क्या होता है कोरोना हॉटस्पॉट? सरकार का क्यों है इस पर जोर

भारत में कोरोना वायरस का प्रकोप लगागाता बढ़ रहा है। सरकार ने इस खतरनाक वायरस को फैलने से रोकने के लिए देशभर में 10 हॉटस्पॉट पर अपना ध्यान केन्द्रित कर रही है।

What is a corona hotspot
देश में अबतक 149 लोगों की मौत हो चुकी है।   |  तस्वीर साभार: AP

मुख्य बातें

  • दुनिया में कोरोना वायरस से 80 हजार से ज्यादा लोगों की जान चली गई है
  • भारत में कोरोना के 5 हजार से ज्यादा मामले आ चुके हैं
  • देश में कोरोना से अबतक 145 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है

नई दिल्ली:  सरकार कोरोना वायरस संक्रमण पर काबू पाने के लिए तमाम कोशिश कर रही हैं। देश में संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जहां लॉकडाउन किया गया है। साथ ही जहां इस वायरस मरीजों की संख्या ज्यादा है ऐसे इलाकों पर पैनी नजर रखी जा रही है। सरकार वायरस को फैलने से रोकने के अपने प्रयासों के तहत देशभर में 10 हॉटस्पॉट (जहां संक्रमित लोगों की संख्या ज्यादा है) पर अपना ध्यान केन्द्रित कर रही है। इन स्थानों में उत्तर प्रदेश, दिल्ली, केरल और महाराष्ट्र में दो-दो हॉटस्पॉट और गुजरात तथा राजस्थान में एक-एक हॉटस्पॉट है।

कोरोना हॉटस्पॉट क्या है? 

कोरोना हॉटस्पॉट यानी वो स्थान या जगहें जहां कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या ज्यादा है। सरकार ने देशभर में हॉट-स्पॉट चिह्नित किए हैं जहां कोरोना तेजी से फैल रहा है। क्लस्टर के तौर पर उन स्थानों को चुना गया है जहां दस से ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीज मिले। हॉट-स्पॉट उन स्थानों को माना गया, जहां बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला जारी है। सरकार इन जगहों पर कड़ी नजर रखे हुए हैं जहां इन लोगों को संक्रमित पाए जाने पर क्वांरटाइन और उचित इलाज किया जा रहा है।


दिल्ली (निजामुद्दीन पश्चिम)

14वीं शताब्दी के सूफी ख्वाजा निज़ामुद्दीन औलिया की दरगाह के लिए जाना जाता है। इसके पास ही तब्लीगी जमात का मरकज है। दक्षिणी दिल्ली का यह स्थान देश के विभिन्न भागों में कोरोना वायरस फैलने का एक केन्द्र बनकर उभरा है। इस क्षेत्र में एक मार्च से 15 मार्च तक तबलीगी जमात के एक कार्यक्रम में बड़ी संख्या में लोगों ने भाग लिया था। निजामुद्दीन पश्चिम में तबलीगी जमात में हिस्सा लेने वाले छह लोगों की तेलंगाना में और जम्मू कश्मीर में एक व्यक्ति की मौत हुई। अकेले दिल्ली में ही इस कार्यक्रम में शामिल हुए कई लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गए।

दिल्ली (दिलशाद गार्डन)

उत्तर पूर्वी दिल्ली का यह क्षेत्र भी उस समय सुर्खियों में आ गया जब सऊदी अरब की यात्रा करने वाली एक महिला इस वायरस से संक्रमित पाई गई। वह मौजपुर में ‘मोहल्ला’क्लिनिक के एक डॉक्टर के संपर्क में भी आ गई जो इस बीमारी से संक्रमित हो गये। ऐसा माना जाता है कि डॉक्टर सैकड़ों लोगों के संपर्क में आया और इसके बाद उनकी पत्नी भी इससे संक्रमित हो गई।  दिलशाद गार्डन के एल ब्लॉक को कोरोना संक्रमण का हॉटस्पॉट माना गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इन इलाकों में पैनी नजर रखी जा रही है।

राजस्थान (भीलवाड़ा)

राजस्थान में कोरोना वायरस के कुल 83 मामले सामने आये है जिनमें से भीलवाड़ा से 26 मामले सामने आये है। आठ मरीजों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने 1,194 नमूनों को लिया है। भीलवाड़ा में कोरोना वायरस से दो लोगों की मौत हुई है लेकिन अधिकारियों का कहना है कि इन लोगों की मौत अन्य घातक बीमारियों से हुई है। भीलवाड़ा में एक निजी अस्पताल का एक डॉक्टर इस वायरस से संक्रमित पाया गया था जो इस वायरस का पहला मामला था।

उत्तर प्रदेश (नोएडा)

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर जिले में अब तक कोरोना वायरस के 38 मामले सामने आये है।नोएडा में लगभग 24 मामले प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से एक निजी फर्म से जुड़े है जिसे अब सील कर दिया गया है।स्वास्थ्य विभाग के स्थानीय अधिकारियों ने बताया कि अब तक 626 नमूनों की जांच की गई और नोएडा तथा ग्रेटर नोएडा में 1,852 लोगों की निगरानी की गई जबकि जिले में विभिन्न पृथक केन्द्रों में अन्य 291 लोगों को पृथक रखा गया है। उन्होंने बताया कि गौतमबुद्ध नगर में अब तक छह मरीज स्वस्थ हो गये है और उन्हें मंगलवार तक अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है। इस समय 32 मरीजों का इलाज चल रहा है।

उत्तर प्रदेश (मेरठ)

पश्चिमी उत्तर प्रदेश राज्य का दूसरा हॉटस्पॉट है जहां मामलों की संख्या 100 के पार पहुंच गई और 19 लोग इस बीमारी से संक्रमित पाये गये है। अधिकारियों ने बताया कि सोमवार को 17 नमूनों की जांच की गई जिनमें से छह लोग संक्रमित पाये गये।

मुंबई:
 
मुंबई में सोमवार को कोरोना वायरस के कई लोगों के इस वायरस से संक्रमित पाये जाने के बाद राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने वर्ली के कोलीवाड़ा क्षेत्र और गोरेगांव उपनगर को हॉटस्पॉट घोषित किया है।मुंबई में कोरोना वायरस से आठ लोगों की मौत हुई और 167 मामले सामने आये है।इस समय महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 230 मामले है। इनमें से 10 लोगों की मौत हुई है और 39 लोगों को स्वस्थ होने के बाद छुट्टी दे दी गई है। राज्य में अभी 181 लोगों का इलाज चल रहा है।

पुणे:
मंगलवार को 46 मामले दर्ज किये गये। महाराष्ट्र में सबसे पहले दो मामले नौ मार्च को पुणे से दर्ज किये गये थे।पुणे नगर निगम के प्रमुख स्वास्थ्य अधिकारी डा. रामचंद्र हंकरे ने बताया कि कोरोना वायरस के एक मरीज की सोमवार को एक निजी अस्पताल में मौत हुई। दो लोगों को छोड़कर सभी मरीजों की हालत स्थिर है।अधिकारियों के अनुसार 2,216 यात्रियों की निगरानी की जा रही है। इनमें से 1,403 लोगों ने पृथक रहने की 14 दिन की अवधि को पूरा कर लिया है और 813 लोगों की निगरानी चल रही है।

गुजरात: 

अहमदाबाद: गुजरात में अब तक कोरोना वायरस के 73 मामले दर्ज किये गये है जिनमें से सबसे अधिक 23 मामले अहमदाबाद जिले में सामने आये है। ज्यादातर मामले अहमदाबाद शहर में दर्ज किये गये है।गुजरात में हुई छह मौतों में से अहमदाबाद शहर में तीन लोगों की मौत हुई है। अब तक पांच लोग स्वस्थ हुए है और चार लोग अहमदाबाद शहर से है।

केरल 

कासरगोड:

देश में सबसे अधिक प्रभावित जिलों में से कासरगोड भी एक है। कासरगोड में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 99 है जबकि 7,725 लोग निगरानी में है। कुल 163 लोग पृथक वार्डों में है।

पथनमथिट्टा:

पथनमथिट्टा में कोरोना वायरस के पांच मामले है लेकिन 7,254 लोग निगरानी में है।इन दोनों जिलों से अब तक किसी की मौत की सूचना नहीं है।

कर्नाटक:

बेंगलुरु शहर और मैसुरु देश में कोरोना वायरस के शीर्ष 25 हॉटस्पॉट में शामिल हैं।कर्नाटक के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। कर्नाटक सरकार की स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सेवाओं के आयुक्त पंकज पांडे ने 31 मार्च तक केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण की नियमित कोरोना वायरस स्थिति रिपोर्ट के हवाले से बताया कि बेंगलुरु देश में उन सात शहरों में शामिल हैं जहां पुष्ट मामलों की सबसे अधिक संख्या है।

अबतक देशभर में कोरोना से 38 लोगों की मौत

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोविड-19 के मामलों की संख्या बुधवार को 1637 पहुंच गयी, वहीं इस महामारी से मौत का आंकड़ा 38 हो गया। मंत्रालय ने बताया कि 1466 कोरोना वायरस संक्रमितों का इलाज चल रहा है, वहीं 132 लोग या तो ठीक हो गये हैं या उन्हें अस्पतालों से छुट्टी दे दी गयी है। एक रोगी दूसरे देश जा चुका है।स्वास्थ्य मंत्रालय के बुधवार सुबह नौ बजे के आंकड़ों के अनुसार मंगलवार के आंकड़े जारी होने के बाद से मौत के तीन नये मामले सामने आए हैं। हालांकि यह अभी पता नहीं है कि ये देश के किन हिस्सों से आए हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना से अबतक 9 लोगों की मौत

मंगलवार रात तक देश में कोरोना वायरस से मौत के सर्वाधिक मामले महाराष्ट्र में थे। इस राज्य में नौ रोगियों की मौत हो चुकी है। गुजरात में छह, कर्नाटक में तीन, मध्य प्रदेश में तीन, पंजाब में तीन, दिल्ली में दो, पश्चिम बंगाल में दो और जम्मू कश्मीर में कोविड-19 से मौत के दो मामले आये हैं। केरल, तेलंगाना, तमिलनाडु, बिहार और हिमाचल प्रदेश में इस महामारी से एक-एक रोगी की मौत हो चुकी है। इस समय संक्रमण के मामलों का राज्यवार विवरण उपलब्ध नहीं है।

(भाषा इनपुट के साथ)

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर