2100 KM का सफर, पास में सिर्फ 1000 रुपए, बीमार पिता से मिलने साइकिल पर निकला ये शख्स, देखें पूरी कहानी

मुंबई से एक शख्स अपने बीमार पिता से मिलने के लिए साइकिल लेकर जम्मू के लिए निकल पड़ता है। उसका पूरा सफर कैसे पूरा होता है, कौन उसकी मदद को आगे आता है, देखें ये दिलचस्प कहानी।

arif
मोहम्मद आरिफ 

कोरोना संकट कई लोगों पर कहर बनकर टूटा है। देश के कई हिस्सों में लाखों प्रवासी मजदूरों पर इसका संकट बुरी तरह से गहराया है। लॉकडाउन लगने से मजदूरों के पास न काम बचा, जिससे उनको खाने की किल्लत हुई और उनके रहने का भी प्रबंध न हो सका। ऐसे में लाखों मजदूर पैदल ही सैकड़ों-हजारों किलोमीटर दूर अपने घरों की ओर निकल पड़े। यहां हम आपको एक ऐसे ही शख्स की कहानी बता रहे हैं, जो अपने गृह नगर से सैकड़ों किलोमीटर दूर काम करने आया, लेकिन जब उसे वापस जाना था तो उसे कुछ नहीं मिला। 

काम के लिए जम्मू से मुंबई आए मोहम्मद आरिफ के पिता की तबीयत लॉकडाउन के दौरान खराब हो जाती है। ऐसे में आरिफ अपने पिता के पास जाना चाहता है, लेकिन लॉकडाउन की वजह से उसे कोई वाहन नहीं मिलता और उसके पास सिर्फ 1000 रुपए थे। ऐसे में वो एक साइकिल से मुंबई से जम्मू के राजौरी के लिए चल पड़ता है। 

पूरी कहानी आरिफ के सफर पर है, कि कैसे वो इस सफर की शुरुआत करता है, रास्ते में उसे किन मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। इस दौरान उसे कई प्रकार की अलग-अलग तरह से मदद भी मिलती है। इस वीडियो में जानें कि आखिर कैसे आरिफ 2000 किलोमीटर से ज्यादा लंबा अपना सफर पूरा कर पाता है। कैसे वो अपनी बीमार पिता से मिल पाता है। ये पूरी कहानी काफी दिलचस्प है। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर