उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने जूतों को किया साफ, 'पंज प्यारे' टिप्पणी के बाद थे चर्चा में

पंजाब राज्य के प्रभारी और कद्दावर कांंग्रेस नेता हरीश रावत ने गुरुद्वारे में जाकर जूतों को साफ किया और पंज प्यारे के संबंध में जो टिप्पणी की थी उस सिलसिले में प्रायश्चित भी किया।

Harish Rawat, Harish Rawat cleaned shoes, commented on Panj Pyare, Punjab Congress crisis, Navjot Singh Sidhu, Captain Amarinder Singh
उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने गुरुद्वारे में जूतों को साफ किया 

मुख्य बातें

  • उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने गुरुद्वारे में जूतों को साफ कर प्रायश्चित की
  • नवजोत सिंह सिद्धू और चार कार्यकारी अध्यक्ष को पंज प्यारे से नवाजा, सिख समाज भड़का
  • हरीश रावत में माफी मांग कर प्रायश्चित करने की बात कही थी

पंजाब में नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर के बीच की तल्खी कम करने की कोशिश नें राज्य प्रभारी ने हरीश रावत ने खुद विवादित बयान दे दिया था, हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि वो अपने बयान के लिए माफी मांगते हैं और उसके लिए प्रायश्चित करेंगे।
उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ने गुरुद्वारे में जूते साफ किए और झाड़ू लगाकर पश्चाताप किया।

पंज प्यारे कमेंट के बाद निशाने पर थे हरीश रावत
दरअसल हरीश रावत में कुछ दिन पहले एक बयान दिया था, जिसमें उन्होंने सिखों के पंच प्यारों की तुलना अपने पार्टी के कार्यकारी अध्यक्षों के साथ की थी उस पर हरीश रावत ने सोशल मीडिया पर माफी मांगते हुए कहा था कि वह इस बात का पश्चाताप करेंगे और इसके लिए गुरुद्वारे में सेवा करेंगे। दरअसल हरीश रावत जब सिद्धू के संबंध में बात कर रहे थे तो नवजोत सिंह सिद्धू के साथ साथ चार कार्यकारी अध्यक्षों को पंज प्यारे की संज्ञा दी। हरीश रावत के इस बयान के बाद सिख समाज भड़क उठा।

प्रभारी पद छोड़ने की हरीश रावत ने पेशकश भी की थी
हरीश रावत ने कहा कि उनका मकसद किसी को दुख नहीं पहुंचाना था। लेकिन लोगों को जो कष्ट पहुंचा है उसके लिए माफी के साथ साथ वो प्रायश्चित भी करेंगे। बता दें कि सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह खेमे में मोर्चेबंदी को देखते हुए उन्होंने खुद प्रभारी पद छोड़ने की पेशकश की। बता दें कि हाल ही में नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहाकारों के बयान के बाद एक बार फिर कैप्टन अमरिंदर सिंह गुट से तनातनी बढ़ गई थी। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर