'हमारा कोई देश नहीं है'; दर्द बयां करते-करते खुद को रोक नहीं पाईं अफगानी महिलाएं, VIDEO

दिल्ली में रिफ्यूजी बन कर रह रहीं अफगानिस्तान की महिलाओं ने अपने देश की दयनीय स्थिति के बारे में बताया है। इस दौरान वो भावुक हो गईं और रो गईं। तालिबान राज में महिलाओं पर काफी जुर्म किए जाते हैं।

Afghanistan Women
अफगानिस्तान की महिलाएं 

अफगानिस्तान में तालिबान के राज में महिलाओं के लिए वहां रहना कितना मुश्किल है, ये वहां की महिलाओं ने ही बताया है। टाइम्स नाउ नवभारत से बात करते हुए अफगान महिलाओं ने बताया है कि किस तरह महिलाओं के साथ अत्याचार किया जाता है। महिलाएं अपना दर्द बयां करते-करते रो गईं। दिल्ली में रह रही एक अफगान महिला ने कहा कि मेरा परिवार वहां है। अफगानिस्तान फिर से 20 साल पीछे चला गया है। अब कोई उम्मीद नहीं बची है। 15 साल से हम दिल्ली में रिफ्यूजी हैं। हमारा देश ही नहीं है कोई।

एक अन्य महिला भी अपना दर्द बयां करते हुए भावुक हो गई और कहा कि हर औरत को वहां मौत के मुंह में धकेला जाता है। उनके ऊपर जुर्म किया जाता है, उसी जुर्म से भागकर हम यहां आए हैं। वहां कोई सेफ नहीं है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर