Vikas Dubey Encounter: शहीद सीओ के रिश्तेदार ने योगी को बताया रुद्रावतार, अन्य के परिजनों ने कही ये बात

देश
किशोर जोशी
Updated Jul 10, 2020 | 18:31 IST

विकास दुबे को यूपी पुलिस, एसटीएफ ने शुक्रवार सुबह एक एनकाउंटर के दौरान मार गिराया। विकास के मारे जाने पर शहीद पुलिसकर्मियों के परिजन काफी खुश नजर आ रहे हैं।

vikas dubey encounter video of the families of martyred policemen
शहीद CO के रिश्तेदार ने योगी को बताया रूद्र अवतार 

मुख्य बातें

  • विकास दुबे के एनकाउंट पर शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों ने जताई खुशी
  • शहीद सीओ के परिजन बोले, विकास के एनकाउंटर से खुश, योगी कर रहे हैं बेहतर काम
  • विकास दुबे की गैंग ने पुलिसकर्मियों पर किया था हमला, 8 पुलिसकर्मी हो गए थे शहीद

कानपुर: कुख्यात अपराधी एवं कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले का मुख्य आरोपी विकास दुबे शुक्रवार सुबह कानपुर के भौती इलाके में हुए एक एनकाउंटर के दौरान मारा गया। पुलिस के अनुसार उज्जैन से कानपुर लाते समय हुए सड़क हादसे में एक पुलिस वाहन के पलटने के बाद दुबे ने भागने का प्रयास किया और गोलियों का निशाना बना। विकास को तुरंत अस्पताल लाया गया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। विकास के मारे जाने पर शहीद पुलिसकर्मियों के परिजनों ने खुशी व्यक्त की है।

शहीद पुलिसकर्मी के पिता बोले- दोषी पुलिसकर्मियों पर भी हो कार्रवाई
विकास दुबे द्वारा जिस पुलिसकर्मी जितेंद्र सिंह की हत्या की गई, उनके पिता तीरथपाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा, 'सबसे पहले तो मैं यूपी पुलिस को धन्यवाद अदा करूंगा और जितना गर्व था मुझे यूपी पुलिस पर आज वो सफल हो गया और इन शहीद पुलिस वालों की आत्मा को शांति मिली। मैं भी इस एनकाउंटर से बहुत खुश हूं और योगी सरकार को धन्यवाद अदा करता हूं। दोषी पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। जिन्होंने गद्दारी की है उनको तो खोज-खोज कर जनता के सामने लाया जाना चाहिए। तांकि ऐसे गद्दार लोग कम पैदा हों।

शहीद सीओ के भाई ने बताया योगी को रूद्रावतार

शहीद सीओ देवेंद्र कुमार मिश्रा  के रिश्तेदार कमलकांत ने टाइम्स नाउ से बात करते हुए कहा कि, '8 पुलिस वालों की ऐसी निर्मम तरीके से हत्या की गई जो आज से पहले कभी नहीं हुई। यह सिस्टम की गलती है जो ऐसे लोगों को संरक्षण देता है। इसमें पूरा तंत्र शामिल हैं। मैं जो बातें कह रहा हूं वो पहले ही सामने आ चुकी हैं। पुलिस के ही थाने बिके हुए थे जो सबको पता है। उच्च अधिकारियों को शिकायत करते थे तो कार्रवाई नहीं होती थी। नेता को करो तो वो धमकाते थे। ऐसा दुर्दांत अपराधी जो हर शख्स के साथ चलता था। विकास दुबे मर गया उससे संतुष्टि  है लेकिन बाकि समाज का क्या होगा जो उसे संरक्षण देता है। उनके खिलाफ क्या कार्रवाई होगी। यह प्रॉब्लम का सॉल्यूशन नहीं है। वह (योगी) अपने स्तर पर सब ठीक करने की पूरी कोशिश कर रहे, ठीक वैसे जैसे रुद्र अवतार। लेकिन सिर्फ अकेला आदमी सब ठीक नहीं कर सकता।'

संतोष शुक्ला के भाई ने कहा-न्याय मिला

 वहीं पूर्व राज्यमंत्री संतोष शुक्ला जिनकी हत्या विकास ने थाने में घुसकर की थी, उनके भाई ने बयान देते हुए कहा कि भगवान के घर देर है अंधेर नहीं, 19 साल बाद आज न्याय मिला, विकास दुबे ने संतोष शुक्ला की हत्या की थी।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर