अफगानिस्तान से लाईं गईं गुरु ग्रंथ साहिब की तीन प्रतियां, सिख शरणार्थियों के लिए खास अपील

अफगानिस्तान से 78 भारतीय मंगलवार को भारत पहुंचे, खास बात यह है कि गुरु ग्रंथसाहिब की तीन प्रतियों को भी लाया गया है। इसके साथ ही सिख शरणार्थियों के लिए खास अपील भी की गई है।

Taliban in Afghanistan, three copies of Guru Granth Sahib, Hardeep Singh Puri, V Muraleedharan, Indian citizens returned from Afghanistan, Afghanistan Taliban News in Hindi
अफगानिस्तान से लाईं गईं गुरु ग्रंथ साहिब की तीन प्रतियां, सिख शरणार्थियों के लिए खास अपील 

मुख्य बातें

  • अफगानिस्तान से भारत लाईं गईं गुरु ग्रंथ साहिब तीन प्रतियां
  • दो केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वी मुरलीधरन अगवानी के लिए खुद गए एयरपोर्ट
  • दोनों मंत्री गुरु ग्रंथ साहिब की प्रतियों को सिर पर रखकर एयरपोर्ट से बाहर निकले

अफगानिस्तान पर तालिबानी कब्जे के बाद हालात खराब हो गए हैं। इन सबके बीच मंगलवार सुबह 46 सिख समेत 78 लोग दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचे। खास बात ये थी कि वो लोग अपने साथ गुरु ग्रंथ साहिब की तीन प्रतियों को भी लाए हैं। उन प्रतियों को रिसीव करने के लिए मोदी सरकार के दो मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वी मुरलीधरन एयरपोर्ट पहुंचे। गुरु ग्रंथ साहिब की तीनों प्रतियों को दोनों मंत्री और बीजेपी नेता आर पी सिंह सिर पर रखकर एयरपोर्ट के बाहर निकले। 

गुरुग्रंथ साहिब को सिर पर रखकर एयरपोर्ट से बाहर निकले मंत्री
केंद्रीय मंत्री हरतीप सिंह पुरी ने कहा कि वो प्रधान मंत्री को धन्यवाद देते हुए शुरू करना चाहता हूं जिन्होंने हमारे भाइयों को वहां (अफगानिस्तान) लाने के लिए इन बचाव कार्यों को अंजाम देना संभव बनाया। बाकी लोगों के लिए भी व्यवस्था की जा रही है। हम उनके साथ लगातार संपर्क में हैं।मैं इसे लागू करने के लिए विदेश मंत्रालय, विदेश मंत्री एस जयशंकर और विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन को बधाई देना चाहता हूं।

मनजिंदर सिंह सिरसा की खास अपील
मनजिंदर एस सिरसा, अध्यक्ष, दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति और शिरोमणि अकाली दल नेता ने कहा कि वो पीएम और एचएम से सीएए में संशोधन करने और कट-ऑफ की तारीख 2014 से 2021 तक बढ़ाने का अनुरोध करता हूं ताकि अफगानिस्तान से आने वाले लोग लाभान्वित हों और यहां एक सुरक्षित जीवन जी सकें और उनके बच्चे यहां पढ़ सकें।

अफगानिस्तान से भारत आने वाले नागरिकों का कहना है कि हर तरफ तालिबान का खौफ है, तालिबान भले ही कह रहे हों कि किसी को डरने की जरूरत नहीं है लेकिन जमीनी तस्वीर अलग है। लोगों में दहशत है, तालिबानी लड़ाके बेवजह लोगों को परेशान कर रहे हैं, जो कोई उनकी बातों की मुखालफत कर रहा है उसे धमकी दी जा रही है। एक तरह से अफगानिस्तान में जंगलराज है जो बाहरी लोग है वो किसी भी तरह से अपने अपने देश लौटना चाहते हैं। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर