'प्रेम में जिहाद की कोई जगह नहीं', 'लव जिहाद' पर भाजपा पर बरसे अशोक गहलोत

राजस्थान के मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि भाजपा इसके जरिए देश को बांटना और सामाजिक सद्भाव को बिगाड़ना चाहती है। उन्होंने कहा कि शादी व्यक्तिगत फैसला है।

 Rajasthan CM Ashok Gehlot says Jihad has no place in Love
'लव जिहाद' पर भाजपा पर बरसे अशोक गहलोत।  |  तस्वीर साभार: PTI

मुख्य बातें

  • 'लव जिहाद' के खिलाफ कानून बनाने की यूपी में शुरू हुई तैयारी
  • उत्तर प्रदेश के गृह विभाग को कानून मंत्रालय के पास भेजा है प्रस्ताव
  • राजस्थान के सीएम ने कहा-देश को बांटना चाहती है भारतीय जनता पार्टी

जयपुर : भाजपा शासित राज्यों में 'लव जिहाद' के खिलाफ कानून लाए जाने की पहल की आलोचना राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की है। गहलोत ने शुक्रवार को कहा कि 'लव जिहाद' शब्द की परिकल्पना भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने की है। राजस्थान के मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि भाजपा इसके जरिए देश को बांटना और सामाजिक सद्भाव को बिगाड़ना चाहती है। उन्होंने कहा कि शादी व्यक्तिगत फैसला है और इस पर कानून के जरिए रोक नहीं लगाई जा सकती। गहलोत ने कहा कि इस तरह का कानून कोर्ट में नहीं टिक पाएगा।  

'लव जिहाद शब्द को भाजपा ने तैयार किया'
गहलोत ने कहा, 'लव जिहाद शब्द को भाजपा ने तैयार किया है। वह इसके जरिए देश को बांटना और सांप्रदायिक सद्भाव को बिगाड़ना चाहती है। शादी व्यक्ति की निजी पसंद-नापसंद की चीज है। कानून के जरिए इस पर रोक लगाना पूरी तरह से असंवैधानिक है और यह किसी कोर्ट में नहीं ठहरेगा। प्यार में जिहाद की कोई जगह नहीं है।'

Ashok Gehlot

गहलोत बोले-शादी निजी मामला है
भाजपा शासित राज्यों पर निशाना साधते हुए गहलोत ने कहा कि ये सरकारें ऐसा माहौल बनाना चाहती हैं जिससे रजामंदी से शादी करने वालों को राज्य की दया पर निर्भर रहना होगा। शादी निजी मामला है और सरकारें इस पर नियंत्रण लगाना चाहती हैं। यह व्यक्तिगत आजादी को छीनने जैसा मसला है।

'लव जिहाद' के खिलाफ कानून लाएगी यूपी सरकार
दरअसल 'लव जिहाद' के खिलाफ कानून बनाने की दिशा में उत्तर प्रदेश सरकार ने अपना कदम बढ़ा दिया है। राज्य के गृह विभाग ने इस दिशा में अपना प्रस्ताव कानून मंत्रालय के पास भेजा है। भाजपा शासित राज्य मध्य प्रदेश में भी 'लव जिहाद' के खिलाफ विधेयक लाने की तैयारी चल रही है। एमपी के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है राज्य में 'लव जिहाद' पर रोक लगाने के लिए एवं मामले में दोषी व्यक्तियों को सजा देने के लिए विधानसभा के अगले सत्र में विधेयक लाया जाएगा। 

हरियाणा भी तैयारी में
उन्होंने कहा कि विधेयक में 'लव जिहाद' को संज्ञेय एवं गैर-जमानती अपराध मानने का प्रावधान किया जाएगा। बता दें कि हिमाचल प्रदेश अपने यहां 'लव जिहाद' के खिलाफ कानून लागू कर चुका है। हरियाणा में भी इसी तरह का कानून लाने की तैयारी है। 

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर