Gujarat: क्या है 'आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना', किन्हें मिलेगा इसका लाभ कैसे करें अप्लाई जानें

Atmanirbhar Gujarat Sahay Yojana: आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना जिसका उद्देश्य किसानों और प्रवासी मजदूरों को सहायता पहुंचाना है इसके साथ ही ओद्योगिक क्षेत्र को भी वापस से पटरी पर लाने की कवायद में मदद करना है।

atmanirbhar gujarat sahay yojan
आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना 

मुख्य बातें

  • PM मोदी ने देश के नाम संबोधन में एक अहम बात पर जोर दिया था वह था आत्मनिर्भर भारत अभियान
  • आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना जिसका उद्देश्य किसानों और प्रवासी मजदूरों को सहायता पहुंचाना
  • गुजरात सरकार ने हाल ही में आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना शुरू की है

12 मई 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लॉकडाउन के बीच पांचवीं बार देश के नाम संबोधन में एक अहम बात पर जोर दिया था वह था आत्मनिर्भर भारत अभियान। आत्मनिर्भर भारत अभियान योजना जिसका उद्देश्य किसानों और प्रवासी मजदूरों को सहायता पहुंचाना है इसके साथ ही ओद्योगिक क्षेत्र को भी वापस से पटरी पर लाने की कवायद में मदद करना है। इस योजना के तहत राज्य सरकारों ने भी अपनी तरफ से आर्थिक गतिविधियों को सुचारु रुप से पुन: शुरू करने के लिए और किसानों मजदूरों की मदद के लिए कई योजनाएं शुरू की हैं।   

गुजरात सरकार ने हाल ही में आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना शुरू की है। ये योजना के तहत जरूरतमंदों को 2 फीसदी सलाना ब्याज पर बैंकों से 1 लाख तक के गारंटी मुक्त लोन उपलब्ध कराए जाएंगे। इस योजना के तहत छोटे-छोटे बिजनेसमैन, कुशल कामगारों मजदूरों, इलेक्ट्रिशियन और ऑटो रिक्शा मालिकों और ऐसे ही अन्य जरूरतमंदों को कोविड-19 महामारी के दौर में वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

आत्मनिर्भर गुजरात सहाय योजना के तहत राज्य सरकार इन जरूरतमंदों की तरफ से लिए जाने वाले लोन पर 6 फीसदी ब्याज अपनी तरफ से देगी। इस योजना के तहत लोन की अवधि तीन सालों तक के लिए रहेगी लेकिन इसके लिए किस्त की अदायगी लोन मिलने के छह महीने बाद से शुरू हो जाएगी। इस योजना के तहत करीब 10 लाख लोगों को लाभ पहुंचाए जाने की योजना है। ये लोन हालांकि आवेदन के आधार पर उपलब्ध कराए जाएंगे जो गारंटी मुक्त होंगे।  

राज्य सरकार ने इसके लिए फॉर्म जारी कर दिए हैं लेकिन अभी तक इस बारे में कोई अपडेट नहीं दिया गया है कि इसे ऑनलाइन अप्लाई कैसे किया जा सकता है। हालांकि रिपोर्ट्स के मुताबिक इस बात की पुष्टि कर दी गई है कि इसके लिए आवेदन फॉर्म राज्य के करीब 9000 आउटलेट्स पर उपलब्ध है। इनमें डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक ब्रांच, अर्बन कोऑपरेटिव बैंक ब्रांच और क्रेडिट सोसाइटी भी उपलब्ध है।

गुजरात मुख्यमंत्री के सचिव अश्विनी कुमार ने कहा कि गुरुवार से कोऑपरेटिव बैंक इन फॉर्म का वितरण शुरू कर देगी। 31 अगस्त 2020 तक आवेदन की तिथि समाप्त कर दी जाएगी। जो कोई भी इस योजना के लिए अप्लाई करना चाहते हैं उन्हें इन फॉर्म को डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक ब्रांच, अर्बन कोऑपरेटिव बैंक ब्रांच और क्रेडिट सोसाइटी में से कहीं एक जगह पर जरूरी दस्तावेज के साथ जमा कराना होगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसके लिओ अभी कोई ऑफीशिल पोर्टल नहीं जारी किया गया है। इस योजना के तहत मिलने वाले लोन स्टेट कोऑपरेटिव बैंक, डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक ब्रांच, अर्बन कोऑपरेटिव बैंक ब्रांच और क्रेडिट सोसाइटी के द्वारा दिए जाएंगे। इसके लिए फॉर्म सभी ब्रांच पर मुफ्त में उपलब्ध होंगे। 

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर