Weather Today, 1 August 2022: दिल्ली से राजस्थान तक गिर हो सकती है बूंदाबांदी, यहां-यहां भारी बारिश की आशंका

Weather Forecast Today, 1 August 2022 (आज का मौसम): इस बीच, मौसम विभाग ने केरल में रविवार से लेकर चार अगस्त तक भारी बारिश होने का अनुमान जताते हुए कई जिलों के लिए 'ऑरेंज' अलर्ट जारी किया है।

weather news, india news, national news
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है।  |  तस्वीर साभार: BCCL

Weather Forecast Today, 1 August 2022 (आज का मौसम): देश में विभिन्न हिस्से फिलहाल बारिश की मार झेल रहे हैं, जबकि कई जगह बाढ़ जैसे हालात पनपे। इस बीच, मौसम से जुड़ा पूर्वानुमान लगाने वाली निजी कंपनी स्काईमेट वेदर के मुताबिक, आज (एक अगस्त, 2022) पूर्वोत्तर उत्तर प्रदेश, बिहार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, सिक्किम, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, केरल, तटीय कर्नाटक, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ जगह भारी बारिश की आशंका है। .

आगे बताया गया कि मुजफ्फराबाद, जम्मू कश्मीर, पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के शेष हिस्सों, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, ओडिशा, पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, मराठवाड़ा और तटीय आंध्र प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। वहीं, दिल्ली, राजस्थान के कुछ हिस्सों, गुजरात, कोंकण और गोवा, पश्चिमी मध्य प्रदेश और मध्य महाराष्ट्र में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश संभव है।

केरल में चार अगस्त तक भारी बारिश होने का अनुमान
मौसम विभाग ने केरल में रविवार से लेकर चार अगस्त तक भारी बारिश होने का अनुमान जताते हुए कई जिलों के लिए 'ऑरेंज' अलर्ट जारी किया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार के लिए राज्य के 14 में से 10 जिलों में 'येलो' अलर्ट जारी किया जबकि शेष चार के लिए कोई चेतावनी नहीं दी गई है। राज्य के तिरुवनंतपुरम, कोल्लम, पठानमथिट्टा, अलाप्पुझा, कोट्टायम, एर्नाकुलम और इडुक्की जिलों में एक अगस्त के लिए 'ऑरेंज अलर्ट' जारी किया गया है। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार दो अगस्त को आठ, तीन अगस्त को 12 और चार अगस्त को 12 जिलों के लिए 'ऑरेंज' अलर्ट जारी किया गया है। 'रेड अलर्ट' के तहत 24 घंटे में 20 सेंटीमीटर से अधिक भारी से बेहद भारी स्तर की बारिश होने का अनुमान जताया जाता है, जबकि ऑरेंज अलर्ट 6 से 20 सेंटीमीटर और येलो अलर्ट 6 से 11 सेंटीमीटर के बीच भारी बारिश होने का संकेत देता है।

झारखंड में नौ साल में सबसे कम बारिश 
झारखंड में इस बार मानसून ऋतु के पहले दो महीनों के दौरान पिछले नौ साल की तुलना में सबसे कम बारिश हुई है। इस वजह से राज्य सूखे जैसी स्थिति में पहुंच रहा है। स्थिति की गंभीरता पर विचार करते हुए झारखंड विधानसभा की कार्य मंत्रणा समिति ने इस मामले पर सोमवार को विशेष चर्चा आयोजित करने का फैसला किया है। झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष रबींद्रनाथ महतो ने पीटीआई-भाषा से कहा, “ समिति ने शुक्रवार को कम बारिश की पृष्ठभूमि में किसानों और खेती की स्थिति को समझने के लिए विशेष चर्चा करने का फैसला किया है। यह किसानों के दर्द को कम करने के लिए समाधान निकालने का भी प्रयास करेगी।” राज्य में एक जून से 31 जुलाई तक 258.7 मिमी बारिश दर्ज की गई है जबकि इस दौरान सामान्य 508.2 मिमी वर्षा होने का पूर्वानुमान जताया गया था। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के रांची केंद्र के मुताबिक, 49 फीसदी कम बारिश हुई है जो 2014 के बाद सबसे कम है। जुलाई में 161.3 मिमी बारिश हुई है और यह भी 2014 के बाद से सबसे कम है।

राजस्थान: 8 जिलों में भारी बारिश, 17 में सामान्य से अधिक बारिश
राजस्थान में इस मानसून सीजन में आठ जिलों में भारी बारिश जबकि 17 जिलों में सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई।
इस वर्ष राज्यभर में हुई अच्छी बारिश के चलते 716 बांधों में से 79 बांध क्षमता तक भर गए हैं जबकि 378 बांध आंशिक रूप से भरे वहीं 248 बांध खाली हैं। मौसम विभाग और जलसंधान विभाग के आंकडों के अनुसार अजमेर, बीकानेर, चूरू, श्रीगंगानगर, जैसलमेर, जोधपुर, कोटा और नागौर में एक जून से 30 जुलाई तक असामान्य बारिश दर्ज कीगई। वहीं इस समयावधि में अलवर, बांसवाडा, बांरा, बाडमेर, बूंदी, चित्तौड़गढ़, दौसा, धौलपुर, हनुमानगढ, जयपुर, जालौर, झालावाड, राजसमंद, सीकर, टोंक झुंझुनूं और उदयपुर जिलों में सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई है।

J&K: डोडा में लोगों से कहा गया- जलाशयों के पास न जाएं
जम्मू-कश्मीर के डोडा जिला प्रशासन ने भारी बारिश के बीच बढ़ते जलस्तर को देखते हुए रविवार को एक ताजा परामर्श जारी करके लोगों से चिनाब नदी, उसकी सहायक नदियों और अन्य जलाशयों के पास न जाने को कहा है। डोडा, किश्तवाड़ और रामबन जिलों में लगातार बारिश और अचानक आई बाढ़ ने कहर बरपाया है तथा वारवान के अफ्ती सहित विभिन्न इलाकों में कई पुल बह गए हैं। डोडा के जिलाधिकारी विकास शर्मा ने लगातार बारिश एवं भूस्खलन तथा नीरू एवं कलनई सहित चिनाब की सहायक नदियों में बढ़ते जलस्तर की खबरों के मद्देनजर यह परामर्श जारी किया। (भाषा इनपुट्स के साथ)

Times Now Navbharat पर पढ़ें India News in Hindi, साथ ही ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें ।

Times Now Navbharat
Times now
zoom Live
ET Now
ET Now Swadesh
Live TV
अगली खबर