किराना घराना: भीमसेन जोशी, गंगूबाई हंगल के 'कैराना' का सांस्कृतिक इतिहास जानिए, देखें ये VIDEO

आपको कैराना तो याद होगा ये वही जगह है, जहां आज से 5 साल पहले हिंदू परिवारों ने अपने घरों को छोड़कर भागना शुरू कर दिया था, लेकिन आज हम आपको कैराना के बारे में एक अलग ही पहलू से रू-बरू करा रहे हैं।

Cultural History of Kairana
कैराना ये वही जगह हैं जहां तैयार हुए कलाकार देश विदेश में अपनी खुशबू बिखेर रहे हैं 

नई दिल्ली: प्रसिद्ध 'किराना घराना' ने दुनियाभर में कैराना को शोहरत दिलाई, इस घराने की धरोहरों ने शास्त्रीय संगीत के जरिए कैराना को पूजनीय बना दिया। सोमवार को उत्तर प्रदेश  के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उसी कैराना में गए और उन्होंने कहा कि अब किसी को डरने की जरूरत नहीं है उन्होंने अपराधियों को खुली चुनौती भी दी।

कैराना (Kairana) ये वही जगह हैं जहां तैयार हुए कलाकार देश विदेश में अपनी खुशबू बिखेर रहे हैं, इसका श्रेय 'किराना घराना' को जाता है। अब ऐसा माना जाता है कि किराना या कैराना ही वो जगह हैं जहां बाढ़ की विभीषिका से तबाह हुए लोगों को मुगल बादशाह जहांगीर ने फिर से बसाया था, देश के कई सारंगी और सितार वादकों का मूल भी कैराना में है।

बाद के दिनों में कई संगीतकार और गायक कैराना से बाहर निकले और दुनियाभर में गए। ये घराना देश के सभी घरानों में सबसे ज्यादा गायकों वाला घराना भी कहा जाता है, इस घराने की शुरुआत से अबतक का इतिहास इस वीडियो में जानिए-
 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर