Murder: हमीरपुर में अपहरण के बाद बुजुर्ग की निर्मम हत्या से सनसनी, लाठियों से पीटने के बाद वाहन में बांधकर घसीटा

Murder After Kidnapping: हमीरपुर जिले से बुजुर्ग की अपहरण के बाद हत्या करने का मामला सामने आया है। बुजुर्ग के छोटे बेटे ने परिवार के लोगों पर हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है

Hamirpur Murder After Kidnapping
जानकारी देते अपर पुलिस अधीक्षक  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • हमीरपुर में बुजुर्ग की अपहरण के बाद बर्बरता से हत्या
  • बुजुर्ग की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या
  • वाहन में बांधकर घसीटने के निशान भी मिले

Hamirpur Murder: उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले से सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां बुजुर्ग की बर्बरता के साथ हत्या की गई। आरोपियों ने हत्या के बाद बुजुर्ग के शव को किसी वाहन से घसीटा भी। घटनास्थल पर रूह कांपने वाला दृश्य देखने को मिला है। जानकारी के अनुसार हमीरपुर जनपद में घर पर सो रहे बुजुर्ग का कार सवारों ने देर रात अपहरण कर लिया।

अपहरणकर्ताओं ने बुजुर्ग की घर से दूर ले जाकर लाठियों से पीट-पीटकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को नहर पटरी पर फेंक दिया। बुजुर्ग के छोटे बेटे ने अपने परिजनों पर जमीन बंटवारे के विवाद में हत्या करने का आरोप लगाया है। बता दें कि चिकासी थाने के बरौली गांव के रहने वाले जीवन लाल ने बताया कि रविवार रात को उनके पिता गया प्रसाद (60) घर के बरामदे में सो रहे थे।

पांच लोगों ने बुजुर्ग को अगवा किया

रात में करीब डेढ़ बजे एक कार घर के बाहर आकर रूकी। कार सवार पांच लोग बुजुर्ग को अगवा कर ले जाने लगे। बुजुर्ग ने शोर मचा दिया। पिता की चीखें सुनकर जीवन लाल की नींद खुली। जीवनाल ने विरोध किया तो आरोपियों ने उस पर तमंचा तान दिया। साथ ही गया प्रसाद को कार में डालकर फरार हो गए। आनन- फानन में जीवन लाल थाने पहुंचा और पुलिस को घटना की जानकारी दी। उसने बताया कि थाने में सिर्फ दो पुलिसकर्मी थे, इन पुलिसकर्मियों ने सुबह आने की बात कहकर टरका दिया। 

लाठियों से पीट-पीटकर हत्या की

सोमवार सुबह 5.30 बजे उमन्नियां गांव के युवा नहर की पटरी पर दौड़ लगा रहे थे। इस दौरान उन्होंने बुजुर्ग का शव देख पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस जांच में शव की शिनाख्त गया प्रसाद के रूप में हुई। पुलिस ने बुजुर्ग की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या करने की आशंका जताई है। इसके साथ ही किसी वाहन में बांधकर कुछ दूरी तक घसीटने के निशान भी दिखाई दे रहे हैं। सीओ ट्रेनी राजेश कमल, कोतवाल विनोद कुमार राय और मझगवां एसओ पंकज तिवारी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। जीवन लाल ने बताया कि पिता के नाम पर 35 बीघा जमीन थी। जमीन को लेकर दोनों बेटों में मौखिक रूप से बंटवारा कर दिया था। आरोप है कि उनके बड़े भाई चंद्रभान जमीन नाम करने का दबाव बना रहे थे। ताकि वह अपने हिस्से की जमीन बेच सकें। जीवन लाल ने आरोप लगाया कि इस विवाद में चंद्रभान ने अपने बेटे रिंकू, सचेन्द्र और दो अन्य के साथ पिता का अपहरण कर हत्या कर दी।

Kanpur News in Hindi (कानपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharatपर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर