नवभारत नवनिर्माण मंच से CM योगी आदित्यनाथ ने दिया विकास का हिसाब, बोले- मैं दोबारा चुनकर आऊंगा

टाइम्स नाउ नवभारत 'नवभारत नवनिर्माण मंच': उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नवभारत नवनिर्माण मंच पर आए। उनसे प्रदेश में अब तक हुए काम और अगले साल होने वाले चुनाव सहित दूसरे सभी अहम मसलों पर बातचीत हुई।

Yogi Adityanath
योगी आदित्यनाथ  

मुख्य बातें

  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सपा की सहानुभूति गुंडों और माफियाओं के प्रति है।
  • मुख्यमंत्री ने कहा कि ओवैसी साहब भाग्य नगर से आए हैं, वो अपना भाग्य आजमा सकते हैं। 
  • योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वो फिर चुनकर आएंगे, बीजेपी 350 सीट जीतेगी और फिर रिकॉर्ड बनाएगी।

उत्तर प्रदेश के लखनऊ में आज सुबह से शाम तक टाइम्स नाउ नवभारत का 'नवभारत नवनिर्माण' मंच सजा रहा । सुबह से एक के बाद एक दिग्गज इस मंच पर आए। आखिरी में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे। टाइम्स नाउ नवभारत की एडिटर इन चीफ नाविका कुमार ने उनसे बात की। सीएम योगी ने कहा कि टाइम्स नाउ नवभारत ने 45 दिन में अच्छी पहचान बनाई है। नए चैनल पर मैं पूरे टाइम्स ग्रुप को शुभकामना देता हूं। 45 दिनों में ही आपके संकल्प की झलक दिख गई है। किसान आंदोलन पर उन्होंने कहा कि 2022 में यूपी के चुनाव में जब जाएंगे तो यूपी ही नहीं, बल्कि पूरे देश के किसानों की आय लगभग दोगुनी हो जाएगी।

9 करोड़ वैक्सीनेशन करने वाला यूपी पहला राज्य

कोरोना काल का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि हमारी उन सभी परिवारों के प्रति संवेदना है, जिन्होंने इस महामारी के दौरान अपनों को खो दिया। यूपी में 9 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाई गई। 9 करोड़ वैक्सीनेशन करने वाला यूपी पहला राज्य है। हम पीएम मोदी के आभारी है। डेंगू-स्वाइन फ्लू की वैक्सीन अभी तक नहीं है, लेकिन कोरोना की वैक्सीन भारत में समय पर आई। मैं यूपी के लोगों से आह्वान करूंगा कि किसी के बहकावे में ना आएं और अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरूर लगवाएं। सबको वैक्सीन, मुफ्त वैक्सीन का ही परिणाम है कि 75 करोड़ लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। वैक्सीनेशन अभियान का विरोध कर अखिलेश यादव ने देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया था।

सीएम बदलने की अटकलों के सवाल पर योगी ने कहा कि बीजेपी एक लोकतांत्रिक पार्टी है। अलग-अलग समय पर हर कार्यकर्ता को अलग-अलग भूमिका मिल सकती है। बीजेपी कोई एक परिवार की पार्टी नहीं है। यहां पद नहीं बल्कि कार्य महत्वपूर्ण होता है। यहां सामान्य कार्यकर्ता भी मुख्यमंत्री बन सकता है। 

विकास विपक्ष के एजेंडे में नहीं है

विपक्ष के एजेंडे में विकास कभी था ही नहीं, यदि होता तो प्रदेश में दिखता भी। 7 दशकों में यूपी में सिर्फ दो एक्सप्रेस-वे बने थे। मायावती काम पर बात नहीं कर पा रही हैं। बहन जी मंचों से कह रही हैं कि अब मुझे सत्ता मिलेगी तो मैं मूर्तियां नहीं लगवाउंगी यानी उनके एजेंडे में विकास नहीं था। एक्सप्रेस वे यूपी की बैकबोन है। बुंदेलखंड शोषण का अड्डा बना दिया गया था। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को अक्टूबर में प्रधानमंत्री जी राष्ट्र को समर्पित करेंगे। 15,200 करोड़ का एक्सप्रेसवे 11,800 करोड़ में बन रहा है। वह भी पहले से चौड़ा और मजबूत। ये 3000 करोड़ कौन हजम करना चाहता था, दाल में कुछ काला था।

अब इन लोगों को विकास पच नहीं रहा है। देश के सबसे बड़े एक्सप्रेसवे में से एक गंगा एक्सप्रेसवे का कार्य जल्द ही प्रधानमंत्री जी के कर कमलों से शुरू होगा।  बुदेलखंड में हम दो एयरपोर्ट बना रहे हैं, उसे एक्सप्रेसवे से जोड़ रहे हैं, हर घर हर नल की सुविधा और डिफेंस कॉरिडोर के दो नोड बुंदेलखंड में बना रहे हैं। कानपुर और आगरा में 30 नवंबर तक मेट्रो के कार्य का पहला फेज पूरा करने का प्रयास है। गोरखपुर, प्रयागराज, वाराणसी और मेरठ की मेट्रो का डीपीआर तैयार है। 2018 तक उत्तर प्रदेश में कोई इन्वेस्टर्स समिट नहीं हो सकी थी। फरवरी 2018 में हमने इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया और 3 लाख करोड़ रुपए से अधिक के निवेश प्रस्ताव जमीन पर उतर चुके हैं। पिछली सरकार में नौकरी, रोजगार, स्वरोजगार व नियुक्ति की कमजोर नीतियों की विफलता और पारदर्शिता की कमी को हमने दूर किया। 

सीएम से जब उनके बयान अब्बाजान पर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि आज तो चचा जान भी आ गया है। योगी ने कहा कि अब्बाजान असंसदीय शब्द नहीं है। मैंने किसी का नाम नहीं लिया। उन्हें वोट तो चाहिए, लेकिन अब्बाजान से परहेज है। मेरा संदेश साफ है, मुझे सिर्फ जनता को समझाना है और वो समझ रही है।

कुछ लोग पप्पू और बबुआ ही बने रहेंगे

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब यूपी में नौजवानों को नौकरी मिल रही है। हमने पुलिस भर्ती की प्रक्रिया शुरू कर ट्रेनिंग की सुविधा दोगुनी की। फिर भर्ती की प्रक्रिया पूरी की। सभी नौजवानों को बिना भेदभाव के नियुक्ति से लेकर नियुक्ति प्रमाण-पत्र तक कोई सिफारिश नहीं लगी। अखिलेश जी को मंच पर आने से पहले कोई रटवाता है कि क्या और कैसे बोलना है। उनको बताया जाना चाहिए कि 2016 में बेरोजगारी दर 17 फीसदी से अधिक थी और अभी 4 फीसदी आ गयी है। विकास की सोच के लिए समय देना पड़ता है। उन्हें न सुबह पता होती है न शाम। 11 बजे उठते हैं, फिर लंच करते हैं, मित्रों से मिलते हैं, साइकिल चलाते हैं। हर चीज का समय होता है। राहुल गांधी के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कुछ लोग पप्पू और बबुआ ही बने रहेंगे।

नाविक कुमार ने कहा कि योगी जी 35 साल से उत्तर प्रदेश में कोई भी मुख्यमंत्री दोबारा चुनकर नहीं आया तो उन्होंने कहा कि मैं आऊंगा ना। बीजेपी 350 से ज्यादा सीटें जीतेगी। हम इस बार भी रिकॉर्ड तोड़ेंगे। 

सपा की सहानुभूति गुंडों और माफियाओं के प्रति

हमने मंदिर के लिए कहीं भी बुल्डोजर नहीं चलाया है। जिन्होंने सत्ता का शागिर्द बनकर गरीबों को रौंदा और कब्जा किया था, अवैध निर्माण किया था उस अवैध व अनैतिक निर्माण पर बुल्डोजर चल रहा है। सपा की सहानुभूति गुंडों और माफियाओं के प्रति है, जनता के प्रति नहीं है। इसलिए वो गुंडों और माफियाओं के पक्ष में बोलेंगे, क्योंकि उनके समय वही सत्ता का संचालन कर रहे थे। आज वो भीगी बिल्ली बनकर कोने में दुबके हुए हैं। 

उत्तर प्रदेश में असददुद्दीन ओवैसी के चुनाव प्रचार पर योगी ने कहा कि ओवैसी साहब भाग्य नगर से आए हैं। वो अपना भाग्य आजमा सकते हैं। 


 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर