'भय बिनु होइ न प्रीति', ताकतवर भारत के लिए पीएम मोदी का संदेश  

PM Modi message for a strong India in Ayodhya Ram temple

 Bhay Binu hoi na preeti, PM Modi message for a strong India in Ayodhya Ram temple
ताकतवर भारत के लिए पीएम मोदी का अयोध्या में संदेश।  |  तस्वीर साभार: ANI

मुख्य बातें

  • अयोध्या में पीएम मोदी के हाथों हुआ राम मंदिर का भूमि पूजन और शिलान्यास
  • कहा-आज सदियों का इंतजार समाप्त हुआ, भारत की एकता प्रतीक बनेगा मंदिर
  • पीएम ने कहा कि राम सभी के अंदर हैं और वह सभी के हैं, आज पूरा देश राममय है

अयोध्या : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि  जब तक हमारे पास ताकत नहीं होगी तब तक प्रीति नहीं होगी। इसलिए राष्ट्र को ताकतवर होना जरूरी है और भगवान राम ने इसे दिखाया  है। इस भाव तब से भारतीय जनमानस में विद्यमान है और यह उसे ताकतवर बनने के लिए प्रेरित करता आया है। समझा जाता है कि पीएम ने यह बयान पड़ोसी देशों चीन और पाकिस्तान के साथ जारी गतिरोध को ध्यान में रखते हुए दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को अयोध्या में भव्य एवं दिव्य राम मंदिर के लिए भूमि पूजन किया और उसकी आधारशिला रखी। इसके बाद पीएम वहां मौजूद साधु-संतों एवं अतिथियों को संबोधित करते हुए राम चरित मानस की 'भय बिनु होइ न प्रीति' चौपाई की पंक्ति पढ़ी।

भगवान राम के विनय को समुद्र ने अनसुना किया
दरअसल, भगवान राम चाहते थे कि लंका पर चढ़ाई करने के लिए समुद्र अपने बीच से उनके लिए रास्ता दे। इसके लिए उन्होंने तीन दिनों तक समुद्र से प्रार्थना की लेकिन वह रास्ता देने के लिए तैयार नहीं हुआ। भगवान राम की इस नाराजगी का जिक्र करते हुए महाकवि तुलसीदास ने अपने महाकाव्य रामचरित मानस में लिखा है-'विनय न मानत जलधि जड़, गए तीनि दिन बीति।
 बोले राम सकोप तब, भय बिनु होइ न प्रीति।' 

भय दिखाने पर समुद्र रास्ता देने के लिए तैयार हुआ 
लक्ष्मण चाहते थे कि श्री राम अपने अमोघ वाण से समुद्र को सुखा दें लेकिन भगवान राम पहले इसके लिए तैयार नहीं थे लेकिन समुद्र ने जब उनका अनुरोध स्वीकार नहीं किया तो भगवान राम ने समुद्र का पानी सोखने के लिए अपनी धनुष वाण निकाल लिया जिसके बाद समुद्र हाथ जोड़ते हुए उनके पास आया और मदद देने के लिए तैयार हुआ। 

राम सभी के भीतर हैं : पीएम मोदी
राम मंदिर का भूमि पूजन करने के बाद पीएम मोदी ने कहा कि आज सदियों का इंतजार समाप्त हुआ। भगवान राम सब के अंदर हैं, वह सभी के हैं। आज पूरा भारत वर्ष राममय है। राम मर्यादा पुरुषोत्तम है।  मोदी ने कहा कि राम का मंदिर भारतीय संस्कृति का आधुनिक प्रतीक बनेगा, हमारी शाश्वत आस्था का प्रतीक बनेगा, राष्ट्रीय भावना का प्रतीक बनेगा। उन्होंने कहा, ‘यह मंदिर करोड़ों-करोड़ों लोगों की सामूहिक शक्ति का भी प्रतीक बनेगा।’ अपने संबोधन से पहले, पीएम ने आधारशिला से संबंधित एक पट्टिका का अनावरण किया और  विशेष डाक टिकट भी जारी किया।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर