Coronavirus Lockdown के दौरान लखनऊ में बुजुर्ग की दवा हुई खत्म, मेडिसिन लेकर घर पहुंची 'योगी की पुलिस'

देश
Updated Mar 25, 2020 | 19:20 IST

उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने मंगलवार शाम घोषणा की थी कि दूध, दवा, सब्‍जी जरूरतमंदों के घर तक पहुंचेंगी। बुधवार को घर घर जाकर वितरण शुरू भी हो गया।

Yogi Adityanath CM,UP
Yogi Adityanath CM,UP 

Medicine at doorstep in Uttar Pradesh during Coronavirus Lockdown: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण ने पूरे विश्‍व के साथ साथ भारत में भी हाहाकार मचा दिया है। भारत में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्‍या 600 के करीब हो गई है। इस संक्रमण को रोकने के ल‍िए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 द‍िनों के ल‍िए लॉक डाउन की घोषणा कर दी। 14 अप्रैल तक देश के हर राज्‍य में बाहर निकलने पर पाबंदी लगा दी गई है। 

ऐसे में उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रदेश की जनता को आश्‍वस्‍त कराया था कि सरकार जरूरी सामान की कमी नहीं होने देगी और दूध, दवा, सब्‍जी जरूरतमंदों के घर तक पहुंचेंगी। मुख्‍यमंत्री ने मंगलवार शाम यह घोषणा की और बुधवार को घर घर जाकर दूध, सब्‍जी और दवाओं का वितरण शुरू भी हो गया। आपको बता दें कि मुख्‍यमंत्री के आदेश के बाद लखनऊ में एक बुजुर्ग को दवा की जरूरत हुई तो यूपी पुलिस उनके घर दवा लेकर पहुंची। 

थाना हज़रतगंज, लखनऊ के नरही में एक बुज़ुर्ग की दवा खत्म हो गई थी। ऐसे में बुजुर्ग ने सरकार से मदद मांगी तो यूपी पुलिस की PRV4340 ने व्हाट्सप्प पर उनसे दवा का पर्चा मंगवाया। इसके बाद मेडिकल स्टोर से दवा लेकर यूपी पुलिस के जवाब बुज़ुर्ग के घर पहुंचे। 

योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि बुधवार से घर-घर तक सब्जी, दूध, फल, दवा और अन्य आवश्यक सामग्री पहुंचाई जाएगी। 10 हजार वाहन यह काम करेंगे। इनमें 4500 पुलिस की पीआरवी हैं और बाकी 102 और 108 की एम्बुलेंस और प्रशासन के वाहन हैं। सरकार ने इसके लिए एक टोल फ्री नंबर भी दिया। डोर स्‍टेप डिलीवरी के ल‍िए खाद्य एवं रसद विभाग के टोल फ्री नंबर 1800 1800 150 को डायल कर ग्राहक सेवा अधिकारी से बात करें। 

बता दें कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना को मात देने के लिए जिस तरह एक्‍शन में नजर आए वह सराहनीय है। दिहाड़ी मजदूर, सफाईकर्मियों और गरीबों की मदद के लिए राहत पैकेज का ऐलान भी एक सार्थक कदम है। मजदूरों के खाते में एक एक हजार रुपये की पहली किस्‍त का भुगतान भी शुरू हो गया है।

अगली खबर
loadingLoading...
loadingLoading...
loadingLoading...