Sawal Public ka: कुरान की सही व्याख्या JNU क्यों नहीं पढ़ना चाहता? 'धार्मिक कट्टरवाद' चैप्टर पर क्यों फसाद?

Sawal Public ka: 'सवाल पब्लिक का' में बात हुई JNU से जुड़े नए विवाद पर। इस बार आतंकवाद पर कोर्स चलाने को लेकर विवाद हुआ है। इसमें कट्टरपंथी आतंकवाद के बारे में बताया जाएगा। राज्यप्रायोजित आतंकवाद भी एक विषय है।

sawal public ka
सवाल पब्लिक का 

'सवाल पब्लिक का' में बात हुई जेएनयू में शुरू हुए एक नए कोर्स के बारे में। JNU में फिर बवाल है। बवाल इसलिए है कि वहां की एकेडमिक काउंसिल ने एक कोर्स लॉन्च किया है। इस कोर्स में धार्मिक कट्टररता और आतंकवाद को कैसे टैकल किया जाए इसे पढ़ाना है। इस कोर्स का नाम सुनते JNU के कुछ छात्रों, लेफ्ट समर्थित संगठनों को मिर्ची लग गई। वृंदा करात तक ने इसके खिलाफ मोर्चा खोल दिया। सबसे पहले जानें कि ये कोर्स क्या है..किन छात्रों के लिए है..क्या पढ़ाया जाएगा..एक-एक बात समझिए

JNU में क्या है 'COUNTER TERRORISM' कोर्स?

कोर्स का पूरा नाम : Counter Terrorism, Asymmetric Conflicts and Strategies for Cooperation among Major Powers
हिंदी में मतलब : 'आतंकवाद,असममित संघर्ष और प्रमुख शक्तियों के बीच सहयोग के लिए रणनीतियां'  

JNU में किन छात्रों के लिए 'COUNTER TERRORISM' कोर्स?

B-TECH के बाद इंटरनेशनल रिलेशन में MA करने वाले छात्रों के लिए ऑप्शनल कोर्स
Dual डिग्री प्रोग्राम के इंजीनियरिंग छात्रों के लिए कोर्स
17 अगस्त 2021 को JNU अकादमिक परिषद में कोर्स को मंजूरी मिली

जेएनयू COUNTER TERRORISM कोर्स में क्या पढ़ाया जाएगा?

कट्टरपंथी धार्मिक आतंकवाद ने 21वीं सदी में आतंकवादी हिंसा को जन्म दिया
कुरान की गलत व्याख्या की वजह से जेहादी हिंसा को बढ़ावा मिला
सुसाइड अटैक का कैसे आतंकवाद में मौत का महिमामंडन किया जाता है
कट्टरपंथी इस्लामी धार्मिक मौलवियों ने साइबर स्पेस के जरिए आतंकवाद का प्रचार किया
USSR और चीन ने बड़े पैमाने पर राज्य प्रायोजित आतंकवाद को बढ़ावा दिया
कुछ देशों ने कैसे उग्रवादियों और आतंकवादियों को हथियार मुहैया कराए

सवाल पब्लिक का में उठे ये सवाल

कुरान की सही व्याख्या..JNU क्यों नहीं पढ़ना चाहता?
'जेहाद' का सही अर्थ..ठीक से नहीं समझे तो अनर्थ?
न्यू चैप्टर 'धार्मिक कट्टरवाद'..JNU में क्यों फसाद?
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर