उत्तराखंड के CM तीरथ सिंह रावत बोले- महिलाएं फटी जीन्स पहनकर घुटने दिखा रही हैं, ये कैसे संस्कार हैं? VIDEO

देश
रामानुज सिंह
Updated Mar 17, 2021 | 16:29 IST

उत्तराखंड के नवनियुक्त मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अजीब बयान दिया है उन्होंने कहा कि महिलाएं फटी जीन्स पहनकर समाज और अपने बच्चों को क्या मैसेज दे रही है।

Uttarakhand CM  Tirath Singh Rawat said - Women are showing their knees wearing ripped jeans, how are these rites? VIDEO 
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत 

देहरादून: उत्तराखंड के नवनियुक्त मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत अपने बयान से चर्चा में आ गए हैं हैं। उन्होंने कहा कि आजकल महिलाएं फटी जीन्स पहनकर चल रही हैं, क्या ये सही है, ये कैसे संस्कार हैं?  मंगलवार को एक बाल अधिकार संरक्षण आयोग के वर्कशॉप में बोलते हुए मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता रावत ने कहा कि इसे माता-पिता अपने बच्चों के लिए "खराब उदाहरण" पेश करते हैं। उन्होंने दावा किया कि इस तरह के व्यवहार से ड्रग के सेवन और शराब पीने के लिए भी प्रेरित करता है।

उन्होंने कहा कि कैंची से संस्कार, नंगे घुटने दिखाना, फटी डेनिम पहनना और अमीर बच्चों की तरह दिखना, अब ये संस्कार दिए जा रहे हैं। यह कहां से आ रहा है, अगर घर पर नहीं है? शिक्षकों या स्कूलों का क्या दोष है? मैं अपने बेटे को कहां ले जा रहा हूं, अपने घुटनों को दिखाते हुए और फटी जीन्स में? लड़कियां किसी से कम नहीं, अपने घुटने दिखा रही हैं। क्या यह अच्छा है? यह सब, पश्चिमीकरण की एक पागल रेस है।

द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार रावत उत्तराखंड राज्य आयोग द्वारा बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए देहरादून में आयोजित कार्यशाला में कहा कि पश्चिमी दुनिया हमारा अनुसरण कर रही है, योग कर रही है। अपने शरीर को ठीक से ढक रही है। और हम नग्नता की ओर भाग रहे हैं।

एक उदाहरण की ओर इशारा करते हुए, उत्तराखंड के सीएम ने कहा कि वह एक बार एक महिला से मिले थे, जो एक एनजीओ चलाती थी, जिसने फटी डेनिम पहनी थी। उसे आश्चर्य हुआ कि एक एनजीओ के प्रमुख जो महिला है उसे समाज को क्या संदेश देना चाहिए। सीएम ने कहा कि मैं एक दिन हवाई जहाज से जयपुर से आ रहा था। मेरे बगल में एक बहनजी बैठी थी। मैंने उनकी तरफ देखा नीचे गम बूट थे। जब और ऊपर देखा तो जींस घुटने से फटी हुई थी। 2 बच्चे उनके साथ में थे। महिला NGO चलाती है। समाज के बीच में जाती हो। क्या संस्कार दोगे? सीएम ने कहा कि एक बच्चा जिसे घर पर सही संस्कृति सिखाई जाती है, वह चाहे कितना भी आधुनिक हो जाए, जीवन में कभी असफल नहीं होगा।

बच्चों द्वारा ड्रग्स और शराब के सेवन के लिए माता-पिता के व्यवहार का नेतृत्व कैसे किया जाता है, यह इंगित करते हुए रावत ने कहा कि इस तरह की चीजों का उपयोग उस वातावरण के कारण होता है जिसमें बच्चे बड़े होते हैं। उन्होंने पूछा कि घरों में बच्चों पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा जहां माता-पिता अपने बच्चों को मेहमानों के लिए अलमारियों से शराब की बोतलें निकालने के लिए कहते हैं?
 

India News in Hindi (इंडिया न्यूज़), Times now के हिंदी न्यूज़ वेबसाइट -Times Network Hindi पर। साथ ही और भी Hindi News (हिंदी समाचार) के अपडेट के लिए हमें गूगल न्यूज़ पर फॉलो करें.

Times now
Mirror Now
ET Now
zoom Live
Live TV
अगली खबर