SMS Hospital Jaipur: एसएमएस अस्पताल का मरीजों को तोहफा, पर्ची-रिपोर्ट की झंझट खत्म, सब कुछ होगा ऑनलाइन

Capital Jaipur: जयपुर के एसएमएस अस्पताल को हाईटेक करने की तैयारी है। मरीजों को रिपोर्ट, जांच और पर्ची सबकुछ ऑनलाइन होगी। मरीजों को इस सुविधा का लाभ मिलेगा। दो महीने के अंदर प्रक्रिया को अमल में लाने की तैयारी है।

 Jaipur Health News
जयपुर के एसएमएस हॉस्पिटल में पर्ची से लेकर रिपोर्ट तक सबकुछ होगा ऑनलाइन   |  तस्वीर साभार: ANI
मुख्य बातें
  • एसएमएस हॉस्पिटल को अब इंटीग्रेटेड हेल्थ मैनेजमेंट सिस्टम से जोड़ा जाएगा
  • मरीजों की सारी रिपोर्ट, जांच देखी जा सकेगी ऑनलाइन
  • पर्ची गुम हो जाने पर होती थी मरीजों को परेशानी

Jaipur Helth News: जयपुर का सवाई मान सिंह अस्पताल लोगों के लिए अच्छी खबर लेकर आया है। जयपुर के इस अस्पताल में एक नई सुविधा देखने को मिलेगी। एसएमएस अस्पताल में अब सभी मरीजों की ‘कुंडली’ होगी। अभी आरोग्य एप से जुड़े एसएमएस को अब आईएचएमएस (इंटीग्रेटेड हेल्थ मैनेजमेंट सिस्टम) से जोड़ने की तैयारी है।

बता दें कि, नए सिस्टम से किसी भी सरकारी अस्पताल से रेफर मरीज की हिस्ट्री, दवा पर्ची, जांच रिपोर्ट ऑनलाइन देखने में सुविधा होगी। इसके साथ ही जो भी सरकारी अस्पताल आईएचएमएस से जोड़े जाएंगे उन सभी में मरीजों की रिपोर्ट ऑनलाइन कर दी जाएगी। मरीजों को पर्ची गुम हो जाने का अब डर नहीं होगा। सबका डाटा ऑनलाइन सेट कर दिया जाएगा।

सरकारी अस्पताल की रिपोर्ट लेकर साथ घूमना जरूरी नहीं

बता दें कि एसएमएस में कुछ समय पहले भी ऑनलाइन सिस्टम लागू करने की तैयारी की गई थी। लेकिन प्रदेश के अन्य अस्पताल आईएचएमएस की व्यवस्था से जुड़े थे और एसएमएस आरोग्य एप से जुड़ा हुआ था। ऐसे में मरीजों की रिपोर्ट एसएमएस और अन्य अस्पतालों में शेयर नहीं हो पा रही थी। अब रिपोर्ट या पर्ची गुम होने पर किसी भी मरीजों को फिर से पूरी प्रक्रिया से नहीं गुजरना होगा। अब जबकि सबकुछ ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएगा तो प्रदेश के किसी भी अस्पताल से एसएमएस आने वाले मरीज की रिपोर्ट ऑनलाइन देखी जाएगी।

इस माह से शुरू होगी नई व्यवस्था

बता दें कि आईएचएमएस के लिए सीनियर डॉक्टर्स के फीडबैक पहले ही लिए जा चुके हैं। आईएचएमएस और एसएमएस के आईटी सिस्टम के बीच भी को-आर्डिनेशन बन चुका है। 2 महीने के अंदर ये नया सिस्टम शुरू हो जाएगा। बता दें कि, राजस्थान सरकार के चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया ने बताया है कि, एसएमएस को आईएचएमएस सिस्टम से जोड़ने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इसके होने से एसएमएस में आने वाले मरीज की पूरी डिटेल डॉक्टर को एक क्लिक पर मिल जाएगी। आईटी डिपार्टमेंट ने इस प्रक्रिया शुरू कर दिया है। जल्द ही इसको मूर्त रूप दे दिया जाएगा।

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
ET Now
ET Now Swadesh
Mirror Now
Live TV
अगली खबर