Jaipur Crime: जयपुर पुलिस को बड़ी सफलता, 150 चेन तोड़ने वाला कुख्यात बदमाश गिरफ्तार, चार राज्‍यों में है वांटेड

Jaipur Crime: जयपुर पुलिस ने चार राज्‍यों के अंदर चेन स्नेचिंग की सैकड़ों वारदात को अंजाम दे चुके कुख्यात चेन स्नेचर तुलसी बावरिया को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी तुलसी बावरिया एक अंतर्राज्जीय चेन स्नेचर गैंग का हिस्‍सा है और जयपुर के अंदर ये अपने साथियों के साथ मिलकर करीब 150 नचेन स्‍नेचिंग की वारदात को अंजाम दे चुका है। आरोपी पर जपयुर के अंदर 3 दजर्न से अधिक मामले दर्ज हैं।

chain snatcher arrested
कुख्यात चेन स्नेचर तुलसी बावरिया गिरफ्तार   |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • कुख्यात चेन स्नेचर तुलसी बावरिया को जपयुर पुलिस ने किया गिरफ्तार
  • आरोपी जयपुर के अंदर कर चुका करीब 150 चेन स्‍नेचिंग की वारदात
  • आरोपी पर जयपुर के विभिन्‍न थानों में दर्ज है 3 दर्जन से अधिक मामले

Jaipur Crime: जयपुर पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। चार राज्‍यों के अंदर चेन स्नेचिंग की सैकड़ों वारदात को अंजाम दे चुके कुख्यात चेन स्नेचर तुलसी बावरिया को जवाहर सर्किल थाना पुलिस ने दबोच लिया है। इस बदमाश का एक साथी पहले से ही जेल में बंद है और यह पिछले तीन साल से पुलिस को चकमा देकर फरार चल रहा था। जयपुर पुलिस के आंकड़ों के अनुसार इस कुख्‍यात चेन स्‍नेचर ने सिर्फ जयपुर शहर में ही अपने साथ ही के साथ मिलकर करीब 150 चेन स्‍नेचिंग की वारदातों को अंजाम दे चकुा है। वहीं 4 राज्यों को मिलाकर ये आंकड़ें इससे कहीं अधिक है। पुलिस के अनुसार दोनों बदमाश घर के अंदर तक घुसकर वारदात को अंजाम देते थे। पुलिस फिलहाल गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ की जा रही है।

गिरफ्तार आरोपी के बारे में जानकारी देते हुए डीसीपी (ईस्ट) प्रहलाद कृष्णियां ने बताया कि कुख्यात चेन स्नेचर तुलसी बावरिया (38) पुत्र धनराज बावरिया यूपी के शामली जिले के गांव खोगसा झिनझाना का रहने वाला है। यह पिछले तीन साल से फरार चल रहा था। आरोपी तुलसी बावरिया एक अंतर्राज्जीय चेन स्नेचर गैंग का हिस्‍सा है और यह गैंग के सरगना रामचन्द्र बावरिया के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देता था। आरोपी घरों के अंदर तक घुसकर पता पूछने के बहाने चेन स्नेचिंग की वारदात को अंजाम देते थे। वारदात के समय सरगना रामचन्द्र बावरिया मोटरसाइकिल चलाता और तुलसी बावरिया चेन तोड़ने का काम करता था।

पुलिस को वर्ष 2018 में सीसीटीवी की मदद से चला था आरोपियों का पता

पुलिस ने बताया कि इन दोनों कुख्यात चेन स्नेचरों को साल 2018 में सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चिन्हित किया गया था। जिसके बाद रामचन्द्र बावरिया उर्फ टोपीवाला को साल 2019 में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया, वहीं तुलसी बावरिया फरार होने में सफल रहा था। पुलिस के अनुसार ये आरोपी जयपुर शहर में चेन स्नेचिंग की करीब 150 वारदातों को अंजाम देने के अलावा दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में भी चेन स्नेचिंग के करीब 100 से अधिक वारदात को अंजाम दे चुके हैं। इन आरोपियों पर जयपुर शहर के विभिन्न थानों में चेन स्नेचिंग के करीब 3 दर्जन केस दर्ज हैं।

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर