Kanpur: कानपुर के सेंट्रल स्टेशन से 3 बच्चों का अपहरण, मामला दर्ज करवाने के लिए भटकती रही हो मां, मिले अहम सुराग

Kidnapping Case: कानपुर के सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर 14-15 सितंबर को ट्रेन पकड़ने के लिए आई महिला के तीन बच्चों का अपहरण होने से सनसनी फैल गई। महिला के 20 दिनों के दो जुड़वा दुधमुंहे बेटे और दो साल के एक बेटे को बच्चा चोर गिरोह उठा ले गया।

Kanpur Kidnapping Case
कानपुर जिले के सेट्रल स्टेशन से एक महिला के तीन बच्चों का अपहरण  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • कानपुर सेंट्रल स्टेशन से तीन बच्चों के अपहरण से हड़कंप
  • जीआरपी ने चार दिन बाद दर्ज की रिपोर्ट
  • टिकट खरीदने गई थी महिला, तीन महिलाओं और पुरुष को थमा गई थी बच्चे

Kanpur Kidnapping Case: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के सेंट्रल स्टेशन से एक महिला के तीन बच्चों के अपहरण का मामला सामने आने पर हड़कंप मच गया। आरोप है कि, पीड़ित मां ने जीआरपी में शिकायत की, लेकिन चार दिन बाद जीआरपी ने मामला दर्ज किया। जीआरपी ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपियों की पहचान की है लेकिन अब तक कोई सुराग नहीं लगा है। मैनपुरी-इटावा सीमा के एक गांव निवासी पूजा देवी ने जीआरपी को बताया कि, पति प्रमोद मुंबई में ट्रक चलाते हैं। बीते दिनों वह ट्रेन से अपने दो वर्षीय बेटे और साढ़े तीन साल की बेटी के साथ मायके वाराणसी जा रही थी। इस दौरान कानपुर में उसे प्रसव पीड़ा हुई। इस पर वह एक अस्पताल में भर्ती हो गईं। यहां एक सितंबर को जुड़वा बेटों को जन्म दिया।

स्वस्थ्य होने के बाद महिला 14-15 सितंबर को ट्रेन पकड़ने के लिए सेंट्रल स्टेशन पर पहुंची। इस दौरान महिला के पास काफी सामान भी था। महिला ट्रेन का पता कर रही थीं, इस दौरान उनके साथ तीन महिलाएं और एक युवक भी बैठा था, महिला ने उनसे भी ट्रेन को लेकर बातचीत की। 

तीन बेटों को छोड़कर टिकट खरीदने गई थी महिला

बातचीत में युवक ने अपना नाम राजू जबकि युवती ने लक्ष्मी बताया था। पूजा ने विश्वास कर टिकट खरीदकर वापस लौटने तक अपने तीनों बेटों को देखने की बात कही। वह टिकट खरीदने के लिए बेटी को लेकर गई। वापस आई तो वहां पर न तो उसके बच्चे थे और न ही सामान था। पीड़िता ने हर जगह तलाश की, लेकिन कहीं भी कुछ पता नहीं चला। महिला ने बच्चों के अपहरण की शिकायत जीआरपी से की थी, आरोप है कि चार दिन तक महिला चक्कर काटती रही। घटना के पांचवें दिन 19 सितंबर को सोमवार को जीआरपी ने अपहरण के मामले में रिपोर्ट दर्ज की। जीआरपी प्रभारी आरके द्विवेदी ने बताया कि, रिपोर्ट दर्ज की गई है। सीसीटीवी फुटेज से गिरोह के लोगों की पहचान की कोशिश की जा रही है।

महिला और जीआरपी की कहानी में अंतर

वहीं, जीआरपी का कहना है कि, महिला के जुड़वा बेटे सैफई मेडिकल कॉलेज में हुए, जबकि महिला कह रही है कि कानपुर के एक बड़े अस्पताल में उसने बच्चों को जन्म दिया था। जीआरपी ने पीड़िता का नाम रीता बताया है, जबकि पीड़िता ने अपना नाम पूजा देवी बताया और पति का नाम प्रमोद कुमार बताया है। जीआरपी के अनुसार घटनास्थल सिटी साइड की तरफ है। जबकि महिला कैंट साइड के आसपास घटनास्थल बता रही है।

Kanpur News in Hindi (कानपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharatपर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर