Uttarakhand: पिथौरागढ़ में बादल फटने से 3 की मौत, कई लापता, बचाव-राहत कार्य जारी

Cloudburst in Uttarakhand's Pithoragarh: उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में लगातार बारिश और बादल फटने से 3 लोगों की मौत हो गई है, जबकि कई लोग लापता भी है। बचाव कार्य जारी है।

Cloudburst
उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में फटा बादल 

मुख्य बातें

  • उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी और बंगापानी के गेला गांव में बादल फटने की घटना
  • बादल फटने से पिथौरागढ़ के दो गांवों में कई घरों को नुकसान पहुंचा
  • मौके पर SDRF की 2 टीमों द्वारा राहत और बचाव कार्य जारी है

नई दिल्ली: देश के कई हिस्सों में बाढ़ और बारिश का कहर है। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के मुनस्यारी क्षेत्र में बादल फटने और भारी बारिश ने कहर बरपाया है। यहां बारिश और बादल फटवे से 3 लोगों की मौत हो गई और छह लापता हैं। यह घटना रविवार रात को मदखोट क्षेत्र के टेंगा गांव में हुई। अब तक दो शवों को निकाल लिया गया है। एक स्थानीय निवासी ने कहा, 'स्थानीय लोगों ने खुद को बचान कार्य में लगाया है और मलबे के नीचे से लापता लोगों की तलाश कर रहे हैं। राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (SDRF) अन्य टीमों के साथ मिलकर बचाव अभियान चला रहा है।'

लगातार हो रही बारिश से रविवार को पिथौरागढ़-मुनस्यारी मार्ग पर उत्तराखंड के मदखोट में पुल का एक हिस्सा टूट गया। शनिवार रात भर भारी बारिश के बाद पांच घर क्षतिग्रस्त हो गए और गोरी नदी भी अतिप्रवाह में बहने लगी। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने रविवार को अगले तीन दिनों के दौरान उत्तराखंड और अन्य उत्तरी राज्यों में भारी से बहुत भारी बारिश की भविष्यवाणी की है। 

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से कहा गया है कि उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पिथौरागढ़ के जिलाधिकारी को निर्देश दिया है कि राहत और बचाव कार्य में कोई ढिलाई नहीं होनी चाहिए। उन्होंने प्रभावित लोगों को राहत राशि प्रदान करने के लिए भी कहा है। एसडीआरएफ की 2 टीमें राहत और बचाव कार्य में लगी हुई हैं।

देश और दुनिया में  कोरोना वायरस पर क्या चल रहा है? पढ़ें कोरोना के लेटेस्ट समाचार. और सभी बड़ी ख़बरों के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें

अगली खबर