Jaipur Murder Case: राखी कारोबारी को बदमाशों ने गोलियों से भूना, जानिए क्या थी हत्या के पीछे की वजह

Jaipur Murder Case: मृतक सैनी का एक बेटा अनिल तिजारा पुलिस के साथ मौके पर गया। गांव नौरंगाबाद के पास खेत में घनश्याम सैनी घायल स्थिति में पड़े थे। उनके पांव में दो गोलियां लगी हुई थी। उस वक्त उनकी  सांसे चल रही थी।

Jaipur Murder Case
राखी कारोबारी की गोली मार कर हत्या  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • बदमाशों ने राखी कारोबारी की गोली मारकर हत्या कर दी
  • घटना की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है
  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ब्रेन हेमरेज से मौत होना बताया है

Jaipur Murder Case: अलवर जनपद में राखी कारोबारी की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। बदमाशों ने कारोबारी की गोली मारकर हत्या कर दी। गोलीकांड के बाद इलाके में सनसनी फैल गई। घटना के बाद इलाके के व्यापारियों और सैनी समाज में रोष है। घटना से आहत लोगों ने पुलिस को आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। इधर, पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर कारोबारी घनश्याम सैनी (53) का शव परिजनों को सौंप दिया। मामले की जांच को लेकर एसआईटी का गठन किया है। बहरहाल बदमाशों का अभी तक पुलिस को सुराग नहीं लग पाया है। पुलिस जांच में कारोबारी घनश्याम सैनी के सट्टे के कारोबार से भी कनेक्शन सामने आए हैं।

फिलहाल पुलिस सभी एंगल पर फोक्स कर मामले की जांच कर रही है। एसपी तेजस्विनी गौतम के मुताबिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कारोबारी की गोली लगने के बाद ज्यादा रक्त स्त्राव के चलते ब्रेन हेमरेज होने से मौत होने की रिपोर्ट आई है। उन्होंने बताया कि रिपोर्ट में सैनी के शरीर पर कई चोटें लगी होने के निशान मिले हैं। जिसमें चेस्ट व दोनों हाथों में गहरी चोट के निशान हैं। पीएम रिपोर्ट में मृतक के दोनों हाथों सहित कंधों व पैरों में फ्रेक्चर भी मिले हैं। एएसपी सरिता सिंह ने बताया कि घटना की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है। वहीं महकमे की 3 टीमें लगातार घटना की जांच कर रही है। उन्होंने दावा किया कि जल्द ही पुलिस बदमाशों को गिरफ्तार कर पूरे मामले का खुलासा कर देगी। 

मोबाइल से लोकेशन नौरंगाबाद आई

अलवर एसपी तेजस्विनी गौतम ने बताया कि परिजनों ने पहले मृतक घनश्याम सैनी की थाने में गुमशुदगी दर्ज कराई थी। इसके बाद पुलिस ने घनश्याम सैनी के मोबाइल की लोकेशन ट्रेस की तो तिजारा कस्बे के गांव नौरंगाबाद में आ रही थी। इसके बाद तिजारा थाने की पुलिस से संपर्क किया गया व कारोबारी के परिजनों को वहां भेजा। एसपी के मुताबिक मृतक सैनी का एक बेटा अनिल तिजारा पुलिस के साथ मौके पर गया। गांव नौरंगाबाद के पास खेत में घनश्याम सैनी घायल स्थिति में पड़े थे। उनके पांव में दो गोलियां लगी हुई थी। उस वक्त उनकी  सांसे चल रही थी। इसके बाद परिजन उन्हें त्वरित गति से अलवर के राजीव गांधी सामान्य अस्पताल लेकर गए। हॉस्पिटल में उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। 

पापा का फोन किसी और ने उठाया

एसपी गौतम ने बताया कि घनश्याम सैनी का राखी का बड़ा कारोबार था। उनके बेटे अनिल ने पुलिस को बताया कि पापा सुबह 9.30 बजे अपनी स्कूटी से बाहर जाने के लिए निकले थे। मगर वह दोपहर 12 बजे तक दुकान पर नहीं पहुंचे। काफी देर उनका इंतजार किया। वह घर पर भी वापिस नहीं पहुंचे। उनके मोबाइल पर कॉल की तो उन्होंने रिसीव नहीं की। करीब दो बजे उनके फोन पर कॉल की तो किसी मनीष नाम के शख्स ने कॉल रिसीव किया और कहा कि वे थोड़ी देर बाद बात करेंगे। इसके कई देर बाद वापिस कॉल किया तो कोई जवाब नहीं मिला। फिर कोतवाली थाने में उनकी गुमशुदगी दर्ज करवाई गई। 

पहले भी किडनेप हुए हैं कारोबारी सैनी

एसपी तेजस्विनी गौतम के मुताबिक आरंभिक पुलिस जांच में ये तथ्य सामने आया है कि घनश्याम सैनी का सट्टे का कारोबार भी था, जिनके तार कई राज्यों से जुड़े थे। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम के दौरान अस्पताल में मौजूद लोगों ने बताया कि उनका एक बार पहले भी किडनेप हो चुका था। उन्होंने बताया कि अब पुलिस जांच हर एंगल से की जाएगी। इधर, कारोबारी की हत्या को लेकर अस्पताल में आक्रोशित सैनी समाज ने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन कर नारेबाजी की। उन्होंने आरोपियों की जल्द गिरफतारी की मांग की। पुलिस को 5 दिन का समय भी दिया। इसके बाद बड़ा आंदोलन करने की चेतावनी दी है। 


 

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर