News ki Pathshala: कृषि कानून पर सबसे बड़े समर्थक Vs सबसे बड़े विरोधी, जानें किसने क्या कहा

News ki Pathshala: न्यूज की पाठशाला में बात हुई कृषि कानूनों की। कृषि कानूनों के सबसे बड़े विरोधी और इन कानूनों के समर्थक के बीच बहस हुई।

News Ki Pathshala
न्यूज की पाठशाला 

न्यूज की पाठशाला में बताया गया कि कृषि कानूनों का 'आखिरी चैप्टर' अभी बाकी है! कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट के एक्सपर्ट पैनल ने 19 मार्च को अपनी रिपोर्ट दी थी। अब तक पता नहीं चला कि रिपोर्ट में क्या है। कृषि कानून वापस हो गए, रिपोर्ट कहां है? एक्सपर्ट पैनल के मेंबर अनिल घनवत जो महाराष्ट्र के बड़े किसान संगठन के नेता हैं, महाराष्ट्र के शेतकारी संगठन के अध्यक्ष हैं उन्होंने सुप्रीम कोर्ट को दूसरी बार चिट्ठी लिखी है। पहली चिट्ठी उन्होंने सितंबर में लिखी थी और दूसरी चिट्ठी उन्होंने आज चीफ जस्टिस को लिखी है। अनिल घनवत ने जो चिट्ठी लिखी है, इसमें बड़ी बातें ये हैं कि सुप्रीम कोर्ट खुद रिपोर्ट सार्वजनिक करे या फिर कमेटी से कह दे। रिपोर्ट में कई ऐसी बातें हैं, जिनसे व्यापक जनहित जुड़ा है। रिपोर्ट से उन किसानों की आशंकाएं दूर होंगी, जिन्हें कुछ नेताओं ने गुमराह किया है। कृषि कानून वापस होने से बड़ी संख्या में किसान निराश हुए हैं, कृषि कानून भले ही वापस हो गए, लेकिन सुधारों को रोका ना जाए।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर