Maharashtra Political Crisis: शिंदे को मिला 6 सांसदों का भी साथ, Uddhav Thackeray से कहां और कैसे हो गई चूक?

सूरत की होटल में शिवसेना का एक और विधायक पहुंच गए हैं। कुल 4 विधायकों को देर रात एरपोर्ट से गुवाहाटी ले जाया गया। खबरों की मानें तो आज भी कुछ शिवसेना विधायक गुप्त तरीके से सूरत आ सकते है।

Maharashtra Political Crisis Where and how did Uddhav Thackeray went wrong
उद्धव के हाथ से दोनों गए, विरासत मिली न सत्ता! 
मुख्य बातें
  • विधायकों के बाद अब शिवसेना सांसदों में भी फूट, करीब 6 सांसदों ने एकनाथ गुट को समर्थन दिया
  • उद्धव के हाथ से दोनों गए, विरासत मिली न सत्ता!
  • पवार का पावर, शिवसेना की शक्ति शिंदे पर बेअसर?

Maharashtra Political Crisis Latest Update News: महाराष्ट्र में एकनाथ शिंदे ने जो खेल किया है। उससे पार्टी न टूटती नजर आ रही है बल्कि सरकार गिरती नजर आ रही है। तो सवाल है कि क्या इस संकट से उद्धव अपनी पार्टी को बचा पाते हैं या नहीं ? बुधवार को सूरत और गुवाहाटी से आई कुछ तस्वीरों ने ना सिर्फ शिवसेना बल्कि पूरे महाअघाड़ी गठबंधन के ब्लड प्रेशर को बढ़ाकर रखा। दिन भर मुंबई में बैठकों का दौर चलता रहा और गुवाहाटी में एकनाथ शिंदे की टीम बढ़ती रही और शिवसेना कहती रही कि वो वापस आ जाएंगे।

सूत्रों के मुताबिक शिवसेना विधायकों के बाद अब शिवसेना के सांसदों का समर्थन भी एकनाथ शिंदे को मिल रहा है। वासिम की सांसद भावना गावित, पालघर सांसद राजेंद्र गावित, ठाणे सांसद राजन विचारे, कल्याण सांसद श्रीकांत शिंदे, और रामटेक सांसद कृपाल तुमाने ने अपना समर्थन एकनाथ शिंदे को दिया है। सांसद राजन विचारे तो 3 दिन से गुवाहाटी में ही मौजूद है।

बढ़ता जा रहा है शिंदे का कुनबा

बुधवार तक कहा जा रहा था कि 38 विधायक हैं जो एकनाथ शिंदे के साथ सूरत से गुवाहाटी पहुंचे है और आज सुबह आते-आते कुछ और विधायक उद्धव का साथ छोड़कर गुवाहाटी पहुंच गए।  इस तरह गुवाहाटी में शिंदे समर्थक महाराष्ट्र के विधायकों की संख्या 44 के पार पहुंच गई है। सूत्रों के मुताबिक बुधवार को जो चार विधायक गुवाहाटी पहुंचे उनमें चंद्रकांत पाटिल, योगेश कदम, मंजुला गावित और गुलाबराव पाटिल शामिल हैं। मंजुला गावित और चंद्रकांत पाटिल निर्दलीय विधायक हैं, जबकि योगेश कदम और गुलाबराव पाटिल शिवसेना विधायक हैं।

महाराष्ट्र में बन रहे नए सियासी समीकरण, बन सकती हैं ये 4 संभावनाएं, समझें

उद्धव सरकार का गिरना तय

नंबर गेम की बात करें तो एकनाथ शिंदे के दावे के मुताबिक उनके साथ इतने शिवसेना विधायक हैं कि दलबदल कानून अप्रभावी हो जाता है। यानी उद्धव सरकार का बचना जरा मुश्किल लग रहा है। सरकारी आवास छोड़कर उद्धव ठाकरे ने एकनाथ शिंदे के लिए मुख्यमंत्री पद का ऑफर देने की बात कहने वाले शरद पवार ने और कांग्रेस ने शिवसेना के पाले में गेंद डालकर ये संदेश दे दिया कि उद्धव सरकार तो गई

आज चले जाएगी सरकार!

एकनाथ शिंदे अपनी टीम बढ़ा रहे हैं और मुंबई में मौजूद शिवसेना नेता संजय राउत शिवसैनिकों के गुस्से की दुहाई दे रहे हैं। महाराष्ट्र में अब तक सरकार महाअघाड़ी की है मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे हैं। कितनी देर और रहेंगे ये कहना जरा मुश्किल है और शिवसेना शिवसैनिकों के गुस्से की धमकी देने से बेहतर एकनाथ शिंदे को मनाने की कोशिश करे तो शायद उनकी सरकार बच सकती है।

महाराष्ट्र: शिवसेना में बगावत, मुश्किल में MVA सरकार, इन 29 विधायकों की भूमिका हुई अहम

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर