LIVE BLOG
More UpdatesMore Updates

Parliament Winter Session: कृषि कानून हुए निरस्त, ओवैसी की मांग- CAA भी वापस लिया जाए

Parliament Winter Session 2021: संसद के शीतकालीन सत्र की शुरुआत सोमवार से हो गई है। विपक्ष के हंगामे के बीच कृषि कानूनों को वापस लेने वाला बिल लोकसभा और राज्यसभा से पारित हो गया है। यह सत्र 23 दिसंबर तक चलने वाला है। इस शीतकालीन सत्र के दौरान सरकार 26 विधेयकों को पेश करने वाली है। सरकार की तरफ से जो अहम विधेयक पेश होने वाले हैं उनमें कृषि कानून निरस्त विधेयक, क्रिप्टोकरेंसी एवं रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल प्रमुख है।

Parliament Winter Session 2021 Today Live News Updates:
संसद का शीतकालीन सत्र LIVE अपडेट्स

लोकसभा और राज्यसभा से कृषि कानून वापसी बिल पास पास हो गया है। बिल हंगामे के बीच दोनों सदनों में पेश किया गया था। अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर का इंतजार है। विपक्ष ने सरकार पर तीखा हमला किया है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सरकार पर सीधा हमला करते हुए कहा कि कृषि कानून रद्द करना ये बताता है कि पीएम ने अपनी गलती मानी है और इसी गलती की वजह से आंदोलन शुरू हुआ था। लोकसभा के बाद राज्यसभा से भी कृषि कानून वापसी बिल ध्वनि मत से पास हो गया। अब ये बिल राष्ट्रपति के पास मंजूरी के लिए भेजे जाएंगे। इस बिल पर कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने सदन में चर्चा की मांग की थी। लेकिन बिल को बिना चर्चा के मंजूरी दे दी गई। जिस पर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। चौधरी ने कहा, कि बिना चर्चा के कृषि कानून वापसी बिल पास कराना ठीक नहीं है। साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि वो विपक्ष को बोलने का मौका नहीं देती। 

Parliament Winter Session Today Live Updates:

Nov 29, 2021  |  04:07 PM (IST)
विशेष संसद संरक्षण विधेयक पारित हो: जया बच्चन

सपा सांसद जया बच्चन ने कहा कि इतने सालों से मैं यहां हूं, मैं पहली बार इस तरह का माहौल देख रही हूं। बिल पूरी तरह से हंगामे के बीच पास हो गया। मुझे लगता है कि अब एक विशेष संसद संरक्षण विधेयक पारित किया जाना चाहिए। छोटी पार्टियों को बोलने का मौका नहीं मिलता। उन्हें लोगों के नुकसान, हड़तालों और सब्जियों की बढ़ती कीमतों के बारे में बात करनी चाहिए थी। यह सरकार क्या कर रही है? हम कैसे खाएंगे? पानी प्रदूषित है, हवा प्रदूषित है, हम कैसे रहेंगे?। 

Nov 29, 2021  |  03:55 PM (IST)
चुनाव के कारण कृषि कानून वापस हुए: ओवैसी

AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि विधानसभा चुनाव से पहले राजनीतिक नुकसान के डर से सरकार ने कृषि कानूनों को निरस्त कर दिया है। देश में एक बड़ा समूह कह रहा है कि सीएए संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन है। हम मांग करते हैं कि केंद्र नागरिकता (संशोधन) अधिनियम को निरस्त करे।

Nov 29, 2021  |  02:59 PM (IST)
राहुल गांधी का हमला, 'गलती मानी तो किसानों को मुआवजा भी दे सरकार'
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि सरकार ने माना है कि उससे गलती हुई। उसकी इस गलती की वजह से आंदोलन हुआ और आंदोलन में किसानों की जान गई। अब सरकार को किसानों को मुआवजा देना चाहिए। कांग्रेस पार्टी किसानों की हर मांग के साथ है। कांग्रेस नेता ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कृषि कानूनों की वापसी पर जो विधेयक पेश हुआ वह बिना चर्चा के पारित हो गया। राहुल ने कहा कि सरकार इस बिल पर चर्चा कराने पर डर गई थी।
Nov 29, 2021  |  02:14 PM (IST)
राज्यसभा से भी पारित हुआ बिल

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि कानूनों को वापस लेने वाले विधेयक को राज्यसभा में पेश कर दिया है। इस विधेयक पर राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे अपनी बात रख रहे हैं। लोकसभा की कार्यवाही मंगलवार 11 बजे तक स्थगित हो गई है। इस बीच, राज्यसभा से भी यह विधेयक पारित हो गया है।

Nov 29, 2021  |  01:16 PM (IST)
शहीदों को श्रद्धांजलि है-टिकैत

भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि लोकसभा में कृषि कानून निरस्त विधेयक का पारित होना, आंदोनल में जान गंवाने वाले 750 किसानों को श्रद्धांजलि है। एमएसपी का मुद्दा जब तक लटका रहेगा तब तक किसान आंदोलन जारी रहेगा। 

Nov 29, 2021  |  01:07 PM (IST)
दोनों सदनों की कार्यवाही 2 बजे तक स्थगित

कृषि कानून वापसी बिल को लोकसभा से पारित होने के बाद राज्यसभा में पेश किया गया। लेकिन हंगामे की वजह से दोनों सदनों की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया। इस बीच लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सरकार मनमानी कर रही है। इसके साथ ही कांग्रेस ने गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग की। 

Nov 29, 2021  |  12:43 PM (IST)
कृषि कानूनों को वापस लेने वाला बिल राज्यसभा में पेश

कृषि कानूनों को वापस लेने वाला विधेयक लोकसभा में ध्वनि मत से पारित करने के बाद सरकार ने इस विधेयक को अब राज्यसभा में पेश कर दिया है। सरकार चाहती है कि यह विधेयक आज ही दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा से पारित हो जाए। वहीं, विपक्ष किसानों के मुद्दे पर चर्चा कराए जाने की मांग कर रहा है। 

Nov 29, 2021  |  12:28 PM (IST)
कांग्रेस समेत 11 विपक्षी दलों ने रणनीति तय की

कांग्रेस समेत 11 विपक्षी दलों के नेताओं ने सोमवार को संसद के शीतकालीन सत्र के आरंभ होने से पहले बैठक की जिसमें तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी विधेयक सहित कई मुद्दों को लेकर रणनीति पर चर्चा की गई। सूत्रों के मुताबिक, राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के संसद भवन स्थित कक्ष में हुई इस बैठक में विपक्षी दलों के नेताओं ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की कानूनी गारंटी दिए जाने की जरूरत पर जोर दिया। इस बैठक में खड़गे के अलावा राज्यसभा में कांग्रेस के उप नेता आनंद शर्मा, मुख्य सचेतक जयराम रमेश, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी एवं मुख्य सचेतक के. सुरेश शामिल हुए।

Nov 29, 2021  |  12:19 PM (IST)
लोकसभा में ध्वनि मत से पारित हुआ कृषि कानूनों को वापस लेने वाला बिल
तीन कृषि कानूनों को वापस लेने वाला विधेयक लोकसभा में ध्वनिमत से पारित हो गया है। सरकार अब इस विधेयक को राज्यसभा में पेश करेगी। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने कहा है कि वह किसानों के मुद्दों पर चर्चा कराएंगे। निम्न सदन की कार्यवाही दोपहर दो बजे तक स्थगित हुई है।
Nov 29, 2021  |  12:14 PM (IST)
लोकसभा में हंगामे के बीच कृषि कानून वापसी पर बिल पेश

विपक्षी सांसदों के हंगामे के बीच कृषि कानून वापसी बिल लोकसभा में पेश कर दिया गया है। लोकसभा की कार्यवाही दो बजे तक स्थगित कर दी गई है। लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने हंगामा कर रहे विपक्षों से कहा कि वह किसानों के मुद्दे पर पूर्ण रूप से चर्चा कराएंगे। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि कानूनों को वापस लेने वाला विधेयक पेश किया। 

Nov 29, 2021  |  11:53 AM (IST)
सोनिया के नेतृत्व में संसद परिसर में प्रदर्शन

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नेतृत्व में पार्टी के सांसदों ने सोमवार को किसानों के मुद्दों को लेकर संसद भवन परिसर में प्रदर्शन किया। संसद भवन परिसर में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन से पहले, कांग्रेस सांसदों की सोनिया गांधी की अगुवाई में बैठक हुई जिसमें तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने संबंधी विधेयक और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर रणनीति पर चर्चा की गई। कांग्रेस सांसदों ने संसद भवन परिसर में प्रदर्शन के दौरान सरकार विरोधी नारे भी लगाए। इस मौके पर पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद थे। कांग्रेस सांसदों ने तीनों कानूनों को तत्काल निरस्त करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी देने की मांग की। उधर, राहुल गांधी ने तीनों कृषि काननों को निरस्त करने संबंधी विधेयक को संसद में पेश किए जाने से पहले कहा कि आज संसद में अन्नदाता के नाम का सूरज उगाना है। राहुल ने ट्वीट किया, ‘आज संसद में अन्नदाता के नाम का सूरज उगाना है।’

Nov 29, 2021  |  11:37 AM (IST)
राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित 

संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन सोमवार को राज्यसभा की बैठक पूर्व केंद्रीय मंत्री और मौजूदा सदस्य ऑस्कर फर्नाडीज तथा अपने छह पूर्व दिवंगत सदस्यों को श्रद्धांजलि देने के बाद 11 बज कर 20 मिनट पर एक घंटे के लिए स्थगित कर दी गयी।

Nov 29, 2021  |  11:27 AM (IST)
लोकसभा की कार्यवाही 12 बजे तक स्थगित

लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष के सदस्यों ने नारेबाजी करनी शुरू कर दी। सदस्यों के हंगामे को देखते हुए लोकसभा की की कार्यवाही दिन के 12 बजे तक स्थगित कर दी गई है। 

Nov 29, 2021  |  11:10 AM (IST)
दोनों सदनों में कार्यवाही शुरू

संसद के दोनों सदनों लोकसभा एवं राज्यसभा में शीतकालीन सत्र की कार्यवाही शुरू हो गई है। 

Nov 29, 2021  |  11:07 AM (IST)
कृषि कानूनों पर चर्चा नहीं कराएगी सरकार

कृषि कानूनों पर किसी तरह की चर्चा नहीं कराएगी सरकार। सरकार को लगता है कि एमएसपी पर विपक्ष सरकार को घेरना चाहता है और उसकी कोशिश जो संदेश देने की है वह कमजोर पड़ेगी। कृषि कानूनों पर चर्चा के लिए कोई समय तय नहीं किया गया है। शीतकालीन सत्र की शुरुआत से पहले पीएम मोदी ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, गृह मंत्री अमित शाह, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पीयूष गोयल और प्रह्लाद जोशी से मुलाकात की।

Nov 29, 2021  |  10:58 AM (IST)
संसद भवन में प्रदर्शन में शामिल हुईं सोनिया गांधी

शीतकालीन सत्र की शुरुआत से पहले कांग्रेस की अंतिम अध्यक्ष सोनिया गांधी कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन में शामिल हुईं। कांग्रेस सदस्यों ने कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग की है। 

Nov 29, 2021  |  10:38 AM (IST)
शीतकालीन सत्र से पहले पीएम मोदी ने कहा-सरकार हर विषय पर खुली चर्चा के लिए तैयार
शीतकालीन सत्र से पहले प्रधानमंत्री ने कहा कि वह चाहेंगे कि इस सत्र में विपक्ष सरकार के साथ मिलकर देश की प्रगति के लिए रास्ते खोजे। साथ ही यह सत्र बहुत ही विचारों की समृद्धि वाला, सकारात्मक निर्णय वाला बने। पीएम ने कहा कि सरकार हर विषय पर खुली चर्चा और हर सवाल का जवाब देने के लिए तैयार है। आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर हम चाहेंगे कि संसद में सवाल हों लेकिन संसद की गरिमा, लोकसभा स्पीकर की गरिमा का सम्मान भी हो। उन्होंने कहा कि कोरोना की विकट परिस्थिति में भी देश ने 100 करोड़ से अधिक कोरोना वैक्सीन अपने लोगों को लगाई है। अब हम 150 करोड़ से आगे बढ़ रहे हैं। हम संसद के सभी साथियों को कोरोना के नए रूप से सतर्क रहने के लिए प्रार्थना करता हूं। ऐसे संकट की घड़ी में सबका स्वास्थ्य हमारी प्राथमिकता है।
Nov 29, 2021  |  10:19 AM (IST)
मल्लिकार्जुन खड़गे बोले-किसान अभी धरने पर बैठे हैं
संसद के सत्र पर बोलते हुए राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि किसान अभी आंदोलन कर रहे हैं। हम किसानों, महंगाई और बाढ़ पर सरकार से चर्चा कराना चाहेंगे।
Nov 29, 2021  |  10:06 AM (IST)
'आज संसद में अन्नदाता के नाम का सूरज उगाना है'

शीतकालीन सत्र की शुरुआत से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट किया है। राहुल ने कहा है कि - 'आज संसद में अन्नदाता के नाम का सूरज उगाना है'।

Nov 29, 2021  |  10:04 AM (IST)
लोकसभा स्पीकर को उम्मीद-विपक्ष का सहयोग मिलेगा
शीतकालीन सत्र शुरू हो ने से पहले लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने ट्टीट किया है। बिरला ने उम्मीद जताई है कि सत्र सुचारु रूप से चलाने में उन्हें विपक्ष का पूरा सहयोग मिलेगा। वहीं, विपक्ष किसानों के मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश करेगा। विपक्ष चीन के मसले पर भी चर्चा कराने की मांग कर सकता है।