक कर्मचारी शामिल है।

Mumbai Crime News
पत्नी की हत्या के आरोप में पति, उसकी गर्लफ्रेंड और एक शख्स गिरफ्तार  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • एक महिला डिजिटल मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव का गला रेतकर हत्या की
  • महिला की हत्या में उसका पति, गर्लफ्रेंड और गर्लफ्रेंड का एक कर्मचारी शामिल
  • महिला को हत्या करने के लिए 3 लाख रुपये दिए गए थे

Mumbai Crime News: नवी मुंबई पुलिस ने 29 साल की महिला के हत्या के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मृतक महिला डिजिटल मार्केटिंग एग्जीक्यूटिव थी, जिसकी पिछले हफ्ते पनवेल रेलवे स्टेशन के बाहर गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। अब इस मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में मृतक महिला का पति, उसकी गर्लफ्रेंड और गर्लफ्रेंड का एक कर्मचारी शामिल है। हत्या की साजिश छह लोगों ने रची थी।

गिरफ्तार किए गए तीन लोगों के अलावा अन्य तीन एक गिरोह के सदस्य हैं, जिन्हें महिला की हत्या करने के लिए 3 लाख रुपये दिए गए थे। मृतक का नाम प्रियंका रावत था। प्रियंका के पति देवव्रत सिंह रावत (32) का इस साल की शुरुआत से निकिता मटकर (24) के साथ अफेयर था। देवव्रत और निकिता ने अगस्त में एक मंदिर में शादी कर ली। जिसका पता प्रियंका को चल गया था। निकिता मानखुर्द में प्रवीण घाडगे (45) द्वारा चलाए जा रहे एक निजी ट्यूटोरियल में टीचर है। 

हत्या करवाने के लिए दिए 3 लाख रुपये

निकिता, प्रियंका की हत्या करवाना चाहती थी ताकि वह रावत के साथ रह सके। निकिता और रावत ने प्रियंका को मारने के लिए घाडगे से संपर्क किया। इसके बाद घाडगे ने उन्हें बुलढाणा के एक गिरोह से मिलवाया। गिरोह में शामिल तीन लोगों ने रावत के निर्देश पर 3 लाख रुपये में प्रियंका की हत्या की साजिश रची। 2 लाख रुपये का भुगतान पहले की कर दिया गया था। घटना का खुलासा तब हुआ जब पुलिस ने मृतक के पति के कॉल रिकॉर्ड डिटेल की जांच की। रावत और निकिता की तस्वीरें भी उसके फोन में मिलीं। इसी आधार पर पुलिस ने दोनों से पूछताछ शुरू की।

चार साल पहले हुई थी प्रियंका-रावत की शादी

इसके बाद निकिता टूट गई और उसने घटना का पूरा खुलासा किया। हत्या 15 सितंबर की रात करीब 10 बजे पनवेल रेलवे स्टेशन के बाहर हुई। पनवेल रेलवे पुलिस बल ने घटना के सीसीटीवी फुटेज पनवेल पुलिस को उपलब्ध कराए थे। हालांकि आरोपियों का चेहरा साफ नजर नहीं आ रहा था, लेकिन काफी मुश्किलों के बाद पुलिस पहचानने में कामयाब हो गई। पुलिस ने बताया है कि प्रियंका और रावत की शादी को चार साल हो चुके थे। रावत एक ई-कॉमर्स कंपनी में सेल्स मैनेजर के तौर पर काम कर रहा था। वहीं बुलढाणा के गिरोह से गिरफ्तार हुए आरोपियों की पहचान रोहित सोनोन (22), दीपक दिनकर लोखंडे (25) और पंकज नरेंद्र कुमार यादव (26) के रूप में हुई है।

Mumbai News in Hindi (मुंबई समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर