Jaipur: खाकी फिर दागदार, कैसे एसीबी के हत्थे चढ़ा घूसखोर हेड कांस्टेबल, जानिए पूरी कहानी

Jaipur Bribe Case: एसीबी टीम ने पुलिस थाने में कार्रवाई करते हुए घूसखोर हेड कॉन्स्टेबल सुरेश कुमार चौधरी को 1 लाख 40 हजार की घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा है। एसीबी की टीम ने मौके पर आरोपी से घूस की रकम भी बरामद की है।

Jaipur Bribe Case
बानसूर में घूस लेते हेड कांस्टेबल अरेस्ट  |  तस्वीर साभार: Representative Image
मुख्य बातें
  • रेप के आरोपी को 17 दिन तक अवैध हिरासत में रखा
  • पति को छुड़ाने के लिए महिला ने बेचे जेवर 
  • एसपी तेजस्विनी गौतम ने एसएचओ व रीडर को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया

Jaipur Bribe Case: राजस्थान में एक बार फिर खाकी पर रिश्वत का दाग लगा है। मामला प्रदेश के बानसूर का है, जहां पर एसीबी टीम ने पुलिस थाने में कार्रवाई करते हुए घूसखोर हेड कॉन्स्टेबल सुरेश कुमार चौधरी को 1 लाख 40 हजार की घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा है। एसीबी की टीम ने मौके पर आरोपी से घूस की रकम भी बरामद की है। एएसपी वीएस मीणा ने पूरे मामले का खुलासा किया है। उन्होंने बताया कि गांव हरसोली निवासी परिवादी महिला ने 1 अगस्त को एसीबी में शिकायत दर्ज कराई थी।

जिसमें बानसूर थाने के एसएचओ रविंद्र कविया पर आरोप लगाया था कि रेप के मामले में उसके पति को अवैध तौर पर पिछले 17 दिनों से थाने में बैठा रखा है। पीड़िता ने शिकयत में ये आरोप भी लगाया कि उसके पति को गिरफ्तार नहीं करने सहित मामले को रफा- दफा करने की एवज में डेढ़ लाख की घूस मांगी गई थी।

एसपी के मुताबिक शिकायत मिलने के बाद मामले का सत्यापन करवाया गया। बाद में डीएसपी महेंद्र मीणा की अगुवाई में टीम बनाकर कार्रवाई की गई। जिसमें मंगलवार देर रात्रि को पीड़िता थाने गई व एचसी सुरेश कुमार को 1 लाख 40 हजार की रकम सौंपी। इसके बाद वहां पहले से ही मौजूद एसीबी की टीम ने घूसखोर हेडकांस्टेबल को रंगे हाथों दबोच लिया व उसके पास से घूस की रकम बरामद कर जब्त कर ली। 

पति को छुड़ाने के लिए बेचे जेवर 

एसीबी के एएसपी विजय सिंह मीणा ने बताया कि बानसूर थाने में पीड़िता के पति के खिलाफ एक महिला ने रेप के आरोप का मामला दर्ज करवाया था। इसके बाद आरोपी को बानसूर पुलिस गांव से थाने ले आई व 17 दिन तक बैठाए रखा। इस बीच पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी नहीं दिखाई। मामले को रफा - दफा करने के लिए घूस मांगी। एएसपी ने बताया कि परिवादी महिला का परिवार बेहद गरीब है।

पुलिस की अवैध हिरासत से पति को छुड़ाने के लिए पीड़िता ने एसएचओ रविंंद्र कविया व एचसी सुरेश कुमार से लगातार पति को छोड़ने की गुहार लगा रही थी। मगर थाने में महिला से डेढ़ लाख की घूस मांगी जा रही थी। इसके बाद महिला ने अपने जेवर बेचकर 1.40 लाख रूपए जुटाए। एएसपी के मुताबिक घूसखोर हेड कांस्टेबल महिला के गांव का ही रहने वाला है। एसीबी की टीम अब एचसी के ठीकानों की तलाशी ले रही है। एएसपी ने बताया कि कार्रवाई के दौरान एसएचओ कविया व उनका रीडर थाने से नदारद हो गए। 

एसएचओ व रीडर निलंबित

बानसूर थाने में एसीबी की कार्रवाई की जानकारी मिलने के बाद अलवर एसपी तेजस्विनी गौतम ने एसएचओ व रीडर को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया। एसपी गौतम के मुताबिक एसएचओ रविंद्र कविया व उनके रीडर देवीसिंह को रेप के आरोपी को 17 दिन तक अवैध हिरासत में रखने सहित घूसखोरी कांड में उनकी संदिग्ध भूमिका के मध्यनजर निलंबित किया गया है।

बानसूर एसएचओ पूर्व में भी एक नाबालिग से रेप के मामले में आरोपी को जल्द बेल दिलवाने की फिराक में पूरे केस को बदल देने को लेकर खासी चर्चा में रहे हैं। उस समस रेप के मामले में एसएचओ पर कोर्ट में पॉक्सो व रेप की धाराओं को बदलकर अपहरण व धमकी देने की धाराएं कर देने के आरोप लगे थे। 

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर