ट्रेन में चोरी के आरोपी को पकड़ना दरोगा को पड़ा भारी, चोर की पत्नी और बेटे ने पथराव कर बनाया बंधक, फिर...

Attack On UP Police: कानपुर जीआरपी सेंट्रल के दरोगा को चोरी के आरोपी को गिरफ्तार करना भारी पड़ गया। दरोगा पुलिस टीम के साथ ट्रेन में चोरी के आरोपी को गिरफ्तार करने बिहार के पटना गए थे। यहां आरोपी के परिजनों ने पुलिस पर हमला कर दिया।

Attack On UP Police
ट्रेन में चोरी के आरोपी को पकड़ना दरोगा को पड़ा भारी, चोर की पत्नी और बेटे ने पथराव कर बनाया बंधक  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • दरोगा को चोरी के आरोपी को गिरफ्तार करना पड़ा भारी
  • आरोपी के परिजनों ने पुलिस पर किया हमला
  • पुलिस ने कई धाराओं में दर्ज किया केस

Kanpur News: पटना के फुलवारी में ट्रेन में चोरी के आरोपी को गिरफ्तार करना कानपुर जीआरपी सेंट्रल के दरोगा अब्बास हैदर को भारी पड़ गया। दारोगा को घर में बंद कर पिटाई की गई और जर्मन शेफर्ड कुत्ते से हमला कराया गया। जख्मी दारोगा का फुलवारी पुलिस ने उपचार कराया है। पुलिस ने चोरी के आरोपी समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। घायल दारोगा के बयान पर पुलिस टीम पर हमला, सरकारी कार्य में बाधा समेत कई संगीन धाराओं में केस दर्ज किया गया है। जानकारी के अनुसार, बिहार में दबिश के दौरान ट्रेन में चोरी के आरोपी संजय अग्रवाल को दबोचते ही उसकी पत्नी और बेटे सनी ने पुलिस टीम पर पथराव कर दिया। आरोप है कि घर का दरवाजा बंद कर पुलिस टीम को बंधक बना लिया। 

आरोपियों ने जर्मन शेफर्ड कुत्ते को जंजीर से खोल दिया। तीन मिनट के अंदर कुत्ते से सात बार अब्बास को कटवाया। दरअसल, पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर थाने ले जा रही थी तभी पीछे से संजय की पत्नी और सनी ने पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। हमले की सूचना मिलते ही फोर्स मौके पर पहुंची। पुलिस टीम ने सनी और संजय की पत्नी को पकड़ लिया। एफआईआर दर्ज कर ली गई है। 

आरोपी ने ट्रेन में यात्री का बैग किया था चोरी

बताया जा रहा है कि ढाई महीने पहले इस्लामपुर से दिल्ली जा रही मगध एक्सप्रेस में दिल्ली के मुकेश पांडेय का बैग संजय अग्रवाल ने चोरी कर लिया था। बैग में 12 लाख रुपये के गहने और नकदी थी। आरोपी संजय की पहचान सीसीटीवी फुटेज से हुई। यात्री मुकेश आरा से ट्रेन में बैठा था। परिवार की शादी से वापस घर जा रहा था। इसी मामले में आरोपी संजय को गिरफ्तार करने लिए पुलिस गई थी। आरोपी को फुलवारी शरीफ थाने के गोपानगर से दबोच लिया था। लेकिन उसके परिजनों ने विरोध किया और पथराव किया। फिर आरोपी के बेटे ने कुत्ते को जंजीर से खोल दिया था।

आरोपी ने और भी वारदातें कबूली

जीआरपी प्रभारी कानपुर सेंट्रल आरके द्विवेदी ने कहा कि अंतरराज्यीय रंजन गैंग के सक्रिय सदस्य संजय के साथी गोपी की भी तलाश है। संजय को ट्रांजिट रिमांड पर लेने के लिए जीआरपी ने बिहार की अदालत में पैरवी की है। संजय ने और भी वारदातों को अंजाम देना कबूल किया है। 

Kanpur News in Hindi (कानपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharatपर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर