Rashtravad: बांग्लादेश में 'अफवाह' बहाना, अल्पसंख्यक निशाना? CAA विरोधी कहां हैं...बोलते क्यों नहीं?

Rashtravad: बांग्लादेश में सांप्रदायिक हिंसा फैली हुई है। यहां कई दुर्गा पंडालों को निशाना बनाया गया है। हिंदू समुदाय के लोगों पर हमले की घटनाएं हो रही हैं। मूर्तियों के साथ तोड़-फोड़ की गई, इस्कॉन मंदिर में तोड़फोड़ की गई।

Rashtravad
राष्ट्रवाद...देश से बढ़कर कुछ नहीं 

पिछले कुछ दिनों से बांग्लादेश में जो हो रहा है...उस पर हिन्दुस्तान में घनघोर चुप्पी परेशान करती है। जो लोग विरोध में उतरे हैं वो कुछ संगठन हैं। लेकिन अंदाजा लगाइए...अगर ऐसा ही कहीं दूसरे धर्म विशेष या मुस्लिम के लिए होता तो क्या यही चुप्पी होती। शायद नहीं। तब देश की अस्मिता खतरे में पड़ गई होती। आपको याद होगा कि रोहिंग्या को शरण दिलवाने के लिए इस देश में किस तरह से कैंपेन चलाए गए। सुप्रीम कोर्ट से लेकर हर जगह एक रैकेट सक्रिय हो गया। जो प्रेशर ग्रुप है उसने आखिरी कोशिश की। लेकिन आज वो प्रेशर ग्रुप कहां है...क्यों भाई...न कोई ट्वीट...न कोई आवाज...न कोई बात। अब सबको सांप सूंघ गया क्या? 

बांग्लादेश में एक अफवाह के बाद जो साजिश चल रही है और ये कहने में कोई गुरेज नहीं कि हो सकता है ये वही बात है, जिसमें जीरो फीसदी हिंदू थ्योरी की बात सुनने में आती है क्योंकि जब ये साफ हो गया कि पवित्र कुरान को लेकर, जो मैसेज फैलाया गया तो मॉर्फ्ड तस्वीर थी। वो सफेद झूठ था। फिर नवरात्र से शुरू हुआ सुनियोजित दंगा आज तक बांग्लादेश में जारी क्यों है। 

नवरात्र से जारी हिंसा में क्या-क्या हुआ?

  • मंदिर तोड़े - 30 जिले में 300 से ज्यादा 
  • पूजा पंडाल - 25 से ज्यादा 
  • मूर्तियां तोड़ी - 325 से ज्यादा 
  • कितने लोग मरे - 10 से ज्यादा 
  • कितने घर जलाए - 1500 से ज्यादा 
  • कितने लोग विस्थापित - 10 हजार से ज्यादा 
  • एक्शन क्या हुआ - 151 गिरफ्तार, 25 केस फाइल 

मतलब हद हो रखी है बांग्लादेश में। लेकिन हद की इंतेहा हो रखी है अपने देश में भी। आपको याद है कि CAA के विरोध में दाना-पानी लेकर धरने पर बैठे लोग...कौन सा डर दुनिया को बेच रहे थे...वो कह रहे थे कि हिंदू राष्ट्र बनाने की साजिश है। CAA में मुस्लिम शब्द क्यों नहीं है। अरे भाई, दुनिया में किस गैर मुस्लिम देश से मुसलमान भगाए गए। म्यांमार में अगर कुछ हुआ भी तो शरण देने के लिए 100 से ज्यादा देश हैं। लेकिन हिंदू, सिख, जैन, पारसी, ये कहां जाएंगे...एक ही रास्ता दिखता है हिंदुस्तान। 

राष्ट्रवाद में उठे ये सवाल:

  • 'अफवाह' बहाना..अल्पसंख्यका आबादी निशाना?
  • बांग्लादेश एग्जांपल है..CAA 100% सही है? 
  • 'अल्पसंख्यक' खतरे में होंगे..कहां शरण पाएंगे? 
     

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर