ताकि उत्तराखंड में न घुस सके कोई कांवड़ियां, बॉर्डर पर पुलिस के साथ तैनात होगी QRT

उत्तराखंड सरकार ने फैसला किया है कि कांवड़ियों को रोकने के लिए राज्य की सीमाओं पर पुलिस बल के साथ त्वरित प्रतिक्रिया दल (QRT) भी तैनात किए जाएंगे। कोरोना के चलते कांवड़ा यात्रा पर रोक लगाई गई है।

kanwar yatra
फाइल फोटो 

नई दिल्ली: कोविड-19 महामारी के चलते उत्तराखंड सरकार ने कांवड यात्रा स्थगित कर दी है। इसी के मद्देनजर 24 जुलाई से उत्तराखंड की सीमाएं कांवडियों के लिए सील कर दी जाएंगी। इसके अलावा कांवड़ियों को राज्य में प्रवेश करने से रोकने के लिए राज्य की सीमाओं पर पुलिस बल के साथ त्वरित प्रतिक्रिया दल (QRT) भी तैनात किए जाएंगे। कांवडियों को राज्य की सीमा में प्रवेश करने से रोकने के लिए अन्य राज्यों से लगने वाली प्रदेश की सीमाएं 24 जुलाई से सील कर दी जाएंगी। 

श्रावण माह में शिवभक्त कांवडिए गंगा जल लेने के लिए हरिद्वार आना शुरू कर देते हैं। इस साल 25 जुलाई से श्रावण का महीना शुरू हो रहा है। इससे पहले पुलिस महानिदेशक ने सभी संबंधित पुलिस अधिकारियों को इस आदेश को पूरी तरह से लागू करने के निर्देश दिए और कहा कि अगर कोई कांवडिया हरिद्वार में प्रवेश करता है तो उसे 14 दिन के लिए पृथकवास में रखा जाए और उसके लिए स्थान चिह्नित कर लिए जाएं। यदि कोई कांवडिया सडक पर दिखाई दे तो उसे बस या अन्य माध्यम से वापस भिजवाया जाए तथा हरिद्वार, देहरादून, टिहरी एंव पौड़ी जिलों में कांवड प्रवर्तन दल का गठन किया जाए जो प्रतिबंधित कांवड मेले के दौरान गश्त करते हुए कानून-व्यवस्था को बनाए रखें। 

पुलिस महानिदेशक ने कहा कि रेलगाड़ियों से आने वाले कांवडियां को रोकने हेतु हरिद्वार से पहले पड़ने वाले रेलवे स्टेशनों पर उन्हें रोककर उतारा जाएगा और उन्हें वहीं से शटल बसों के माध्यम से वापस किया जाएगा। 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर