क्या वसूली कांड का शिकार हुए हैं आर्यन खान? करोड़ों वसूलने के लिए आर्यन को फंसाया? एक गवाह ने किए सनसनीखेज खुलासे

Aryan Khan Drugs Case: आर्यन खान के केस को लेकर टाइम्स नाउ नवभारत पर बड़ा खुलासा हुआ है। इस केस से जुड़े गवाह ने कई खुलासे किए हैं। अब सवाल है कि क्या आर्यन खान वसूली कांड का शिकार हुए हैं?

Aryan Khan Drugs Case
गवाह ने किए कई खुलासे 
मुख्य बातें
  • आर्यन केस में गवाह नंबर-1 प्रभाकर सेल ने कई दावे किए हैं
  • प्रभाकर का दावा है कि आर्यन वसूली कांड का शिकार है
  • केपी गोसावी का बॉडीगार्ड है प्रभाकर सेल

ड्रग्स केस में फंसे आर्यन खान से जुड़ी इस समय की सबसे बड़ी और एक्सक्लूसिव खबर टाइम्स नाउ नवभारत के पास है। ड्रग्स केस से जुड़े एक गवाह प्रभाकर सेल ने दावा किया है कि शाहरुख खान का बेटा आर्यन खान एक वसूली कांड का पीड़ित है। प्रभाकर सेल किरन गोसावी का पर्सनल बॉडीगार्ड है। किरन गोसावी इस मामले में एक गवाह है और आर्यन खान की गिरफ्तारी के समय भी मौजूद था। प्रभाकर गोसावी का दावा है कि आर्यन खान के पकड़े जाने के तुरंत बाद करोड़ों की लेन देन का मोलभाव भी हुआ था। गवाह ने बताया कि समीर वानखेड़े को 8 करोड़ देने थे और 18 करोड़ में पर बात तय हुई थी।

खुलासे पर समीर वानखेड़े ने कहा है कि आरोपों पर जल्द जवाब देंगे। 25 दिनों से प्रभाकर कहां थे। गवाह का दावा है कि 50 लाख रुपए नकद मिले। 

शिवसेना नेता संजय राउत ने खुलासे पर कहा कि आर्यन खान मामले में गवाह से एनसीबी द्वारा कोरे कागज पर दस्तखत के लिए कहना चौंकाने वाला है। इसके अलावा ये भी रिपोर्ट हैं कि भारी धन की मांग की गई। सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि इन मामलों ने महाराष्ट्र को बदनाम किया है। ऐसा लगता है कि ये सच हो रहा है। पुलिस को संज्ञान लेना चाहिए।

भगोड़े केपी गोसावी के सहयोगी प्रभाकर सेल ने आरोप लगाया है कि एनसीबी द्वारा उन्हें एक खाली पंचनामे पर हस्ताक्षर करने के लिए कहा गया था। गोसावी क्रूज जहाज पर छापेमारी और ड्रग्स की कथित बरामदगी में 9 स्वतंत्र गवाहों में से एक है।

इस दावे का मतलब क्या? 

  • आर्यन को फंसा कर करोड़ों वसूली का प्लान था?
  • क्या NCB अधिकारी करोड़ों कमाना चाहते थे?
  • क्या समीर वानखेड़े ने 8 करोड़ रुपये मांगे थे?
  • क्या NCB अधिकारियों ने 25 करोड़ मांगे थे?
  • प्रभाकर सेल को 50 लाख कैश किसने दिए थे?
     


 

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर