Rashtravad: बिहार में शराबबंदी खत्म होने वाली है? जब घर-घर 'होम डिलिवरी' तो शराबबंदी का क्या फायदा?

Rashtravad में चर्चा की गई बिहार में जहरीली शराब से हुई मौतों पर। शराब पीने से राज्य में 90 लोगों की मौत हुई। इससे बिहार में जारी शराबबंदी पर सवाल उठ रहे हैं। आखिर यह कैसी शराबबंदी है, जिसमें लोगों को ना सिर्फ शराब मिल रही है बल्कि जहरीली शराब भी बेची जा रही है।

Rashtravad
राष्ट्रवाद...देश से बढ़कर कुछ नहीं 

पूरे देश में बिहार में शराबबंदी चर्चा में है। चर्चा में इसलिए है कि शराबबंदी में बिहार में जहरीली शराब पीकर 30 से ज्यादा लोगों की जान चली गई। गोपालगंज से लेकर पटना तक हाहाकार मचा हुआ है। विपक्ष सवाल पर सवाल कर रहा है कि शराबबंदी वाले स्टेट में शराब पीकर लोग मर कैसे रहे हैं। लेकिन विपक्ष को तो नीतीश सरकार ने चुप करा दिया। अब बीजेपी ने ही सवाल खड़े कर दिए हैं। बिहार बीजेपी के अध्यक्ष संजय जयसवाल कह रहे हैं कि शराबबंदी पर समीक्षा की जरूरत है। सिर्फ बीजेपी ही नहीं खुद बिहार के CM कह रहे हैं छठ बीत जाने दीजिए शराबबंदी पर पूरी समीक्षा होगी। नीतीश कुमार के इस बयान के बाद लोगों ने ये मतलब भी निकाला कि शराबबंदी क्या खत्म कर दी जाएगी।

अब सवाल उठता है कि नीतीश सरकार ने जिस कानून को जोर-शोर से उठाकर महिलाओं का वोट लिया। उस शराबबंदी पर सवाल क्यों उठ रहे हैं। हमने कुछ रिसर्च की है और मोटे तौर पर कुछ प्वाइंटर्स आपके सामने रख रहे हैं। आपको समझाते हैं कि सवाल क्यों उठ रहे हैं?
 
'नीतीश की शराबबंदी' पर सवाल इसलिए?

  • 'होम डिलिवरी' कॉकस पर कानून फेल करने का आरोप
  • बार-बार जहरीली शराब की चपेट में आम लोग 
  • इस साल आधिकारिक तौर पर 90 से ज्यादा मौतें
  • लोकल पुलिसिंग पर अनावश्यक दबाव 
  • पुलिस-माफिया मिलिभगत का बड़ा खेल 
  • 'एंटी सोशल एलिमेंट' के ताकतवर होने का आरोप
  • बिहार जैसे गरीब राज्य को बड़े राजस्व का नुकसान 
  • 6 सालों में 48 हजार करोड़ से ज्यादा नुकसान की आशंका
  • करीब 2 लाख करोड़ लीटर अवैध शराब पकड़े गए ,कैसे आए ? 
  • 3 लाख लोगों पर पुलिस एक्शन, इसमें 90% गरीब 
  • शराबबंदी उल्लंघन के 2 लाख से ज्यादा मामले 
  • बिहार के आस-पास के राज्यों में शराबबंदी नहीं 
  • यूपी,झारखंड,बंगाल से शराब की तस्करी 
  • नेपाल से भी अवैध शराब की तस्करी 
  • नशे के दूसरे तरीकों पर सख्ती से रोक नहीं 

सवाल इतने ही नहीं है, सवाल कई और हैं। CIABC यानी Confederation of Indian Alcoholic Beverage Companies ने पिछले महीने एक प्रजेंनटेशन नीतीश सरकार के सामने रखा, उसमें क्या है। 

बिहार में शराबबंदी खत्म होगी?

  • CIABC ने कानून को फेल बताया 
  • CIABC ने CM के सामने दिसंबर में प्रेजेन्टेशन दिया 
  • राज्य बीजेपी अध्यक्ष ने मांग की 
  • दावों में विपक्ष कानून को पूरी तरह फेल बता रहा
  • आंकड़े कानून जारी रखने के फेवर में बेहद कमजोर 
  • CM नीतीश ने भी माना शराबबंदी की समीक्षा की जरूरत 

राष्ट्रवाद में सवाल ये है कि क्या 

  • बिहार में शराबबंदी खत्म होने वाली है? 
  • जब घर-घर 'होम डिलिवरी' तो शराबबंदी का क्या फायदा? 
  • कमजोर शराबबंदी से सरकारी खजाने पर 'डाका'..माफिया को मौका-मौका? 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर