लॉकडाउन में हो रहे हैं बोर! महामारियों पर लिखी ये 5 बेहतरीन किताबें पढ़िए, जागरुकता के साथ जानकारी बढ़ाएं

देश
 सृष्टि वर्मा
Updated May 08, 2020 | 17:18 IST

कोरोना के पहले कई ऐसी महामारियां आई हैं जिसने दुनिया को हिला कर रख दिया है। लॉकडाउन पीरियड में आज हम आपको ऐसी ही कुछ बेहतरीन किताबों के बारे में बताने जा रहे हैं जो महामारियों पर लिखी गई हैं।

books on pandemics
महामारियों पर लिखी ये किताबें पढ़िए (source:pixabay)  |  तस्वीर साभार: Representative Image

मुख्य बातें

  • कोरोना वायरस के पहले कई महामारियां आईं जिसने दुनिया को हिला कर रख दिया था
  • लॉकडाउन पीरियड में पढ़ें ऐसी किताबें जो महामारियों पर लिखी गईं
  • इसे पढ़कर ना सिर्फ आपका समय अच्छे से कटेगा बल्कि आपकी जानकारी भी बढ़ेगी

कोरोना वायरस की इस महामारी के दौर में आज अगर किसी चीज की सबसे ज्यादा जरूरत है तो वो है जागरुकता की। बचाव के लिए पहला कदम ही जागरुकता है। इसे लेकर तरह-तरह की अफवाहें फैलाई जा रही हैं और लोग भ्रमित हो रहे हैं। यही कारण है कि सरकार ने इससे बचाव के लिए देशव्यापी लॉकडाउन घोषित कर दिया ताकि लोग संक्रमण से भी बच सकें और अफवाहों से भी। इस महामारी ने दुनिया को एक बार फिर से कई साल पीछे लाकर खड़ा कर दिया है। जन स्वास्थ्य के क्षेत्र में बढ़ती परेशानियां तो आर्थिक परेशानियां और इनके साथ-साथ बेरोजगारी की समस्या।

ये ऐसी पहली महामारी नहीं है जिसने दुनिया को अपने निशाने पर लिया है इससे पहले भी कई ऐसी महामारियां आई हैं जिसने दुनिया को हिला कर रख दिया है। लॉकडाउन पीरियड में आज हम आपको ऐसी ही कुछ बेहतरीन किताबों के बारे में बताने जा रहे हैं जो महामारियों पर लिखी गई हैं। इसे पढ़कर ना सिर्फ आपका लॉकडाउन का समय अच्छे से कटेगा बल्कि आपकी जानकारी भी बढ़ेगी और आप जागरुक भी होंगे।
जानते हैं कौन-कौन से हैं वे किताब-

The Great Influenza: The Story of the Deadliest Pandemic in History (लेखक- John Barry)
1918 में ये बीमारी शुरू हुई थी। इस महामारी पर लेखक जॉन ने अपने किताब में पूरी जानकारी दी है। ये एक नॉन फिक्शन किताब है जिसमें फैक्ट्स के साथ बीमारी के बारे में बताते हुए उसके बारे में काफी अहम जानकारियां दी गई है। यह प्रथम विश्व युद्ध के दौरान फैला था। ये महामारी इतनी खतरनाक थी कि महज दो साल के अंदर ही इसने दुनिया की  फीसद आबादी को खत्म कर दिया था। फिर वैज्ञानिकों ने इससे लड़ने का तरीका खोजा।

The great trouble: A Mystery of London, The Blue Death (लेखक- DeborahHopkinson)
19वीं सदी के दौरान हैजा नामक एख भयंकर महामारी पूरी दुनिया में फैली थी। विकासशील देशों से लेकर विकसित देशों तक को इसने अपनी चपेट में ले लिया था और कई लाख लोगों की जानें गई थी। इस बीमारी ने लंदन में भी काफी तबाही मचाई थी। लेखक ने इसमें लंदन के प्लॉट को लेकर बताया है कि किस तरह लंदन को इस महामारी ने अपनी चपेट में ले लिया था। एक अनाथ युवक ने एक डॉक्टर के साथ मिलकर फिर इस महामारी का इलाज खोजा था। इस बीमारी ब्लू डेथ नाम दिया गया था। यह एक फिक्शन किताब है। 

Invisible Enemies (लेखक- Jeanette Farrell)
1998 में ये किताब पब्लिश हुई थी। सिएटल के एक डॉक्टर ने इस किताब को लिखा है जिसमें दुनिया के सात सबसे खतरनाक महामारियों के बारे में बताया गया है। मलेरिया से लेकर एड्स, हैजा और चेचक तक के बारे में इस किताब में बताया गया है। 

The Secret of the Yellow death (लेखक- Suzanne Jurmain)
अमेरिकी डॉक्टरों की एक टीम ने 1900 में क्यूबा का दौरा किया था जहां पर उस दौरान पीली बुखार ने अपनी महामारी फैला रखी थी। इन डॉक्टरों ने किस तरह वहां जाकर उस महामारी पर काबू पाया था और उसका इलाज निकाला था इस किताब में इसका काफी अच्छे से वर्णन किया गया है।

The Plague (लेखक- Albert Camus)
ये किताब 1947 में पब्लिश की गई थी। इसमें प्लेग बीमारी के बारे में बताया गया है। किस तरह ये महामारी फैली थी और किस तरह इसका इलाज खोजा गया था। इस किताब में फ्रांस के शहर ओरान का प्लॉट लिया गया है। यहां प्लेग कैसे आया और किस तरह लोग इसकी चपेट में आए इसके बारे में विस्तार से बताया गया है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर