गांधी परिवार से जुड़े एक और ट्रस्ट पर घोटाले का आरोप, बागी MLA अदिति सिंह ने उठाए सवाल

बागी कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने कमला नेहरू एजुकेशनल सोसाइटी के कामकाज में कथित अनियमितताओं की जांच की मांग की। बीजेपी ने इस पर गांधी परिवार को घेरा है।

aditi sigh
अदिति सिंह 

नई दिल्ली: कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने कमला नेहरू एजुकेशनल सोसाइटी पर फर्जीवाड़े का आरोप लगाया है और इस संबंध में आर्थिक अपराध शाखा को लिखा है। कमल नेहरू एजुकेशनल ट्रस्ट को 100 करोड़ रुपए की जमीन दी गई थी, जिसे पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के शासनकाल से ही गांधी परिवार के वफादारों द्वारा चलाया जा रहा है। अदिति सिंह ने ट्वीट किया, 'बच्चियों की पढ़ाई को बढ़ावा देने के नाम पर 'जमीन ली गई, दशकों बाद भी उसका कोई इस्तेमाल नहीं किया। और अब उस जमीन को करोड़ो में बेचने की फिराक में हैं। कमला नेहरू एजुकेशनल सोसाइटी के उस फर्जीवाड़े और भारी पैसे की गड़बड़ी की जांच के लिए मैने आज आर्थिक अपराध शाखा को पत्र लिखा है।'

उनके इस ट्वीट पर बीजेपी आईटी सेल के इंचार्ज अमित मालवीय ने लिखा है, 'जमीन हड़पने की बीमारी सिर्फ दामाद को ही नहीं, पूरे नेहरू-गांधी परिवार को है...'

ट्रस्ट को 5 बीघा सरकारी जमीन महिला डिग्री कॉलेज बनाने के लिए आवंटित की गई थी, हालांकि, 40 साल से अधिक समय बीत चुका है लेकिन एक कॉलेज का निर्माण होना अभी बाकी है। TIMES NOW से बात करते हुए रायबरेली सदर से विधायक अदिति सिंह ने कहा, 'कमला नेहरू एजुकेशन सोसाइटी को 1960 के दशक के अंत में बनाया गया था और इसके संस्थापक सदस्य थे शीला कौल, यशपाल कपूर और उमा शंकर दीक्षित। उन्हें यह जमीन आवंटित की गई थी, जो कि सही तरीके से नहीं की गई थी; आवंटन में खामियां थीं।'

उन्होंने कहा कि नजूल भूमि 30 वर्ष की अवधि के लिए दी गई थी, जिस पर उन्हें एक बालिका शिक्षा संस्थान का निर्माण करना था जो कभी नहीं हुआ। कुछ समय के बाद उन्होंने पट्टे को फ्रीहोल्ड में बदल दिया और फिर उन्होंने इसे बेचने की कोशिश की। फ्रीहोल्ड भी अवैध रूप से किया गया था क्योंकि भूमि को फ्रीहोल्ड करने का नियम है कि आपके पास जमीन का स्वामित्व होना चाहिए।

अदिति सिंह ने आगे कहा, 'भूमि में अब लगभग 112 परिवार रहते हैं और वहां काम कर रहे हैं, 600-700 लोगों के पास अपने घर और निवास हैं और वे 30-45 वर्षों से वहां हैं। अब, सोसाइटी भूमि के विभिन्न पक्षों के साथ बिक्री समझौते बना रहा है। मैं सवाल करना चाहती हूं कि क्या उन्होंने मुनाफा कमाने के लिए जमीन का अधिग्रहण किया?'

गौर करने वाली बात है कि यशपाल कपूर इंदिरा गांधी के निजी सहायक थे और उमा शंकर दीक्षित स्वर्गीय शीला दीक्षित के ससुर थे। शीला कौल ने कांग्रेस शासन के दौरान केंद्रीय मंत्री के रूप में काम किया था। सोसाइटी के वर्तमान प्रमुख सदस्य स्वर्गीय शीला कौल के दो पुत्र हैं- विक्रम कौल और गौतम कौल। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद ट्रस्ट के वर्तमान सदस्य हैं।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर