Assam Opinion Poll: बीजेपी की सत्ता वापसी की राह में दिक्कत पैदा करती दिख रही कांग्रेस,सर्बानंद पहली पसंद

Assam Opinion Poll: असम में तीन चरणों में चुनाव होना है यहां की सत्ता पर काबिज सर्बानंद सोनोवाल के लिए राज्य में अपनी सत्ता बचाए रखने की चुनौती है वहीं कांग्रेस वहां खासा जोर लगाए हुए है।

OPINION POLL
असम ओपिनियन पोल 

असम विधान सभा चुनाव के लिए तीन चरणों में चुनाव की प्रक्रिया संपन्न कराई जाएगी पहला चरण 27 मार्च, दूसरा चरण 1 अप्रैल और तीसरा 6 अप्रैल को आयोजित किया जाएगा वहीं मतगणना 2 मई को होगी। असम में विधानसभा की 126 सीटें और सदन में बहुमत के लिए 64 सीटें चाहिए, राज्य की सत्ता पर काबिज सर्बानंद सोनोवाल अपनी सत्ता बचाने में लगे हैं हालांकि उनको खतरा उतना ज्यादा नहीं बताया जा रहा है। ,उससे पहले Times Now और सी वोटर  ने मतदाता के मन में क्या चल रहा है ये जानने की कोशिश की है। 

टाइम्स नाउ और सी-वोटर के सर्वेक्षण के मुताबिक असम विधानसभा चुनाव 2021 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) और कांग्रेस की अगुवाई वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए), बीच जोरदार मुकाबला होने की उम्मीद है।

सर्वेक्षण में 126 सदस्यीय असम विधानसभा में 67 सीटों पर एनडीए , 57 सीटों पर यूपीए और अन्य को 2 सीटें जीतने का अनुमान लगाया गया है। 

असम को अगला मुख्यमंत्री कौन चाहिए?-

असम के मुख्यमंत्री और भाजपा नेता सर्बानंद सोनोवाल सबसे पसंदीदा मुख्यमंत्री हैं। 45.2 प्रतिशत प्रतिभागी सोनोवाल को सीएम के रूप में वापस चाहते हैं। कांग्रेस नेता गौरव गोगोई दूसरे सबसे पसंदीदा सीएम उम्मीदवार हैं। वहीं 4.8 प्रतिशत प्रतिभागियों ने कहा है कि वे शीर्ष पद पर बदरुद्दीन अजमल को चाहते हैं।

क्या मतदाता असाम सरकार के प्रदर्शन से संतुष्ट हैं?-

बहुत अधिक संतुष्ट-41.48 फीसदी
कुछ हद तक संतुष्ट- 29.65 फीसदी
संतुष्ट नहीं-15.81 फीसदी
नहीं जानते / कह नहीं सकते- 13.05 फीसदी

असम: गठबंधन-वार वोट शेयर-

• एनडीए: 42.9%
• यूपीए: 40.7%
• अन्य- 16.4%

असम: गठबंधन-वार सीट शेयर

• एनडीए: -7
• यूपीए: 18
• अन्य: -11

भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्रीय सरकार के काम से कितने संतुष्ट हैं?-

बहुत संतुष्ट: 41.04 प्रतिशत
कुछ हद तक संतुष्ट: 26.12
बिल्कुल संतुष्ट नहीं: 19.66
13.18 प्रतिशत: पता नहीं / नहीं कह सकते

क्या मतदाता पीएम मोदी से संतुष्ट है?-

बहुत संतुष्ट 42.42 प्रतिशत,
कुछ हद तक संतुष्ट: 27.64 प्रतिशत
बिल्कुल संतुष्ट नहीं: 16.45
13.49 प्रतिशत: पता नहीं / नहीं कह सकते

हालांकि, प्री-पोल सर्वे ने नागरिकता (संशोधन) अधिनियम, 2019 और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (NRC) के खिलाफ लामबंदी के बावजूद, NDA को एक संकीर्ण अंतर से जीतने का अनुमान लगाया। विशेष रूप से, सर्वेक्षण में यूपीए वोट शेयर में बड़ी उछाल की भविष्यवाणी की गई है।

पिछली दफा 2016 में असम में कांग्रेस को हराकर भारतीय जनता पार्टी ने असम की सीट को हासिल किया था और सर्वानंद सोनोवाल को राज्य का मुख्यमंत्री बनाया था। साल 2016 में भाजपा को 126 में से 86 सीटें मिली थीं। वहीं कांग्रेस को 26 सीटें और अन्य क्षेत्रीय पार्टियों द्वारा कुछ सीटों पर जीत दर्ज की गई थी।

वहीं कांग्रेस ने पांच अन्य पार्टियों के साथ महागठबंधन किया है। इनमें ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, सीपीआई, सीपीआई (ML) और आंचलिक गंगा मोर्चा शामिल हैं।  मई 2016 में हुए असम विधान सभा चुनाव में वह भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार थे। चुनावों में पार्टी के विजयी होने के बाद सोनोवाल ने मई में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर