अग्निपथ पर भ्रम दूर करने वाला इंटरव्यू, नेवी चीफ बोले- कम्युनिकेशन की कमी से युवा सड़कों पर 

अग्निपथ योजना के खिलाफ देश भर में विरोध प्रदर्शन तेज हो गया है। इसी बीच टाइम्स नाउ नवभारत ने नेवी चीफ एडमिरल आर हरि कुमार से खास बातचीत की। नेवी चीफ ने कहा कि कम्युनिकेशन की कमी की वजह से युवा सड़कों पर हैं। उनके पास सही जानकारी पहुंचाई जाए। 

Confusion clearing interview on Agnipath, Navy Chief Admiral R Hari Kumar said youth on roads due to lack of communication
अग्निपथ योजना का विरोध कर रहे युवाओं से नेवी चीफ ने कहा कि आपका भविष्य उज्ज्वल है। 

सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना के विरोध में युवा देश भर में आंदोलन कर रहे हैं। इसी बीच भारतीय नौसेना के चीफ एडमिरल आर हरि कुमार से टाइम्स नाउ नवभारत की एडिटर इन चीफ नाविका कुमार ने खास बातचीत की। नेवी चीफ ने सभी सवालों के बेबाकी से जवाब दिये। उन्होंने कहा कि युवाओं में आक्रोश मिस इंफॉर्मेशन से है। अफवाहों की वजहों से हंगामा है। युवाओं को सही जानकारी नहीं है। इसलिए युवाओं को सही जानकारी दी जाए। युवा सड़कों पर हैं, इसके लिए कम्युनिकेशन की भी कमी है। इसमें कुछ इश्यू है। लोगों तक सही जानकारी पहुंचाई जाए। 

नेवी चीफ ने कहा कि कई लोगों से विमर्श किया गया। कई लोगों ने अपनी बात रखी। पूर्व सैन्य अधिकारियों से भी विमर्श किया गया। सेना में नए आइडिया के लिए यह स्कीम लाई गई। जल्दबाजी में फैसला नहीं लिया गया। उम्र सीमा बहुत सोच समझ कर लागू की। सिर्फ इस साल उम्र सीमा 23 साल की गई।  2 साल से सेना में भर्ती नहीं हुई इसलिए छूट दी गई। 

एडमिरल ने कहा कि सेना सिर्फ नौकरी का अवसर नहीं है। सेना में भर्ती होना देश सेवा है। सेना में भर्ती के कई फायदे हैं। युवाओं के देश सेवा विकल्प मिलेगा। अपना वक्त दीजिए और देश सेवा कीजिए। नेवी में 22 हफ्ते की ट्रेनिंग होगी। उसके बाद 5 महीने की स्पेशल ट्रेनिंग होगी। ट्रेनिंग प्रोसेस बढ़ाएंगे। 

Agnipath Scheme : क्या वाजिब है युवाओं का विरोध? 'अग्निपथ' योजना पर जानें मिथ और फैक्ट्स

लड़कियों की भर्ती पर नेवी चीफ ने कहा कि सेना में लिंग भेद नहीं है। उन्होंने कहा कि जल्द भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। नेवी में नवंबर में ट्रेनिंग होगी। सरकार नोटिफिकेशन जारी करेगी। सेना में काम करने के बाद सफलता निश्चित है। ट्रेंड युवाओं के लिए असिमित संभावनाएं हैं। नई शिक्षा नीति में क्रेडिट पॉलिसी है। सेना भर्ती हुए युवाओं को क्रेडिट मिलेंगे। हमें राष्ट्रीय सुरक्षा के बारे में सोचना चाहिए। अग्निपथ में सबसे फिट युवा आएंगे। सेना का आधुनिकीकरण कर रहे हैं। यह कॉन्ट्रैक्चुअल नहीं, एनरॉल्ड सर्विस है। अगर कमिटमेंट है तभी इसमें आइए। हम रोजगार बढ़ाएंगे। 

 इस योजना में ज्यादा अवसर मिलेंगे। एटीएम आया तो लगा था कि बैंकर्स की छुट्टी हो जाएगी। ठंढ़े दिमाग से सोचेंगे तो समझ में आएगा। युवा इस योजना को लेकर जागरूक नहीं है। सारी प्रक्रिया पर चर्चा हो चुकी है। चार साल बाद युवाओं के ज्याद अवसर मिलेंगे। युवा किसी भी जॉब के लिए पात्र होंगे। हर विभाग पर चर्चा के बाद योजना आई। एक हफ्ते में भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। नेवी में ऑनलाइन भर्ती आवेदन लिए जाएंगे। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर