PM मोदी को लेकर कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोल, कहा- जो अपनी मां-पत्नी का नहीं हुआ तो वो देश का क्या होगा

देश
किशोर जोशी
Updated Jan 13, 2020 | 21:23 IST

संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ दिल्ली के जामिया इलाके में पिछले कई दिनों से विरोध प्रदर्शन जारी हैं। सोमवार को कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने पीएम मोदी को लेकर विवादित बयान दिया है।

Congress MLA Irfan Ansari targets PM Modi says one who left his mother, wife cannot be trusted
जो अपनी मां का नहीं हुआ तो वो देश का क्या होगा: कांग्रेस MLA  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में आयोजित एक विरोध प्रदर्शन के दौरान इरफान अंसारी ने दिया विवादित बयान
  • कांग्रेस विधायक अंसारी बोले- जो अपनी मां- पत्नी का नहीं हुआ वो देश का क्या होगा
  • झारखंड से कांग्रेस विधायक अंसारी ने कहा कि हमारे राज्य में नहीं लागू होगा एनआरसी

नई दिल्ली: कांग्रेस नेता और झारखंड के जामतारा से विधायक डॉक्टर इरफान अंसारी ने दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में आयोजित एक विरोध प्रदर्शन के दौरान नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और एनआरसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। इस दौरान उन्होंने पीएम मोदी का नाम लिए बगैर उन पर निशाना साधते हुए कहा कि जो अपनी मां और पत्नी का नहीं हो सका वो देश का क्या होगा।

एक जनसभा को संबोधित करते हुए इरफान ने कहा, 'मैं चुनौती देता हूं अमित शाह और मोदी जी को। मोदी जी जो हैं आप लोग नहीं जानते हैं, जो अपनी मां, अपनी पत्नी का नहीं हुआ वो देश का क्या होगा। आज हमारा देश यहां के युवा रोजगार चाहते हैं, विकास चाहते हैं लेकिन उनको रोजगार नहीं मिलेगा लेकिन अब हमें प्रमाण देना पड़ेगा कि हम देश के नागरिक हैं या नहीं। आप कौन हैं भाई? किसी भी कीमत पर आप लोगों को फरमान देने की आवश्यकता नहीं है। हम लोगों ने तय कर लिया है, क्योंकि हमारी सरकार बन चुकी हैं और झारखंड में एनआरसी औऱ ये कानून लागू नहीं होने देंगें।'

बाद में अपने बयान पर सफाई देते हुए ने कहा, जामिया मिलिया इस्लामिया में आज प्रदर्शनकारियों से बात करते हुए मैंने कहा था कि मोदी जी हर किसी के नेता हैं और उन्हें हमारे लिए घृणा नहीं करनी चाहिए। वह आदिवासियों, दलितों, अल्पसंख्यकों की आवाज नहीं सुनते हैं और ऐसे कानून ला रहे हैं जो लोगों को परेशान करता है।

सोमवार को जामिया कैंपस में पिछले महीने हुई हिंसा के सिलसिले में दिल्ली पुलिस के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग को लेकर सैकड़ों छात्रों ने कुलपति नजमा अख्तर के कार्यालय का घेराव किया। अख्तर ने छात्रों को आश्वासन दिया कि दिल्ली पुलिस ने बिना अनुमति के परिसर में प्रवेश किया और पुलिस के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया कल से शुरू होगी।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर