असम: ब्रह्मपुत्र नदी में डूबी नाव, जान बचाने के लिए लोगों ने लगाई छलांग, पीएम ने किया दुख व्यक्त, देखें Video

असम के जोरहाट जिले में ब्रह्मपुत्र में एक नाव दूसरी नाव से टकराकर डूब गई। इस नाव में 120 लोग सवार थे। बचाव कार्य जारी है। पीएम मोदी ने हादसे पर दुख व्यक्त किया। 

Assam: Boat submerged in Brahmaputra river, people jumped to save lives, PM expressed grief, Video
असम के जोरहाट में एक नाव दूसरे से टकराई 

मुख्य बातें

  • दुर्घटना का शिकार हुई नौका पर कुल 120 यात्री सवार थे।
  • अब तक 41 लोगों को बचा लिया गया है।
  • एक व्यक्ति की मौत हो गई और 20 लोग लापता हो गए है।

असम के जोरहाट जिले में एक बड़ा हादसा हुआ, एक मोटरबोट जिसमें करीब 120 लोग सवार थे वो एक-दूसरे बड़े बोट से टकरा गई। नीमती घाट के पास ये घटना आज शाम 4 बजे हुई। घटना स्थल से जो तस्वीर और वीडियो आए हैं उसमें लोग जान बचने के लिए डूबते नाव से ब्रह्मपुत्र में छलांग लगते दिख रहे हैं। ग्राउंड से मिली जानकारी ये है की रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है और प्रशासन ने अभी तक 41 लोग को सुरक्षित निकल लिया है। अभी भी कई लोग लापता है और इनकी खोज चल रही है।

हादसे में अब तक कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गई और 20 लोग लापता हो गए। दुर्घटना का शिकार हुई नौका पर कुल 120 यात्री सवार थे। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि टक्कर तब हुई जब निजी नाव 'मा कमला' निमती घाट से माजुली की ओर जा रही थी और सरकारी स्वामित्व वाली नौका 'त्रिपकाई' माजुली से आ रही थी। अंतर्देशीय जल परिवहन (आईडब्ल्यूटी) विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि नौका पलटकर डूब गई। आईडब्ल्यूटी के एक अन्य अधिकारी ने कहा कि नाव पर 120 से अधिक यात्री सवार थे, लेकिन उनमें से कई को विभाग के स्वामित्व वाली 'त्रिपकाई' नौका की मदद से बचा लिया गया।

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ज्ञानेंद्र त्रिपाठी ने 'पीटीआई-भाषा' को बताया कि नौका से बचाई गई एक महिला को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। उन्होंने कहा कि हमें करीब 15-20 लोगों के लापता होने की खबर मिली है। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कई टीमें सेना और गोताखोरों के सहयोग से बचाव अभियान चला रही हैं।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि आईडब्ल्यूटी विभाग के तीन वरिष्ठ अधिकारियों को दुर्घटना के संबंध में लापरवाही के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। जोरहाट के उपायुक्त अशोक बर्मन ने बताया कि अब तक 41 लोगों को बचा लिया गया है। बर्मन ने कहा कि सेना के गोताखोर कुछ उन्नत मशीनों के साथ अभियान में शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि नाव में 27 मोटरसाइकिलें भी थीं।

असम के मुख्यमंत्री हेमंत विश्व सरमा ने इस घटना पे शोक व्यक्त किया और वो खुद रेस्क्यू ऑपरेशन के पल पल का अपडेट स्थानीय प्रशासन से ले रहे हैं, उन्होंने मंत्री बिमल बोरा को मजौली जाने का आदेश दिया है जो घटना स्थल पे खुद पूरे ऑपरेशन का जायजा लेंगे और हर अपडेट मुख्यमंत्री तक पहुंचाने का काम करेंगे, कल सुबह मुख्यमंत्री भी स्पॉट पे जाएंगे और जायजा लेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया कि असम में नाव दुर्घटना से दुखी हूं। यात्रियों को बचाने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। मैं सभी की सुरक्षा और भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया कि असम में हुई नाव दुर्घटना के बारे में जानकर दुख हुआ। मुख्यमंत्री श्री हिमंत बिस्व सरमा से बात की है। राज्य का प्रशासन लोगों को बचाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। हम लगातार स्थिति की निगरानी कर रहे हैं। केंद्र सरकार की तरफ से पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि वह असम के जोरहाट जिले में हुई नौका दुर्घटना में लोगों की मौत होने की खबर सुनकर बेहद दुखी हैं। राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा कि मैं पीड़ितों, घायलों और उनके परिवारों के लिए प्रार्थना करता हूं। अधिक से अधिक लोगों को बचाने के लिए राहत एवं बचाव अभियान जारी है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने असम में हुई नौका दुर्घटना पर बुधवार को दुख व्यक्त किया और उम्मीद जताई कि बचाव अभियान से बहुत सारे लोगों की जान बचाई जा सकेगी। उन्होंने फेसबुक पोस्ट में कहा कि असम में नौका डूबने की दुखद की घटना की खबर मिली। ब्यौरे की प्रतीक्षा है। मैं पीड़ितों के परिवारों के प्रति अपनी संवेदना प्रकट करता हूं। राहुल गांधी ने स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे राहत एवं बचाव कार्यक्रम में हर संभव मदद करें।

केंद्रीय जहाजरानी, बंदरगाह और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने माजुली में नौका दुर्घटना को लेकर दुख और चिंता व्यक्त की है। सोनोवाल ने असम के मुख्यमंत्री से फोन पर बात की और जारी बचाव एवं राहत कार्य की जानकारी हासिल की। उन्होंने मंत्रालय के अधिकारियों को पीड़ितों की मदद के लिए सभी आवश्यक सहायता प्रदान करने का भी निर्देश दिया है।

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
Mirror Now
Live TV
अगली खबर