Tourist Place: जयपुर में बनने जा रहा है एक और वाइल्ड लाइफ टूरिस्ट स्पॉट, अब आमागढ़ लेपर्ड रिजर्व की सौगात

Jaipur Tourist Place: पिंकसिटी जयपुर को अब एक और वाइल्ड लाइफ टूरिस्ट स्पॉट मिलने वाला है। वन विभाग जल्द ही आमागढ़ लेपर्ड रिजर्व की शुरुआत करने जा रहा है। इसी के साथ अब पर्यटक लेपर्ड का दीदार कर सकेंगे। विभाग ने रिजर्व का पूरा खाका तैयार कर काम शुरू कर दिया है। उम्मीद है कि, 22 मार्च से इसकी शुरुआत होगी।

Jaipur Tourist Place
जयपुर में बनेगा टूरिस्ट स्पॉट (प्रतीकात्मक तस्वीर)  |  तस्वीर साभार: BCCL
मुख्य बातें
  • 22 मई को सीएम अशोक गहलोत करेंगे उद्घाटन
  • 12 किलोमीटर लंबा होगा ट्रैक
  • वर्तमान में रह रहे हैं 15 से 20 लेपर्ड

Jaipur Tourist Place: जयपुर अब लेपर्ड सिटी बनने जा रहा है। नाहरगढ़ और झालाना लेपर्ड सफारी के बाद अब शहर को एक और लेपर्ड सफारी की सौगात मिलने जा रही है। जी हां, बहुत जल्द जयपुर के आगरा रोड पर गलता की पहाड़ियों में आमागढ़ लेपर्ड रिजर्व बनने जा रहा है। यह रिजर्व करीब सोलह किलोमीटर के क्षेत्र में फैला होगा। इसका पूरा खाका तैयार कर लिया गया है। 

इस रिजर्व को बनाने का उद्देश्य लेपर्ड को संरक्षण देने के साथ ही शहर में वाइल्डलाइफ टूरिज्म को बढ़ावा देना हैै। राज्य सरकार को उम्मीद है कि, इस लेपर्ड रिजर्व को भी अच्छा रेस्पॉन्स मिलेगा। इंटरनेशनल बायोलॉजिकल बायोडायवर्सिटी डे के मौके पर 22 मई को प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत इस सफारी का उद्घाटन करेंगे।  

इसलिए बनाया जा रहा है रिजर्व 

आपको बता दें, जयपुर में लेपर्ड की संख्या दिनों दिन बढ़ रही है। ऐसे में लेपर्ड में क्षेत्र और वर्चस्व की लड़ाई बढ़ रही है, जिसका नुकसान वन्यजीव को ही हो रहा है। इसी के साथ आए दिन लेपर्ड के शहरी क्षेत्रों में आने की घटनाएं भी बढ़ रही हैं। ऐसे में लेपर्ड रिजर्व बनने से इन वन्यजीवों को रिजर्व में पूरा संरक्षण मिलेगा।  

ये खास होगा रिजर्व में 

वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार, लेपर्ड रिजर्व का पूरा खाका तैयार कर लिया गया है। करीब 16 किलोमीटर के क्षेत्र में फैले इस रिजर्व में करीब 12 किलोमीटर लंबा ट्रैक बनाया जाएगा। इसी के साथ सात वाटर प्वॉइंट्स भी बनाए जाएंगे। इन वाटर प्वॉइंट्स को बनाने के पीछे दो उद्देश्य हैं, पहला कोई भी लेपर्ड प्यास से अपनी जान न गंवाए। क्योंकि पूर्व में ऐसे कुछ मामले सामने आ चुके हैं। दूसरा वाटर प्वॉइंट्स पर पर्यटकों को लेपर्ड दिखने की संभावना ज्यादा होती है। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि, इस क्षेत्र में वर्तमान में पंद्रह से बीस लेपर्ड हैं।  

बेहद सफल रही झालाना—नाहरगढ़ सफारी 

आपको बता दें कि, जयपुर में पहले से बनी लेपर्ड रिजर्व झालाना और नाहरगढ़ बेहद सफल रहे। यहां बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं। झालाना सफारी में अकसर सेलेब्स भी लेपर्ड का दीदार करने आते हैं। ​वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार, झालान में वर्तमान में करीब चालीस लेपर्ड हैं। वहीं शेष लेपर्ड नाहरगढ़ और आमागढ़ में हैं। ऐसे में जयपुर में अभी लेपर्ड की संख्या करीब 70 है।

Jaipur News in Hindi (जयपुर समाचार), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Now Navbharat पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर