Fraud with Congress MLA: खुद को जापानी कंपनी का महाप्रबंधक बताकर कांग्रेस विधायक से ठगे ढाई लाख

Online Fraud: राजस्थान के कांग्रेस विधायक सुरेश मोदी को एक साइबर ठग ने व्हाट्सअप कॉल करके खुद को जापानी कंपनी का महाप्रबंधक बताया और कंपनी का काम दिलवाने का झांसा देकर मोदी के पुत्र एवं भांजे से ढ़ाई लाख की रकम ठग ली।

fraud with rajasthan mla suresh modi
सांगानेर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है।  |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • सचिन पायलट समथर्क कांग्रेस विधायक हैं सुरेश मोदी
  • साइबर ठग ने व्हाट्सअप कॉल कर झांसा दिया
  • जयपुर के सांगानेर पुलिस थाने में मामला दर्ज

Fraud with MLA Suresh Modi: राजस्थान के कांग्रेस विधायक सुरेश मोदी को एक साइबर ठग ने वॉट्सऐप कॉल करके खुद को जापानी कंपनी का महाप्रबंधक बताया और कंपनी का काम दिलवाने का झांसा देकर मोदी के पुत्र एवं भांजे से ढाई लाख की रकम ठग ली। इस संबंध में मोदी के भांजे रवि कुमार ने जयपुर के सांगानेर पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाया है। मामले की जांच थाना अधिकारी भवानी सिंह राजपूत कर रहे हैं। मामले में ठगी करने वाले खाते सीज कर दिए गए हैं।

ऐसे फंसाया जाल में 

पुलिस के अनुसार पिछले दिनों विक्रांत कौशिक नाम के एक व्यक्ति ने वॉट्सऐप कॉल किया और उनके निर्वाचन क्षेत्र नीमकाथाना का निवासी होना बताया। उसने खुद को नीमराणा में एक जापानी कंपनी का महाप्रबंधक बताते हुए कहा कि हम कई ठेके देते हैं। कोई व्यक्ति ठेका लेने वाला हो तो बताना, अच्छा मुनाफा मिलेगा। जिसपर मोदी ने पुत्र रोहित और भांजे रवि कुमार को ठेका दिलवाने के लिए कहा। रवि और रोहित ने फोन करने वाले से बात की और 6 जून को डेढ़ लाख रुपए उसके खाते में जमा करवा दिए। फिर 7 जून को एक लाख की रकम जमा करवा दी। रुपए जमा करवाने के बाद रवि को ठगी होने का अहसास हुआ। पड़ताल में सामने आया कि कॉल करने वाले व्यक्ति द्वारा बताई गई कोई कंपनी अस्तित्व में नहीं है। तत्काल आईटी एक्ट में मामला दर्ज कराया गया।

अब बंद आ रहा है नंबर 

रवि कुमार ने सांगानेर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस ने भी कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस उन बैंक खातों को सीज कर चुकी है, जिनमें साइबर ठग ने दो बार में ढाई लाख रुपए डलवाए थे। अभी तक पैसा रिकवर होने की बात सामने नहीं आई है। वहीं जिस नम्बर से आरोपी ने पहले विधायक फिर उनके भांजे को कॉल किया, वह भी बंद जा रहा है। पुलिस अब ठग की तलाश में जुटी है। पूरी राशि यूपीआई ऐप के माध्यम से ली गई थी। 

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर