Coronavirus: डरा रहे हैं महाराष्ट्र के आंकड़े, 31 हजार से ज्यादा केस, 102 की मौत

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते केस डरा रहे हैं। सीएम उद्धव ठाकरे का कहना है कि यदि लोगों ने कोविड से संबंधित नियमों का पालन करने में चूके तो लॉकडाउन की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है।

Coronavirus: डरा रहे हैं महाराष्ट्र के आंकड़े, 31 हजार से ज्यादा केस, 102 की मौत
महाराष्ट्र में कोरोना केस में तेजी से इजाफा हो रहा है।  

मुख्य बातें

  • महाराष्ट्र में कोरोना के केस में हर रोज हो रहा है इजाफा
  • 31 हजार से ज्यादा केस, 102 की मौत
  • सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि लॉकडाउन की संभावना से इनकार नहीं

मुंबई  महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 31,643 नए मामले सामने आए, जिसके साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 27,45,518 हो गई। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी।महाराष्ट्र में रविवार को संक्रमण के 40,414 नये मामले सामने आए थे।

कोरोना की रफ्तार बेलगाम
राज्य में सोमवार को कोविड-19 के 102 मरीजों की मौत होने के साथ ही अब तक इस घातक वायरस के चलते 54,283 मरीज अपनी जान गंवा चुके हैं।इसके मुताबिक, महाराष्ट्र में 20,854 मरीजों को संक्रमणमुक्त होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दी गई। राज्य में फिलहाल 3,36,584 मरीज उपचाराधीन हैं।मुंबई में सोमवार को संक्रमण के 5,890 नए मामले सामने आए जबकि 12 मरीजों की मौत हुई।

लॉकडाउन अब नहीं झेल सकते
महाराष्ट्र के मंत्री और राकांपा नेता नवाब मलिक ने कहा कि राज्य एक और तालाबंदी नहीं कर सकते और सीएम ठाकरे से अन्य विकल्पों पर विचार करने की अपील की।हम लॉकडाउन नहीं कर सकते। हमने सीएम से अन्य विकल्पों पर विचार करने के लिए कहा है। बढ़ते मामलों के कारण, उन्होंने प्रशासन को लॉकडाउन के लिए तैयार करने का निर्देश दिया है लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि लॉकडाउन अपरिहार्य है। यदि लोग पालन करते हैं। नियम, यह टाला जा सकता है, "मलिक को समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा उद्धृत किया गया था।

अलग अलग दल, एक विचार
इस बीच, राज्य के भाजपा अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने आपत्ति जताते हुए कहा कि लॉकडाउन कोरोनोवायरस के मामलों में वृद्धि का समाधान नहीं है।लॉकडाउन राज्य में बढ़ते COVID-19 मामलों का जवाब नहीं है। यदि लॉकडाउन लगाया जाता है, तो आप (राज्य सरकार) किसी भी पैकेज (प्रभावित लोगों को राहत के लिए) नहीं देंगे। पिछले एक साल में लोग कैसे रहते थे।

Mumbai News in Hindi (मुंबई समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर