Himanta Biswa:कौन हैं हिमंत बिस्वा सरमा जो बने हैं असम के नए मुख्यमंत्री, 'वकील' से 'CM'तक कैसा रहा है सफर

देश
रवि वैश्य
Updated May 09, 2021 | 14:27 IST

Who is Himanta Biswa Sarma:गुवाहाटी में बीजेपी विधायकों की बैठक में हेमंत बिस्वा सरमा नाम पर मुहर लग गई अब वो असम के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे जानें कैसा रहा है उनका सफर...

Himanta Biswa Sarma New CM of Assam
हिमंत बिस्वा सरमा असम की जालुकबारी विधानसभा सीट से लगातार पांचवीं बार विधायक बने  

असम (Assam) के नए मुख्यमंत्री अब हिमंत बिस्वा सरमा (Himanta Biswa Sarma) होंगे, असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया वहीं गुवाहाटी में बीजेपी विधायकों की बैठक में हिमंत बिस्वा सरमा नाम पर मुहर लग गई अब वो असम के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे, उनका सीएम बनने का ये सफर आसान नहीं रहा है, एक नजर उनके राजनीतिक जीवन पर...

हिमंत बिस्वा सरमा और  सर्बानंद सोनोवाल इनमें से कौन राज्य की कमान संभालेगा इसे लेकर काफी मंथन हुआ और शनिवार को दोनों दिल्ली भी बुलाए गए, आखिर बाजी हिमंत बिस्वा सरमा के हाथों ही लगी और अब वो प्रदेश की कमान संभालने जा रहे हैं।

असम में बीजेपी की दूसरी बार सरकार बनाने में निभाया "अहम रोल"

असम में लगातार दूसरी बार बीजेपी के नेतृत्व में एनडीए की सरकार बनने के पीछे हिमंत बिस्वा सरमा की जबर्दस्त मेहनत बताई जाती है कहा जाता है कि वो लोकप्रियकता के मामले में सर्बानंद सोनोवाल से किसी भी मायने में कम नहीं हैं और इस चुनाव में उनका जोरदार प्रचार अभियान, तेज व आक्रामक रणनीति बीजेपी की जीत की अहम वजह रही जिसके चलते पार्टी ने उन्हें सर्बानंद की जगह सीएम पद पर ज्यादा उपर्युक्त माना।

 ऐसा है जलवा, जालुकबारी विधानसभा सीट से लगातार पांचवीं बार विधायक

हिमंत बिस्वा सरमा असम की जालुकबारी विधानसभा सीट से लगातार पांचवीं बार विधायक बने हैं, जालुकबारी विधानसभा सीट असमके बागपत जिले में आती है 2021 में बीजेपी के हिमंता बिस्वा शर्मा ने इंडियन नेशनल कांग्रेस के रामेन चंद्र बोरठाकुर को 101911 वोटों के मार्जिन से हराया था,हाल में सीएए विरोधी प्रदर्शन और कोरोना के हालात को संभालने में उनकी अहम भूमिका रही है।

हिमंत ने 1992 में पोस्ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की, हिमंत ने सरकारी लॉ कॉलेज से एलएलबी किया और गुवाहाटी कॉलेज से पीएचडी की उपाधि ली उन्होंने साल 1996 से 2001 तक गुवाहाटी हाईकोर्ट में प्रैक्टिस भी की थी।
 

साल 2016 के विधानसभा चुनाव में थे मुख्यमंत्री पद के सशक्त दावेदार!

हिमंत बिस्वा सरमा ने 2015 में कांग्रेस से मतभेद के बाद हाथ का साथ छोड़ कमल का दामन थामा था बताते हैं कि पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के साथ राजनीतिक मतभेदों के बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी के सभी विभागों से इस्तीफा दे दिया था बाद में वो भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए। साल 2016 के विधानसभा चुनाव के ऐन पहले बिस्वा सरमा को मुख्यमंत्री पद के सशक्त दावेदार के तौर पर देखा जा रहा था लेकिन तब जीत का परचम फहराने के बाद पार्टी ने सोनोवाल को राज्य का सीएम बनाया था।

ऐसा रहा है उनका राजनीतिक और पारिवारिक जीवन

हिमंता बिस्वा सरमा का  जन्म 1 फरवरी 1969 हुआ था,  शर्मा 20216 की असम विधानसभा की निर्वाचन जीतके असम के कैबिनेट मंत्री बने।   

बीजेपी के केन्द्रीय नेतृत्व द्वारा उन्हें 2016 में नार्थ ईस्ट डेमोक्रेटिक अलायन्स  का प्रमुख वनाया गया। हिमन्त विश्व शर्मा वर्तमान असम के स्वास्थ्य मंत्री का  पदभार संभाले हुए थे सरमा ने 7 जून 2001 को रिनिकी भूया सरमा से शादी की, जिनसे उन्हें एक बेटा नंदील बिस्वा सरमा और एक बेटी-सुकन्या सरमा है।

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर