बूंदी की दुखद शवयात्रा, ,जान जोखिम में डालकर पानी में अंतिम यात्रा की मजबूरी, WATCH VIDEO

देश
भंवर पुष्पेंद्र
Updated Sep 23, 2021 | 09:58 IST

राजस्थान में बूंदी की तस्वीर डरावनी है जहां लोग शवयात्रा के वक्त पानी से गुजरने को मजबूर होते है। ग्रामीण वर्षों से मांग कर रहे हैं लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकला है।

राजस्थान,बूंदी, शव यात्रा, श्मशान,Rajasthan, Bundi, funeral procession, crematorium
rajasthan bundi video 

नई दिल्ली: राजस्थान के बूंदी  जिले में 5 फीट गहरे पानी से अंतिम संस्कार के लिए शवयात्रा ले जाने की ये तस्वीरें सवाल पैदा करती हैं। घटना जिले के बंदूदा ग्राम पंचायत के ठीकरिया कला गांव की है। गांव की आबादी करीब 700 है, लेकिन गांव में आने-जाने वाला रास्ता हर बार बारिश में पानी से लबालब हो जाता है।ठीकरिया कला गांव के नदी पार क्षेत्र निवासी पृथ्वीराज जाट ने बताया कि बुजुर्ग महिला भवानी भाई गुर्जर की मृत्यु हो गई थी। उसका अंतिम संस्कार करने के लिए श्मशान में ले जाने के लिए रास्ता नहीं था, मजबूरन 5 फीट पानी से होकर गुजरना पड़ा, इसमें काफी दिक्कतें झेलनी पड़ी।

श्मशान घाट जाने वाले रास्ते पर 5 फीट पानी
यहां तक कि श्मशान घाट जाने वाले मार्ग पर भी 5 फीट पर पानी जमा हो जाता है। ऐसे में किसी की मौत हो जाने पर मजबूरन ग्रामीणों को इसी पानी से होकर अंतिम यात्रा निकालनी पड़ती है। 5 दिन पहले मोटरसाइकिल के स्लिप होने की वजह से 16 साल के एक किशोर की मौत हो गई थी। उसी दुर्घटना में घायल एक अन्य बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। जिसके परिजन उसे मुक्तिधाम अंतिम संस्कार के लिए ले जा रहे थे, लेकिन उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।

अंतिम संस्कार करने में दिक्कतों का सामना
ग्रामीणों ने बताया कि बारिश के समय गाव में हमेशा किसी की भी मौत होने पर अंतिम संस्कार करने के लिए परिजनों व ग्रामीणों को नदी पार ले जाकर मृतक का दाह संस्कार करना पड़ता है। इसके लिए ग्रामीणों व परिजनों को भारी कठिनाई का सामना करते हैं। ग्रामीण कई बार संभागीय आयुक्त से लेकर जिला कलेक्टर तक रास्ते की समस्या को लेकर ज्ञापन दे चुके हैं, लेकिन इसके बावजूद कई वषों से समाधान नहीं हो पा रहा है। 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर