Mumbai Crime: मुंबई में फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 6 आरोपी गिरफ्तार, विदेशी नागरिकों को ऐसे बनाते थे शिकार

Mumbai Police: मुंबई में पुलिस ने एक फर्जी कॉल सेंटर चलाने वालों को पकड़ा है। आरोपी करीब सौ से अधिक ठगी की वारदात को अंजाम दे चुके हैं। पुलिस ने छह लोगों को पकड़ा है, दो अभी भी फरार बताए जा रहे हैं। पुलिस पकड़े गए आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।

 mumbai crime news
मुंबई में सौ से अधिक ठगी करने वाले फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 6 पकड़े गए (प्रतीकात्मक तस्वीर)  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • मामले में पुलिस को दो आरोपियों की अभी भी तलाश
  • मौके से लैपटॉप और लाखों रुपए बरामद
  • मुंबई में बैठकर अमेरिका के लोगों से करते थे ठगी

Mumbai News: मुंबई पुलिस ने गोरेगांव में एक फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि इस मामले में अभी भी पुलिस दो आरोपियों की तलाश कर रही है। बता दें कि दिंडोशी पुलिस और वनराई पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाते हुए इस फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश किया है। बता दें कि, पुलिस ने मौके से कई इलेक्ट्रॉनिक गैजेट भी जब्त किए हैं। दो लैपटॉप, दो हार्ड डिस्क, 10 मोबाइल फोन और सिम कार्ड के अलावा 3 लाख रुपये नकद पुलिस ने बरामद किए हैं। पुलिस ने बताया है कि, कॉल सेंटर चला रहे आरोपी के पास ना प्रमाण पत्र था और ना ही कॉल सेंटर चलाने का किसी भी तरह का लाइसेंस। पुलिस केस दर्ज कर बाकी आरोपियों की तलाश में लग गई है।

बता दें कि पिछले दिनों इसी तरह के एक फर्जी कॉल सेंटर का दिल्ली पुलिस ने भंडाफोड़ किया था। बता दें कि मुंबई पुलिस के हाथों कई अहम सुराग लगे हैं। पुलिस का कहना है कि आरोपी अमेरिका के नागरिकों को ठगी का शिकार बनाते थे।

पुलिस को मिले कई अहम सुराग

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस ने बताया है कि, आरोपी मुंबई में बैठकर अमेरिका के लोगों को अपना शिकार बनाते थे। आरोपी उनसे मोटी रकम वसूलते थे। फर्जी कॉल सेंटर में से 20 से ज्यादा कंप्यूटरों की जांच पुलिस ने की है। जिसमें पुलिस को अमेरिकी नागरिकों से कॉन्टेक्ट करने वाली एक फाइल मिली है। इसके अलावा इंटरनेट पर अंतरराष्ट्रीय कॉल करने के लिए प्रयोग किए जाना वाला सॉफ्टवेयर भी प्राप्त हुआ है। जांच में पुलिस को यह भी पता चला कि अमेरिकी नागरिकों के साथ बातचीत के ऑडियो और वीडियो क्लिप और कुछ डेटा भी था जिसे आरोपियों ने हटा दिया था।

ऐसे करते थे ठगी

जानकारी के लिए बता दें कि इतना ही नहीं आरोपियों अमेरिकी नागरिकों की जानकारी एकत्र करके अपने पास रखा करते थे। उन्हें फोन करके आरोपी कहते थे कि उनके कंप्यूटर मैलवेयर से संक्रमित हो गए हैं। इस पर पीड़ित उनसे संक्रमण ठीक करने के लिए कहा करते थे। इस तरह इन लोगों ने कम से कम 100 से अधिक अमेरिकी नागरिकों के साथ धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम दिया है।

Mumbai News in Hindi (मुंबई समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर