फिर से शादी करना चाहता था 70 साल का आदमी, 28 लाख का चूना लगा गई महिला, हुआ बीमार

मुंबई में रहने वाला एक 70 साल का बुजुर्ग पत्नी की मौत के बाद दूसरी शादी करना चाहता था। इस संबंध में उसकी एक महिला से बातचीत भी हो गई। लेकिन उस महिला ने शख्स से 28 लाख रुपए ठग लिए।

marriage
मामला अगस्त 2019 का है 

मुख्य बातें

  • फरवरी 2018 में बुजुर्ग की पत्नी की मौत हो गई थी
  • एक तलाकशुदा महिला से शादी से बातचीत चली और तारीख तय हो गई
  • बुजुर्ग के घर आई महिला अपने परिवार के साथ सब लूट ले गई

नई दिल्ली: मुंबई के 70 साल के एक शख्स को फिर से शादी करने का विचार भारी पड़ गया। दरअसल, बुजुर्ग की भावी दुल्हन उन्हें 28 लाख रुपए का चूना लगा गई। मुंबई के बोरीवली में रहने वाले पीड़ित बुजुर्ग के साथ ये धोखाधड़ी अगस्त 2019 में हुई। हालांकि, यह घटना अब सामने आई है। पीड़ित को दिल का दौरा पड़ने के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया है। धोखा खाने के बाद वह तनाव में थे।

पुलिस ने बताया कि शिकायतकर्ता की पत्नी का फरवरी 2018 में निधन हो गया था। एक दोस्त की सलाह पर उन्होंने फिर से शादी करने का फैसला किया। दोस्त ने उन्हें एक तलाकशुदा महिला के भी बारे में बताया जिसकी एक 21 साल की बेटी थी। इसके बाद दोनों ने बातचीत की। आरोपी महिला ने उन्हें बताया कि वह अपने माता-पिता, भाई और बेटी के साथ शादी की तारीफ तय करने के लिए मुंबई आएगी।

जब आरोपी महिला और उसका परिवार मुंबई आया, तो वे शिकायतकर्ता के घर पर रुके। महिला के इरादों से अनभिज्ञ पीड़ित बुजुर्ग ने उसे घर की चाबियों का एक सेट सौंप दिया। महिला ने जयपुर में रजिस्ट्री विवाह का प्रस्ताव रखा। 8 अगस्त, 2019 को वो महिला और उसके परिवार के साथ जयपुर गए। उन्होंने एफिडेविट और अन्य दस्तावेज जमा किए लेकिन शादी की तारीख 30 दिन बाद दी गई। पीड़ित ने मुंबई लौटने का फैसला किया क्योंकि वह एक महीने तक वहां नहीं रहना चाहते थे। 

घर वापस आने के बाद उन्होंने देखा कि उनकी संपत्ति के दस्तावेज गायब थे। बाद में जब उन्होंने उस कमरे में अलमारी की जांच की, जहां महिला का परिवार रुका था, तो उन्होंने पाया कि सोने के गहने और अन्य मूल्यवान सामान गायब थे। उन्होंने महिला से संपर्क करने की कोशिश की, जो नहीं हो पाया। 

वह मुंबई के एमएचबी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराने के बाद महिला की तलाश में जयपुर गए। बाद में उन्होंने शादी के लिए किए गए आवेदन को वापस ले लिया। इस पूरे घटनाक्रम से वो गहरे अवसाद में चले गए। उन्होंने पुलिस को बताया, 'मैं तनाव में था, दिल का दौरा पड़ा। मेरे मित्र ने मुझे अस्पताल पहुंचाया। जयपुर के अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद वह मुंबई वापस आ गए।

बुजुर्ग की तबीयत खराब हो गई और उन्हें फिर से अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने 9 जुलाई को उनका बयान दर्ज करने के बाद आईपीसी की धारा 420 के तहत धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

अगली खबर