Jaipur Murder Case: कफन में छिपा था मौत का राज, हटा तो युवक के परिजन रह गए दंग, भाई ने किया फिर ये...

Jaipur Murder Case: जयपुर के शिप्रा पथ थाने में मृतक के भाई ने अपनी भाभी सहित उसके परिजनों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करवाया है। मामला कोर्ट की दखल के बाद दर्ज हुआ है। अब पुलिस पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर रही है।

 Jaipur Murder Case
शिप्रा पथ थाने में पत्नी सहित उसके परिजनों के खिलाफ हत्या का मामला हुआ दर्ज  |  तस्वीर साभार: Twitter
मुख्य बातें
  • शिप्रा पथ थाने में कोर्ट के आदेश के बाद एक युवक की हत्या का मामला दर्ज
  • मनीष ने अपने भाई की हत्या का आरोप उसकी पत्नी सहित कई लोगों पर लगाया
  • जितेंद्र की डेड बॉडी से कफन हटाया तो खुला राज 

 Jaipur Murder Case: राजधानी जयपुर के शिप्रा पथ थाने में कोर्ट के आदेश के बाद एक युवक की हत्या का मामला दर्ज हुआ है। मामला मृतक के भाई ने दर्ज करवाया है। शिप्रा पथ थाने के एसएचओ महावीर सिंह के मुताबिक कोर्ट के प्राप्त इस्तगासे के जरिए हत्या सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। जिसमें पीड़ित ने अपने भाई की हत्या का आरोप उसकी पत्नी सहित कई लोगों पर लगाया है। पीड़ित ने आरोप लगाया है कि, उसके भाई के हाथ- पांव तोड़ने सहित गर्दन मरोड़कर हत्या कर दी थी।

दर्ज मामले में लिखा गया है कि, युवक के शव के दाह संस्कार से पहले कफन हटाकर मृतक के भाई ने डेड बॉडी की स्थिति देखी तो मामले का पर्दाफाश हुआ। अब पुलिस ने इस्तागासा में लगाए गए आरोपों के आधार पर हत्या, मारपीट व सबूतों मिटाने सहित कई धाराओं में मामला दर्ज किया है। एसएचओ के मुताबिक प्रकरण का अनुसंधान किया जा रहा है। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की स्थिति स्पष्ट होगी। 

ये था मामला 

शिप्रा पथ एसएचओ के मुताबिक, मृतक के अजमेर निवासी भाई मनीष ने दर्ज रिपोर्ट में आरोप लगाया है कि, उसका भाई जितेंद्र शादी के बाद से ही तनाव में चल रहा था। इसके बाद वह जुलाई माह में अजमेर से जयपुर आकर रहने लगा। इस बीच गत 14 जुलाई को उसके भाई की तबीयत ठीक नहीं होने की सूचना मिली थी। इसके बाद उसे शिप्रा पथ में स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज के लिए दाखिल करवाया गया था। एसएचओ के मुताबिक मृतक के परिजन मृतक के बीमार होने की जानकारी मिलने के बाद अजमेर से जयपुर के लिए रवाना हुए तो मृतक के एक मित्र ने जितेंद्र की मौत हो जाने की सूचना दी। परिजन जयपुर पहुंचते उससे पहले ही मृतक के ससुराल के लोग उसे दाह संस्कार के लिए सीकर ले गए। 

कफन हटा तो खुला राज 

एसएचओ महावीर सिंह के मुताबिक सीकर में स्थित मोक्ष धाम में अंतिम संस्कार से पहले परिजन सीकर पहुंच गए थे। मृतक के भाई ने आरोप लगाया है कि, जब जितेंद्र की डेड बॉडी से कफन हटाया तो हैरान करने वाली बात थी। उसकी गर्दन टूटी व हाथ-पांव लटके हुए थे। उसका भाई स्वस्थ था तो अचानक इतना बीमार कैसे हुआ कि, उसकी मौत हो गई। वहीं डेड बॉडी परिजनों को सौंपने के बजाय ससुराल के लोग उसे सीकर क्यों ले आए। मृतक के भाई ने आरोप लगाया है कि, सीकर पुलिस को सूचना देने के बाद कोई कार्रवाई नहीं की गई। वहीं निजी अस्पताल पर भी सवाल खड़े किए हैं। एसएचओ मुताबिक मृतक की पत्नी सहित कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। 

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर